GLIBS
05-05-2019
साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को चुनाव आयोग का एक और नोटिस

नई दिल्‍ली। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही है। एक बार फिर जिला निर्वाचन आयोग ने प्रज्ञा ठाकुर को नोटिस जारी किया है।इस बार यह नोटिस उन्हें चुनाव प्रचार पर 72 घंटे के रोक के बावजूद प्रचार करने को लेकर दिया गया है। अधिकारियों ने प्रज्ञा ठाकुर से इस मामले में जवाब दाखिल करने को कहा है। वहीं प्रज्ञा ठाकुर का कहना है कि वह नोटिस का जवाब देने के लिए तैयार हैं, क्योंकि उन्होंने आयोग के बैन का कोई उल्लंघन नहीं किया। प्रज्ञा ठाकुर ने बैन के बाद तीन दिन तक साध्वी प्रज्ञा ने मंदिर-मंदिर जाकर पूजा अर्चना की।

उन्होंने लोगों के बीच भजन मंडली के साथ बैठकर खूब झांझ मंजीरा बजाए। हालांकि निर्वाचन आयोग के बैन के मद्देनजर प्रज्ञा ने यहां किसी तरह की बातचीत नहीं की। लेकिन मंदिर में प्रज्ञा को देखने के लिए भीड़ का तांता लगा रहा। साध्वी के इस कदम की कांग्रेस ने निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की थी। कांग्रेस ने बैन के बावजूद मंदिर और गौशाला में पार्टी कार्यकर्तओं के साथ जाने की शिकायत जिला निर्वाचन अधिकारी से की थी, जिसके बाद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को नोटिस भेजकर जवाब मांगा गया है। साध्वी का जवाब मिलने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेजेंगे। बता दें की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा की प्रत्याशी है।

16-04-2019
राजनाथ ने पूजा अर्चना, रोड शो के बाद किया नामांकन

लखनऊ। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को सत्रहवीं लोकसभा चुनाव में लखनऊ संसदीय सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। राजनाथ सिंह ने लखनऊ लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल किया। नामांकन से पहले राजनाथ सिंह ने हनुमान सेतु मंदिर में बजरंग बली का दर्शन करने के साथ शिवजी के मंदिर में जलाभिषेक किया। लखनऊ व मोहनलालगंज सीट पर पांचवें चरण में छह मई को मतदान होगा। लखनऊ सीट से मौजूदा सांसद सिंह का रोड शो भाजपा कार्यालय, हजरतगंज चौराहा, जिलाधिकारी आवास होते हुए कलेक्ट्रेट तक पहुंचा। रोड शो में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डा. दिनेश शर्मा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री व वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र, राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी समेत कई वरिष्ठ नेता एवं मंत्रीगण और विधायक मौजूद थे। सिंह ने रोड शो से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते कहा कि मैं देश के दस राज्यों में दौरा कर चुका हूं जिस प्रकार का उत्साह उत्तर प्रदेश और लखनऊ में है उसी प्रकार का उत्साह पूरे देश मे है। देश में मोदी लहर है। मोदी ही देश के प्रधानमंत्री होंगे।
भाजपा मुख्यालय में आयोजित सभा में जनता दल यूनाइटेड के मुख्य महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि गाजियाबाद के लोग चाहते हैं कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह अगला चुनाव गाजियाबाद से लड़ें। उन्होंने कहा राजनाथ सिंह में चौधरी चरण सिंह की तस्वीर झलकती है। सिंह किसानों के नेता हैं। चौधरी चरण सिंह लखनऊ के मौजूदा सांसद श्री सिंह को 25 वर्ष की उम्र में सांसद का टिकट देना चाहते थे लेकिन उस समय राजनारायण तैयार नहीं हुए। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की छवि दिखती है। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल विहारी वाजपेई के करीबी रहे शिवकुमार शर्मा लखनऊ सीट से आठवीं बार नामांकन में शामिल हुये।
सिंह के नामांकन जुलूस को भव्य बनाने के लिए सोमवार देर रात तक तैयारियों का दौर चलता रहा। सोमवार शाम को ही राजनाथ सिंह लखनऊ आ गए थे। श्री सिंह के साथ ही मोहनलालगंज संसदीय सीट से भाजपा उम्मीदवार कौशल किशोर भी थे। लखनऊ के मौजूदा सांसद राजनाथ सिंह के प्रस्तावक उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, वरिष्ठ अधिवक्ता इलाहाबाद उच्च न्यायालय एल पी मिश्रा, उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश पूर्व लोकायुक्त एस सी वर्मा तथा पूर्व राज्यसभा सदस्य राम नारायण साहू हैं।

09-04-2019
हैलीपेड पर फोड़ा नरियल, की पूजा अर्चना, कर्मचारियों को तिलक लगाकर किया रवाना

