GLIBS
27-06-2019
अब दिल्ली मेट्रो में फ्री में सफर नहीं कर सकेंगीं महिलाएं, प्रस्ताव को केंद्र ने किया नामंजूर

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से दिल्ली के केजरीवाल सरकार को गुरुवार को बड़ा झटका लगा है। केंद्र सरकार ने दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सफर कराने के लिए भेजे गए प्रस्ताव को रद्द कर दिया है। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार की ओर से कहा गया है कि इस प्रस्ताव में कुछ खामियां हैं। इसलिए इसे फिलहाल रद्द किया जा रहा है। 

बता दें कि इससे पहले 12 जून को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली मेट्रो ने आप सरकार को महिलाओं की मुफ्त यात्रा पर रिपोर्ट भेजी है और किराया निर्धारण समिति से मंजूरी लेने सहित जरूरी तैयारियों के लिए कम से कम आठ महीनों का समय मांगा है। उन्होंने कहा था कि दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (डीएमआरसी) से उनकी सरकार को मिली रिपोर्ट में किराया छूट को वित्तपोषित करने के लिए 1566.64 करोड़ रुपये की सालाना जरूरत की बात कही गई है।

सीएम केजरीवाल ने कहा था कि किराया निर्धारण समिति की मंजूरी केवल 'औपचारिकता'है और उन्होंने इस चिंता को खारिज किया कि यह सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के लिए अड़चन पैदा कर सकता है। अधिकारियों ने कहा कि दिल्ली मेट्रो के किराया संबंधी निर्णयों के लिए केन्द्र द्वारा बनाई गई किराया निर्धारण समिति के गठन में थोड़ा समय लग सकता है। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के पूर्व प्रमुख और 'मेट्रो मैन' के नाम से मशहूर ई. श्रीधरन ने भी इससे पहले आरोप लगाया था कि महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा संबंधी दिल्ली सरकार का प्रस्ताव एक 'चुनावी पैंतरा' है। उन्होंने केजरीवाल सरकार से चुनावी फायदे के लिए इस कुशल और सफल सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को बर्बाद नहीं करने का अनुरोध किया। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को लिखे एक पत्र में श्रीधरन ने कहा था कि मुफ्त यात्रा से अधिक भीड़भाड़ होगी और हादसे होने की आशंका पैदा होगी।

26-06-2019
अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया के खिलाफ मानहानि के मामले में आज हो सकती है सुनवाई

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ मानहानि के मुकदमे में बुधवार को सुनवाई हो सकती है। यह सुनवाई दिल्ली हाईकोर्ट में होगी।

 

03-06-2019
केजरीवाल का महिलाओं को बड़ा तोहफा, मेट्रो-बस में कर सकेंगी मुफ्त सफर

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार जल्द ही दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त यात्रा करने की सुविधा दी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इसका सारा खर्च दिल्ली सरकार उठाएगी। उन्होंने कहा है जो महिलाएं टिकट लेना चाहती हैं वह टिकट लें। उन्होंने बताया कि इसके लिए सरकार की ओर से दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से इस योजना को लागू करने के तकनीकी पहलुओं पर कार्य करने को कहा गया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने अधिकारियों को एक सप्ताह का समय देकर उनसे इसके बारे में प्रस्ताव मांगा है कि कैसे और कब यह लागू हो सकता है।

हम यह कोशिश कर रहे हैं कि आने वाले दो से तीन महीनों में इसे लागू किया जा सके।उन्होंने बताया कि 33 फीसदी महिलाएं सफर करती हैं और इस योजना में 700 से 800 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि इसके लिए केन्द्र सरकार से मंजूरी की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि वह किराया नहीं बढ़ा रहे हैं बल्कि सब्सिडी दे रहे हैं। 

03-06-2019
दिल्ली मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त सफर का केजरीवाल दे सकते हैं तोहफा

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में करारी हार के बाद दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार अभी से विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट गई है। अरविंद केजरीवाल सरकार महिलाओं का विश्वास जीतने और उन्हें अपने पाले में लाने के लिए बहुत बड़ी योजना लागू करने जा रही है। केजरीवाल सरकार दिल्ली मेट्रो और ऊळउ बसों में महिलाओं को मुफ्त यात्रा की स्कीम लागू करने की तैयारी में है। अगर इस योजना को लागू किया जाता है तो सरकारी खजाने पर 1200 करोड़ का बोझ बढ़ेगा। नीचे दिए गए  वीडियो में उन्होंने कहा कि 3 जून को इसको लेकर ऐलान किया जाएगा।

प्रस्तावित स्कीम की बात करें तो इसे डीटीसी की बसों में लागू करने में कोई परेशानी नहीं है। हालांकि, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने इस स्कीम को लागू करने में असमर्थता जताई है। ऊटफउ का कहना है कि अगर महिलाओं को मुफ्त में यात्रा कराने की सुविधा देने में सुरक्षा संबंधी खतरा है। इसके तकनीकी पहलू हैं।

