GLIBS
23-06-2019
शोपियां के खूंखार आतंकी सहित चार उग्रवादियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

नई दिल्ली। जम्मू और कश्मीर के शोपियां जिले में रविवार को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए। इनमें एक शौकत अहमद मीर भी है जिसका आपराधिक रिकॉर्ड काफी गंभीर है।  शौकत अहमद मीर घाटी का छंटा हुआ आतंकी था जिसकी पुलिस को लंबे समय से तलाश थी।  मुठभेड़ वाली जगह से भारी मात्रा में गोला बारूद और हथियार बरामद किए गए हैं। बरामद हुई चीजों को कब्जे में लेकर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस के एक उच्च पदस्थ सूत्र के मुताबिक शोपियां जिले के पंजार इलाके में खास खुफिया सूचना के आधार पर चारों ओर से घेरकर तलाशी अभियान चलाया गया। इसमें जम्मू कश्मीर पुलिस और सुरक्षा बल शामिल रहे। तलाशी के दौरान आतंकियों ने पुलिस और सुरक्षा बलों की टीम पर फायरिंग शुरू कर दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। पुलिस और सेना की इस जवाबी कार्रवाई में चार आतंकी मारे गए जिनके शव मुठभेड़ स्थल से बरामद किए गए। जिन चार आतंकियों को मारा गया उनमें करालचक शोपियां का रहने वाला रफी हसन मीर, बटमुरान शोपियां का सुहेल अहमद भट, राजपुरा पुलवामा का शौकत अहमद मीर और बमनू पुलनामा का आजाद अहमद खांडे शामिल हैं। ये चारों आतंकी स्थानीय हैं जिनकी पुलिस को काफी समय से तलाश थी। उनमें शौकत का आपराधिक रिकॉर्ड सबसे खतरनाक है। वह 2015 से आतंकी कारनामों में शामिल रहा है। शुरू में वह हिज्बुल मुजाहिदीन का आतंकी था लेकिन बाद में अंसार गजवातुल हिंद से जुड़ गया। पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक सैन्य प्रतिष्ठानों के साथ साथ आम लोगों पर हमले के लिए भी शौकत मीर की तलाश थी। कई आतंकी मामलों में उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज है। शिखार्ड में गार्ड पोस्ट पर फायरिंग, सैन्य बलों पर ग्रेनेड हमला, बशीर अहमद डार और अल्ताफ अहमद पर गोलीबारी और पुलिसकर्मी समीर अहमद की हत्या जैसे संगीन अपराध उसके खाते में दर्ज हैं। शौकत मीर ने ही आजाद अहमद, रफी हसन और सुहेल अहमद को आतंकी बनने के लिए उकसाया था। 

12-06-2019
पाक आतंकियों के घातक हमले में सीआरपीएफ  के पांच जवान शहीद

श्रीनगर। दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में बुधवार को आतंकियों के हमले में सीआरपीएफ  के पांच जवान शहीद हो गए। आतंकियों ने सीआरपीएफ  की पिकेट पर पहले अंधाधुंध गोलियां बरसाईं फिर ग्रेनेड हमला किया। हमले में अनंतनाग के एसएचओ भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। मौके पर मौजूद एक महिला को भी चोट पहुंची है। जवाबी कार्रवाई में एक पाकिस्तानी आतंकी मारा गया है। घटना व्यस्ततम खन्नाबल-पहलगाम रोड पर अनंतनाग बस स्टेशन से एक किलोमीटर दूर महिला कालेज के पास की है। दो आतंकियों ने वहां पिकेट पर तैनात सीआरपीएफ के जवानों को निशाना बनाकर अंधाधुंध फायरिंग की। गोलियों की आवाज सुनकर एसएचओ और डिवीजनल ऑफिसर, रक्षक वाहन से वहां पहुंचे तो आतंकियों ने दोनों गाडिय़ों को निशाना बनाकर ग्रेनेड दागे।  एसएचओ की गाड़ी से टकराकर ग्रेनेड फट गया, जिसमें एसएचओ अरशद खान घायल हो गए। डिविजनल ऑफिसर की गाड़ी को निशाना बनाकर दागा गया ग्रेनेड नहीं फटा। बताते हैं कि आतंकी मोटरसाइकिल से वहां पहुंचे थे। घटना के बाद एक आतंकी मौके से भाग निकला।  हमले में घायल जवानों को तत्काल अस्पताल ले जाया गया जहां पांच ने दम तोड़ दिया। एसएचओ को गंभीर अवस्था में सेना के श्रीनगर स्थित 92 बेस अस्पताल में ले जाया गया है। सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है। इलाके में व्यापक पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। 
 

01-05-2019
कश्मीर की तरक्की के लिए हटाएंगे अनुच्छेद 370 और 35ए : मुख्तार अब्बास 

 कारगिल। भाजपा नेता मुखतार अब्बास नकवी ने बुधवार को कारगिल में एक चुनावी जनसभा कर अनुच्छेद 370 और 35ए को कश्मीर की तरक्की में एक रोड़ा करार देते हुए कहा है कि जो भी चीज कश्मीर की तरक्की और यहां शांति बहाल करने के बीच रोड़ा है, हम उसे हटवाके यहां विकास और शांति बहाल करवाएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा का अजेंडा जम्मू-कश्मीर के लिए विकास का है। जाति-धर्म और अन्य चीजों को साइड रखकर समावेशी विकास का एक हाईवे तैयार किया है। नकवी ने उम्मीद जताई कि भाजपा इस बार अच्छे अंतर से जीतेगी और कारगिल-लेह संसदीय सीट पर अपना कब्जा जमाएगी।