रायपुर। बस्तर के सुदूर क्षेत्रों में जहां में घने जगलों के बाद आबादी वाले क्षेत्र आते हैं और वहां के ग्रामीणों में मतदान का उत्साह होता हैं। वनाचंल के ऐसे क्षेत्र सुरक्षा के दृष्टि से अति संवेदनशील है। ऐसे क्षेत्रों में मतदान कराने के लिए कर्मचारियों का दल मंगलवार को रवाना किया गया। मतदान दलों को हेलीकाप्टर से रवाना किया गया। रवानगी से पहले हेलीपैड की नरियल फोड़ कर पूजा अर्चना की गई। मतदान दलों को तिलक लगाया गया। विदित हो कि  बस्तर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत कुल 1 हजार 8 सौ 78 मतदान केंद्र हैं। इनमें से करीब आधे केंद्र अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में स्थित हैं। यहां 11 अप्रैल को मतदान होना है। तीन दिन पहले अति संवेदनशील नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदान दलों की भेजा गया है। बता दें कि हाल ही में नक्सलियों ने चुनाव का बहिष्कार कर पर्चे फेंके है। इस क्षेत्र में सुरक्षाबल पूर्ण रूप से मुस्तैद है ताकि चुनाव शांतिपूर्ण रूप से हो सके। 

 

 

29-03-2019
Digvijay Singh: दिग्विजय सिंह ने की सिहोर के सिद्धी विनायक गणेश मंदिर में पूजा अर्चना

भोपाल। लोकसभा प्रत्याशी दिग्विजयसिंह ने शुक्रवार को सिहोर के सिद्धी विनायक गणेश मंदिर में पूजा अर्चना की। इस अवसर उनके साथ पार्टी के स्थानीय पदाधिकारियों सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

19-02-2019
बालोद पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गौरैया धाम में की पूजा अर्चना

बालोद। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज जिले के दौरे  पर हैं। इस मौके पर सबसे पहले उन्होंने गौरैय्या धाम में पूजा -अर्चना की। वहां उन्होंने 5 लाख की लागत से बने ज्योति कलश का उद्घाटन किया।

कबीर चौरा में देखी प्रदर्शनी :

वहां से निकल कर मुख्यमंत्री बघेल सीधे कबीर चौरा पहुंचे। यहां उन्होंने सद्गुरु साहेब की प्रदर्शनी का दर्शन किया। इसके बाद वे मंच की ओर बढ़ गए। खबर लिखे जाने तक मुख्यमंत्री मंच पर आसीन हो चुके हैं। बस थोड़ी ही देर में वे यहां मौजूद विशाल जनसमूह को संबोधित करेंगे।

29-01-2019
Chief Minister: मुख्यमंत्री बघेल ने की शिवरीनारायण मंदिर में पूजा अर्चना 

 रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हेलीकॉप्टर से मंगलवार को एक दिवसीय प्रवास पर जांजगीर-चांपा जिले पहुंचे। वहां शिवरीनारायण मंदिर पहुंचकर पूजा अर्चना की। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद  छाया वर्मा, चन्द्रपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक रामकुमार यादव, कसडोल विधानसभा क्षेत्र की विधायक शंकुतला साहू, महंत रामसुंदर दास उनके साथ थे।  

09-09-2018
Pola : नंदी की पूजा कर धूमधाम से मनाया पोला पर्व

बालोद। ज़िले में पोला पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है और पोला के साथ ही तीजा लाने का काम भी शुरू हो चुका है। छत्तीसगढ़ पारंपरिक त्यौहारों का प्रदेश है। और इसी परंपरा को जीवित रखने लोग सभी त्योहारों को पारंपरिक ढंग से मनाते हैं। ज़िले के शहर सहित ग्रामीण अंचलों में जमकर उत्साह देखने को मिल रहा है सुबह से लोग पूजा अर्चना कर यह पर माना रहे हैं वाहन तिलई की महक भी बिखरी हुई है ग्रामीण चंद्रशेखर पटेल ने इस संबंध में बताया कि पोला का पर्व हम सब के लिए महत्वपूर्ण होता है हम सब कृषि वर्ग से जुड़े लोग हैं जहां बैल का काफी महत्व होता है इसके बिना सब अधूरा होता है कृषि कार्य की कल्पना नही की जा सकती। 

पिठोरी अमावस्या पर पोला (पोळा) पर्व धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन अपने पुत्रों की दीर्घायु के लिए चौसष्ठ योगिनी और पशुधन का पूजन किया जाता है। इस अवसर पर जहां घरों में बैलों की पूजा होती है, वहीं लोग पकवानों का लुत्फ भी उठाते हैं। इसके साथ ही इस दिन 'बैल सजाओ प्रतियोगिता' का आयोजन किया जाता है।

पोळा पर्व पर शहर से लेकर गांव तक धूम रहती है। जगह-जगह बैलों की पूजा-अर्चना होती है। गांव के किसान भाई सुबह से ही बैलों को नहला-धुलाकर सजाते हैं, फिर हर घर में उनकी विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है। इसके बाद घरों में बने पकवान भी बैलों को खिलाए जाते हैं।

बैल किसानों के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। किसान बैलों को देवतुल्य मानकर उसकी पूजा-अर्चना करते हैं। पहले कई गांवों में इस अवसर पर बैल दौड़ का भी आयोजन किया जाता था, लेकिन समय के साथ यह परपंरा समाप्त होने लगी है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804