स्कीम लागू करने से पहले इसपर काम करने की जरूरत है। ऊटफउ का कहना है कि अगर महिला यात्रियों को सिक्योरिटी गेट को वैसे ही पार करने दिया जाए तो इससे सुरक्षा खतरे में पड़ जाएगी। बता दें, नई दिल्ली की जनता के साथ अरविंद केजरीवाल लगातार संवाद कर रहे हैं और उनकी समस्याओं को जान रहे हैं। साथ ही अपनी सरकार की उपलब्धियों को भी गिना रहे हैं।

इस स्कीम को लागू करने को लेकर सीएम केजरीवाल का कहना है कि दिल्ली सरकार का खजाना बचत (सरप्लस) में है। बचा हुआ पैसा भी दिल्ली के लोगों का है जो उन्होंने टैक्स के रूप में चुकाया है। हमारी सरकार में एक भी भ्रष्टाचार नहीं हुआ है और हमने टैक्स भी नहीं बढ़ाया है। ऐसे में दिल्ली का लोगों पैसा हम उन्हीं पर खर्च करने जा रहे हैं। बता दें, दिल्ली में डीटीसी और मेट्रो से सफर करने वालों में 33 फीसदी महिलाएं हैं।

18-05-2019
राहुल और सीपीआई नेताओं से मिले चंद्रबाबू, माया-अखिलेश से भी मिलेंगे

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए आखिरी चरण का मतदान 19 मई को होना है। 23 मई को चुनाव के नतीजे आएंगे, लेकिन इससे पहले ही भाजपा विरोधी मोर्चा बनाने की कवायद शुरू हो गई है। इसके लिए आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राकांपा प्रमुख शरद पवार, भाकपा नेताओं सुधाकर रेड्डी और डी राजा से मुलाकात की। नायडू शरद यादव से भी मिलेंगे। चंद्रबाबू शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मिले थे।

चंद्रबाबू लखनऊ में बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात करेंगे। राजनीतिक सूत्रों की मानें तो चंद्रबाबू ने राहुल गांधी से कहा है कि हमें चुनाव नतीजों के लिए रणनीतिक तौर पर तैयार रहना चाहिए। अगर भाजपा बहुमत से चूकती हैं, तो हमें सरकार बनाने के लिए मजबूत दावा पेश करने की तैयारी पहले ही कर लेनी चाहिए।

09-05-2019
मोदी ‘फेंकूपंथी’ समुदाय के सरगना : आप

नई दिल्ली। सत्रहवीं लोकसभा के चुनाव में प्रचार के दौरान एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप के दौरान नेताओं की भाषा का स्तर पहले के चुनावों की तुलना में कहीं नीचे गिरा है। राजधानी दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर 12 मई को होने वाले चुनाव से पहले जहां गर्मी अपना प्रकोप दिखाने में पीछे नहीं है वहीं नेताओं की बोली भी अपना रंग दिखा रही है और आम आदमी पार्टी(आप) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘फेंकूपंथी’ (डींगमार) समुदाय का सरगना करार दिया है। आप का यह बयान मोदी की बुधवार को रामलीला मैदान में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के सातों उम्मीदवारों के पक्ष में आयोजित चुनाव रैली में आप पर की गई उस टिप्पणी पर आया है जिसमें उसके ‘नाकामपंथी’ माडल को दिल्ली के लोगों की दुर्दशा का जिम्मेदार बताया गया है।

आप के तेज तर्रार नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली दिल्ली सरकार ‘नाकामपंथी’ नहीं बल्कि ‘कर्मपंथी’ सरकार है। पार्टी के यहां स्थित कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सिंह ने कहा हम नाकामपंथी नहीं, कर्मपंथी सरकार हैं। हमारे प्रधानमंत्री फेंकूपंथी संप्रदाय के प्रमुख हैं। मोदी ने बुधवार को जो कुछ कहा उसमें झूठे आरोपों के अलावा सच्चाई किंचित मात्र भी नहीं है। उन्होंने सत्रहवीं लोकसभा के लिए हो रहे चुनाव को ‘फेंकूपंथी संप्रदाय और कर्मपंथी’ के बीच की लड़ाई बताया। उन्होंने कहा कि 12 मई को दिल्ली की सात सीटों पर मतदान ‘फेंकूपंथी’ के खिलाफ ‘कर्मपंथी’ के पक्ष में होगा। भाजपा पर दिल्ली के लोगों से धोखा करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा वर्षों से आप दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की बातें करते आ रहे हैं।

पिछले आम चुनाव में मोदी ने स्वयं दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का वादा किया था किंतु कल की रैली में वह इस पर एक शब्द भी नहीं बोले। कांग्रेस पर भी दिल्ली के पूर्ण राज्य के दर्जे के मसले पर हमला करते हुए सिंह ने प्रधानमंत्री के नाकामपंथी आरोप पर केजरीवाल सरकार के पिछले चार वर्षों के दौरान किए गए विभिन्न कार्यों को गिनाया। उन्होंने कहा मोदी अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए आप सरकार पर झूठे आरोप मढ़ रहे हैं । केंद्र सरकार की तरफ से तमाम बाधाएं खड़ी करने के बावजूद केजरीवाल सरकार ने जो काम किए हैं उसकी आपको जानकारी नहीं है।