15-04-2019
Mehbooba Mufti: कश्मीर कश्मीरी लोगों का, यह किसी की जागीर नहीं : महबूबा मुफ्ती

श्रीनगर। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि कश्मीर कश्मीरी लोगों का है, यह किसी की जागीर नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद में एक चुनावी रैली में पुलवामा हमले और उसके बाद भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के भीतर  हवाई हमले करने तथा पाकिस्तान को एक और चेतावनी देने पर पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने प्रतिक्रिया देते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा है।  बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने रैली में कहा था कि पुलवामा में जब पाकिस्तान ने दूसरी बार गलती की तो हम उसके घर में घुसे और हवाई हमला किया। उधर वालों को भी समझ में आ गया है कि अगर तीसरी गलती की तो लेने के देने पड़ जाएंगे। पीएम मोदी के इस बयान पर पलटवार करते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि भाजपा राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर डर का माहौल पैदा कर रही है। भाजपा लोकसभा चुनाव जीतने की छटपटाहट में बालाकोट जैसे एक अन्य हमले की तैयारी कर रही है।  महबूबा ने एक ट्वीट में कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि हमारे जवानों की कुर्बानी का नाजायज लाभ उठाकर और मतदाताओं के ध्रुवीकरण से बीजेपी को मदद नहीं मिली है। ऐसे में वह चुनाव जीतने की छटपटाहट में अब राष्ट्रीय सुरक्षा ने नाम पर डर पैदा करके बालाकोट जैसे एक अन्य हमले के लिए आधार तैयार कर रही है।  

06-04-2019
मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ में कश्मीर के लिए जगह नहीं: फारूक

श्रीनगर ।  नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए शनिवार को कहा कि वह ( मोदी) कहते हैं ‘सबका साथ, सबका विकास’ लेकिन कश्मीर के लिए उसमें कोई जगह नहीं है।
अब्दुल्ला ने बड़गाम में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के ‘विकास मंत्र’ का पर्दाफाश हो गया है। उन्होंने कहा कि जब से भाजपा ने केंद्र में सत्ता संभाली है, लोगों के दुखों की कोई सीमा नहीं है। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी का बहुप्रचारित विकास एजेंडा काल्पनिक है और उनके पास जम्मू-कश्मीर के लोगों की सामाजिक-आर्थिक मुक्ति के लिए कोई दृष्टिकोण नहीं है। आज लोग भाजपा से सवाल पूछ रहे हैं कि 2014 में चुनाव प्रचार के दौरान किए गए वादों को पूरा करने में वे क्यों नाकाम रहे?” उन्होंने कहा, “आज हम देख रहे हैं कि प्रधानमंत्री अपनी उपलब्धियों के बारे में बात नहीं कर रहे हैं। यदि कोई भी विनम्रतापूर्वक मोदी की योग्यता पर सवाल उठाता है, तो वह स्पष्ट रूप से देशद्रोही हैं। भाजपा ने सत्ता की बागडोर संभाली है, हमारे बुनियादी अधिकारों को अनेकों बार हनन हुआ है।” अब्दुल्ला ने कहा, “मोदी और श्री अमित शाह के विचार सिर्फ एक विशेष विश्वास के अनुयायियों के लिए है। मैं उन्हें बता दूं, भारत सभी का है, चाहे वह हिंदू हो, मुसलमान हो या कोई अन्य। यह देश विविधताओं से भरा हुआ है और समय की मांग है कि भारत के बहुलवादी दृष्टिकोण की रक्षा की जाए।” उन्होंने कहा, “यदि मोदी का विकास का विचार सभी के लिए होता, तो वे पुलवामा त्रासदी के बाद देशभर में हमारे व्यापारियों, छात्रों और अन्य लोगों पर लक्षित हमलों को लेकर अपनी आँखें बंद नहीं करते।”

13-01-2019
Commander :

श्रीनगर। भारतीय सेना लगातार घाटी में आतंकियों का सफाया कर रही। इससे धरती के स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर में आतंक के बड़े-बड़े नुमाइंदे गिनती के ही बचे हैं। ताजा जानकारी के अनुसार कश्मीर घाटी में सेना ने आतंकियों की कमर तोड़ दी है। रविवार को एक  टॉप कमांडर जीनत उल-इस्लाम को मार गिराया गया। इसके साथ ही आतंकियों के टॉप 12 कमांडरों में से अब सिर्फ रियाज नायकू और जाकिर मूसा नाम के दो ही आतंकी आका बचे हैं। सेना और सुरक्षा बलों की कार्रवाई में बीते साल मारे गए दहशतगर्द आतंकियों का आंकड़ा 260 के पार पहुंच गया है। साल के शुरुआत में ही मिली बड़ी कामयाबी से सेना और सुरक्षाबलों का आतंकी कमांडरों का खात्मा करने का अभियान और तेज हो गया है। नए साल में भी यह अभियान जारी रहेगा और आतंकवादी गतिविधियों पर लाइन ऑफ कंट्रोल और भीतर के इलाके दोनों में बराबर का दबाव बनाए रखा जाएगा। खुफिया सूत्रों के मुताबिक एलओसी के पार अभी भी 300 आतंकी घुसपैठ की फिराक में हैं।

28-08-2018
Court Marshal : जानिए आखिर क्या है कोर्ट मार्शल 
मेजर गोगोई को करना पड़ सकता है इसका सामना
Advertise, Call Now - +91 76111 07804