GLIBS
16-05-2019
अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर 18 मई को महंत घासीदास म्यूजियम में होगा व्याख्यान

रायपुर। राज्य सरकार के संस्कृति एवं पुरातत्व संचालनालय द्वारा 18 मई को सुबह 11 बजे महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय रायपुर में अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण रायपुर मण्डल के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण नई दिल्ली के पूर्व संयुक्त महानिदेशक डॉ. एसबी ओटा होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्कृति विभाग की सचिव डॉ. एम. गीता करेंगी। पद्मश्री सम्मान प्राप्त एके शर्मा कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि होंगे। इस अवसर पर डॉ. एसबी ओटा सहित भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के सेवानिवृत्त पुरातत्ववेता डॉ. एसएस गुप्ता (भोपाल) और पुरातत्व संस्थान नई दिल्ली के निदेशक डॉ. एसके मंजुल के व्याख्यान होंगे। व्याख्यान सत्र की अध्यक्षता भिलाई के डॉ. एएल श्रीवास्तव करेंगे। कार्यक्रम में अनेक इतिहासकार, पुरातत्ववेत्ता, विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों के इतिहास एवं पुरातत्व विभाग के प्राध्यापक, शोधार्थी सहित जिला पुरातत्व संघों के सदस्य एवं संग्रहालय, संस्कृति में रुचि रखने वाले प्रबुद्ध नागरिक सहित संस्कृति विभाग, मंहत घासीदास संग्रहालय तथा भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण रायपुर मंडल के अधिकारी-कर्मचारी शामिल होंगे। संस्कृति एवं पुरातत्व संचालनालय के आयुक्त अनिल कुमार साहू ने बताया कि इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य एक सांस्कृतिक केन्द्र और भविष्य में परम्पराओं के संवाहक के रूप में संग्रहालयों के महत्व एवं उपादेयता के प्रति सर्वजन में जागरुकता का विकास एवं प्रसार करना और सांस्कृतिक तथा प्राकृतिक धरोहरों के महत्व, उनकी स्वच्छता, सुरक्षा और संरक्षण के प्रति सभी में उत्तरदायित्व की भावना का विकास करना है।

11-01-2019
CM BAGHEL : राजिम पुन्नी मेला हमारी सांस्कृतिक विरासत : सीएम बघेल

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को पत्रवार्ता ली और राजिम के पुन्नी मेले तथा सीबीआई के मुद्दे पर अपनी बात रखी। भूपेश बघेल ने कहा कि राजिम पुन्नी मेला हमारी सांस्कृतिक विरासत है। यह छत्तीसगढ़ की मेहनतकश जनता का उत्सव है। यह सदियों से हमारी समृद्ध लोक संस्कृति और सांस्कृतिक एकता का भी प्रतीक रहा है। सीएम ने कहा कि राजिम पुन्नी मेले पर तत्कालीन भाजपा सरकार ने तब हमला किया जब उसने तमाम धार्मिक और पौराणिक मान्यताओं को दरकिनार करते हुए इसे कथित राजिम कुंभ में परिवर्तित कर दिया। सीएम ने आरोप लगाया कि नाम परिवर्तन की गैरजरूरी राजनीति कर जनता के असली सवालों से ध्यान भटकाने का काम भाजपा ने पहली बार नहीं किया है। भारतीय जनता पार्टी का इतिहास इसी बात से भरा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सीबीआई के मुद्दे पर कहा किसीबीआई केंद्र सरकार की एजेन्सी है जिसे किसी भी राज्य में जांच करने के पहले राज्य सरकार की अनुमति प्राप्त करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने सीबीआई को छत्तीसगढ़ में किसी भी जांच के पहले अनुमति प्राप्त करने की आवश्यकता से मुक्त कर दिया था। केंद्र सरकार की एजेन्सी को भी छत्तीसगढ़ में किसी भी जांच के पहले अनुमति प्राप्त करने को बाध्यता को शिथिल कर दिया था। सीबीआई को राज्य में जांच करनी है तो वह राज्य सरकार से अनुमति प्राप्त कर ले, यही संवैधानिक प्रावधान है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में अप्रत्यक्ष रूप से भारतीय जनता पार्टी की ओर इशारा करते हुए कहा कि सीबीआई की स्वायतता के साथ कौन खिलवाड़ कर रहा है। इसे पूरा देश देख भी रहा है और समझ भी रहा है। पत्रकारवार्ता में आदिवासी कांग्रेस के अध्यक्ष एवं विधायक अमरजीत भगत, प्रदेश महामंत्री राजेश तिवारी, महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम, मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला, आरपी सिंह, ज्ञानेश शर्मा, किरणमयी नायक,  घनश्याम राजू तिवारी, मोहम्मद असलम, धनंजय सिंह ठाकुर, एमए इकबाल, आलोक दुबे, अभयनारायण राय, जयवर्धन बिस्सा, जितेन्द्र साहू, सुरेन्द्र वर्मा, विकास तिवारी, सुमीत दास, पीयूष कोसरे, विकास बजाज व विभोर सिंह उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804