15-04-2019
Rahul Gandhi:

नई दिल्ली। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली में आम आदमी पार्टी को चार सीटें देकर अरविंद केजरीवाल से गठबंधन करने के इच्छुक हैं।   गठबंधन को लेकर दोनों पार्टियों के बीच हां-ना, हां-ना के बीच राहुल गांधी ने 'आप' के सामने यह खुला प्रस्ताव रखा है। हालांकि राहुल गांधी ने केजरीवाल पर यू-टर्न लेने का भी आरोप लगाया है। इसके जवाब में केजरीवाल ने भी राहुल गांधी पर भाजपा को मदद करने का आरोप लगाया है। बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने कल ही यह बयान दिया था कि मोदी और शाह को रोकने के लिए हर कुर्बानी के लिए तैयार हैं। इसी बयान के आधार पर राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि गठबंधन के लिए दरवाजे अभी भी खुले हुए हैं। गांधी ने ट्वीट किया कि दिल्ली में कांग्रेस और  'आप'के बीच गठबंधन का मतलब है बीजेपी की जबरदस्त हार। कांग्रेस इसे सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली में 'आप' को 4 सीट देना चाह रही है। लेकिन केजरीवाल ने एक और यू-टर्न लिया। हमारे दरवाजे अभी भी खुले हैं, लेकिन समय बीता जा रहा है। गौरतलब हो कि 'आप' गठबंधन के लिए कांग्रेस से पंजाब और हरियाणा में भी कुछ सीटें मांग रही है, लेकिन बात नहीं बन पाई।  राहुल गांधी ने इसीलिए कहा कि दोनों दलों में सीट शेयरिंग पर संभवत: सहमति हो गई थी लेकिन अरविंद केजरीवाल ने बाद में 'यू-टर्न' ले लिया। इस आरोप का जवाब देते हुए अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर कहा है कि गठबंधन की राहुल की इच्छा महज दिखावा है। ज्ञात हो कि दिल्ली में छठे चरण में 12 मई को मतदान होगा। इसके लिए 16 अप्रैल से नामांकन पत्र भरने का दौर शुरू हो जाएगा। 23 अप्रैल नामांकन की आखिरी तारीख है। 'आप' और कांग्रेस के बीच गठबंधन की संभावनाओं को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी ने भी दिल्ली में अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा नहीं की है। 

24-10-2018
AAP: आखिर किसको नाप रही है आप...

रायपुर। सामाज की जातीय व्यवस्था को करके दर किनार। दिल्ली के विकास को बनाकर आधार, छत्तीसगढ़ के चुनावों में दिखाना  चाह रहे हैं चमत्कार। यहां दिल्ली का ढोल नहीं चलती है मांदर की थाप, वहां की योजनाओं का करके जाप आखिर किसको नाप रही है आप? राज्य में आम आदमी पार्टी के लोग लगातार अपनी छवि बनाने में लगे हैं। इन में शिक्षाविद से लेकर डॉक्टर, इंजीनियर और अधिवक्ता समेत तमाम शिक्षित लोगों की जमात शामिल है। पार्टी के प्रवक्ता उचित शर्मा कहते हैं कि आम आदमी पार्टी ने इस बार 77 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा तो कर दी है। इनमें 20 प्रतिशत सीटों पर महिला उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगी। इनमें 6 डॉक्टर, 6 इंजीनियर और 6 महिलाएं अधिवक्ता होंगी।

समाज के जातीय आधार में नहीं है विश्वास

प्रवक्ता उचित शर्मा  समाज के जातीय मतदाताओं की व्यवस्था को ही खारिज कर दिया। उनका कहना है कि हम जातियों के आधार पर वोट नहीं लड़ते। उनका कहना है कि इससे कुछ भी होने वाला नहीं है।  आप अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष केजरीवाल के दिल्ली में किए गए विकास को मॉडल बनाकर छत्तीसगढ़ में चुनाव लड़ेगी। बात कुछ हजम नहीं हो रही। 

सोनी सोढ़ी लगी हैं आदिवासियों को साधने में

बस्तरांचल में सोनी सोढ़ी लगातार आदिवासियों को साधने में लगी हैं। स्थानीय लोगों की अगर मानें तो उनके तौर तरीके भी कम चौंकाने वाले नहीं हैं। उनके बल पर ही बस्तर में लगातार बिस्तर बिछाने की कोशिश में आम आदमी पार्टी लगी हुई है। उचित शर्मा की मानें तो तमाम कद्दावर नेताओं का लगातार छत्तीसगढ़ दौरा होने वाला है। ये लोग यहां आकर आदिवासियों को दिल्ली के विकास का मॉडल समझाएंगे। अरविंद केजरीवाल के कार्यों की समीक्षा करके उसको भाजपा के विकास से ऊपर बताने की कोशिश करेंगे। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804