GLIBS
11-01-2019
CM BAGHEL : राजिम पुन्नी मेला हमारी सांस्कृतिक विरासत : सीएम बघेल

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को पत्रवार्ता ली और राजिम के पुन्नी मेले तथा सीबीआई के मुद्दे पर अपनी बात रखी। भूपेश बघेल ने कहा कि राजिम पुन्नी मेला हमारी सांस्कृतिक विरासत है। यह छत्तीसगढ़ की मेहनतकश जनता का उत्सव है। यह सदियों से हमारी समृद्ध लोक संस्कृति और सांस्कृतिक एकता का भी प्रतीक रहा है। सीएम ने कहा कि राजिम पुन्नी मेले पर तत्कालीन भाजपा सरकार ने तब हमला किया जब उसने तमाम धार्मिक और पौराणिक मान्यताओं को दरकिनार करते हुए इसे कथित राजिम कुंभ में परिवर्तित कर दिया। सीएम ने आरोप लगाया कि नाम परिवर्तन की गैरजरूरी राजनीति कर जनता के असली सवालों से ध्यान भटकाने का काम भाजपा ने पहली बार नहीं किया है। भारतीय जनता पार्टी का इतिहास इसी बात से भरा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सीबीआई के मुद्दे पर कहा किसीबीआई केंद्र सरकार की एजेन्सी है जिसे किसी भी राज्य में जांच करने के पहले राज्य सरकार की अनुमति प्राप्त करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार ने सीबीआई को छत्तीसगढ़ में किसी भी जांच के पहले अनुमति प्राप्त करने की आवश्यकता से मुक्त कर दिया था। केंद्र सरकार की एजेन्सी को भी छत्तीसगढ़ में किसी भी जांच के पहले अनुमति प्राप्त करने को बाध्यता को शिथिल कर दिया था। सीबीआई को राज्य में जांच करनी है तो वह राज्य सरकार से अनुमति प्राप्त कर ले, यही संवैधानिक प्रावधान है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में अप्रत्यक्ष रूप से भारतीय जनता पार्टी की ओर इशारा करते हुए कहा कि सीबीआई की स्वायतता के साथ कौन खिलवाड़ कर रहा है। इसे पूरा देश देख भी रहा है और समझ भी रहा है। पत्रकारवार्ता में आदिवासी कांग्रेस के अध्यक्ष एवं विधायक अमरजीत भगत, प्रदेश महामंत्री राजेश तिवारी, महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम, मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला, आरपी सिंह, ज्ञानेश शर्मा, किरणमयी नायक,  घनश्याम राजू तिवारी, मोहम्मद असलम, धनंजय सिंह ठाकुर, एमए इकबाल, आलोक दुबे, अभयनारायण राय, जयवर्धन बिस्सा, जितेन्द्र साहू, सुरेन्द्र वर्मा, विकास तिवारी, सुमीत दास, पीयूष कोसरे, विकास बजाज व विभोर सिंह उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804