GLIBS
29-05-2019
सावरकर पर टिप्पणी के विरोध में भाजयुमो ने फूंका सीएम का पुतला 

 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा वीर सावरकर पर की गई टिप्पणी के विरोध में भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने बुधवार को धरना दिया और बूढ़ापारा धरनास्थल पर पहुंचकर मुख्यमंत्री मुर्दाबाद के नारे लगाए। बता दें कि पुतला दहन करने पर पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच जमकर झड़प भी हुई। इसके बाद भी कार्यकर्ताओं ने पुतला दहन किया और पुलिस ने उसे बुझाने की कोशिश भी की।

20-05-2019
माया-अखिलेश पर टिप्पणी करने पर सीएम योगी के खिलाफ  कोर्ट में वाद दायर 

 

 मैनपुरी। समाजवादी प्रबुद्ध प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष पूर्व एसपीओ रामदास निगम ने सीजेएम कोर्ट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ  धारा 156 (3) के तहत अपने अधिवक्ता पूर्व विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट रामसेवक के माध्यम से वाद दायर किया है। सीजेएम ममता सिंह ने मामले की सुनवाई के लिए 21 मई की तारीख तय की है। रामदास निगम के 21 मई को सीजेएम कोर्ट में बयान दर्ज किए जाएंगे। थाना कोतवाली के मोहल्ला आजाद नगर निवासी रामदास निगम पूर्व एसपीओ हैं। वह समाजवादी पार्टी प्रबुद्ध प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष हैं। उन्होंने दायर वाद में कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आजमगढ़ और जौनपुर की चुनावी सभाओं में पूर्व मुख्यमंत्री सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को गुंडों का सरताज और पूर्व मुख्यमंत्री बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती को भ्रष्टाचार की प्रतिमूर्ति कहा है, जबकि किसी भी जांच एजेंसी ने आज तक अखिलेश यादव को अपराधी नहीं माना है। मुख्यमंत्री के बयान को छह मई 2019 को अखबारों में प्रमुखता से छापा गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान को अहतशाम हुसैन हाशमी एडवोकेट, रामप्रकाश पाल एडवोकेट, अशोक कुमार सिंह एडवोकेट अध्यक्ष डॉक्टर अंबेडकर बार एसोसिएशन, प्रमोद कुमार यादव निवासी अंजनी थाना बिछवां ने भी अखबारों में पढ़ा है। दायर वाद में बताया गया है कि जब उन्होंने थाना कोतवाली में मामले की तहरीर दी तो पुलिस ने रिपोर्ट नहीं लिखी। इसके बाद एसपी को रजिस्ट्री से भेजी गई शिकायत पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। मुख्यमंत्री के बयान से समाजवादी पार्टी से जुड़े लोगों तथा समाजवादी नीति को मानने वालों की भावनाएं आहत हुई हैं। मुख्यमंत्री के खिलाफ  आईपीसी की धारा 500 तथा एससी-एसटी एक्ट के तहत कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है। सीजेएम ममता सिंह ने वाद की सुनवाई के लिए 21 मई की तारीख तय की है। सीजेएम कोर्ट में रामदास निगम के 21 मई को ही बयान दर्ज किए जाएंगे।

22-04-2019
आजम खान के बेटे ने की जयाप्रदा पर टिप्पणी, जानिए क्या कहा जयाप्रदा ने...

 नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के इस समर में नेताओं के विवादित बोल लगातार समाने आ रहे हैं। उत्तरप्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा और सपा के आजम खान आमने सामने है। सपा नेता आजम खान ने चुनावी सभा में अभिनेत्री जयाप्रदा पर विवादित टिप्पणी की थी। इसके बाद उनके पुत्र अब्दुल्ला अजाम ने भी सोमवार को एक चुनावी रैली के दौरान विवादित टिप्पणी कर दी। उन्होंने रामपुर के पान दरीबा में एक जनसभा संबोधित करते हुए जयाप्रदा का नाम लिए बिना कहा कि हमें अली और बजरंगबली की जरूरत है न की अनारकली की। अब्दुल्ला आजम की इस टिप्पणी के बाद जयाप्रदा ने कहा कि जैसा पिता वैसा बेटा है। इसका जवाब रामपुर की जनता देगी। जयाप्रदा ने पलटवार करते हुए कहा कि 'जैसा पापा है वैसा बेटा है। बाप तो ऐसा ही बोलता है, मुझे लगा अब्दुल्ला पढ़े लिखे हैं, लेकिन वे भी उसी परिवार से हैं। उन्हें नहीं पता कि महिलाओं की कैसे कद्र करते हैं। जयाप्रदा ने कहा कि लोग सब कुछ देख रहे हैं। जनता पिता-पुत्र की जोड़ी को करारा जवाब देंगी।

15-04-2019
भाजपा ने किया पीएम मोदी के विरुद्ध टिप्पणी पर प्रतिवाद 

रायपुर। भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने कांग्रेस के स्टार प्रचारक ब्रिगेडियर प्रदीप यदु द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध की गई टिप्पणी पर कड़ा प्रतिवाद किया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस ने सभी मर्यादा तोड़ते हुए देश के प्रधानमंत्री को देशद्रोही ठहराया है। श्री सुंदरानी ने कहा यदि पाकिस्तान की नापाक हरकतों का जवाब देने को कांग्रेस देशद्रोह समझती है तो बात अलग है। यह तो कांग्रेस ही स्पष्ट कर सकती है कि पाकिस्तान को करारा जवाब देकर मोदी ने देश के स्वाभिमान की रक्षा करने का दायित्व निभाया है अथवा देश विरोधी ताकतों को जवाब देना कांग्रेस की नजर देशद्रोह है। कांग्रेस को यह जवाब देना ही होगा कि वह देश प्रेम की क्या परिभाषा इस देश के लोगों को देना चाहती है। श्री सुंदरानी ने कहा कि जिस पार्टी के लोग मोदी को हटाने के लिए पाकिस्तान जा कर मदद मांगते हैं, वे आज मोदी की राष्ट्रभक्ति पर सवाल उठाते हुए उन्हें देशद्रोही करार देने की हिमाकत कर रहे हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804