GLIBS
17-07-2019
वरिष्ठ भाजपा नेता बाबूलाल गौर की तबीयत फिर बिगड़ी

भोपाल। प्रदेश के वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व सीएम बाबूलाल गौर की तबीयत एक बार फिर बिगड़ गई है। मिली जानकारी के अनुसार उन्हें एअरलिफ्ट करके दिल्ली के मेदांता अस्पताल ले जाया जाएगा। डॉक्टरों की टीम उनके बंगले पर पहुंची है। इसके पहले भी गौर की लोकसभा चुनाव के दौरान तबीयत बिगड़ गई थी। उन्हें बोलने में तकलीफ की वजह से  भोपाल के नर्मदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। तब से ही वे बेड रेस्ट पर चल रहे हैं। बता दें कि वरिष्ठ भाजपा नेता बाबूलाल गौर 2004 से 2005 तक मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इसके अलावा कई विभागों के मंत्री भी रहे हैं।

11-07-2019
लोकसभा चुनाव के पहले मध्यप्रदेश में बिजली से जुड़े 225 अधिकारी-कर्मचारी निलंबित

भोपाल। मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने गुरुवार को बताया कि प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा मार्च-अप्रैल 2019 में कुल 225 अधिकारियों-कर्मचारियों को विभिन्न कारणों से निलंबित किया गया।
सिंह ने विधायक सुशील कुमार तिवारी के एक सवाल के लिखित जवाब में विधानसभा में ये जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड जबलपुर, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड भोपाल तथा पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड इंदौर द्वारा मार्च-अप्रैल 2019 में कुल 225 अधिकारियों-कर्मचारियों को निलंबित किया गया।

उन्होंने बताया कि कार्य के प्रति उदासीनता और लापरवाही को लेकर 125, विद्युत प्रदाय और सुधार में लापरवाही पर 88, बिना सूचना के अनुपस्थिति पर 11 और बिना अनुमति के परमिट लेने पर एक कर्मचारी पर निलंबन की कार्रवाई की गई।
मंत्री ने बताया कि इन्हीं कारणों से पिछले 5 वर्षों (1 अप्रैल, 2014 से 28 फरवरी, 2019 तक) में मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड द्वारा 166, मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड, भोपाल द्वारा 532 एवं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड, इंदौर द्वारा 282 अधिकारियों/कर्मचारियों का निलंबन किया गया है। व्यक्तिगत कारणों से किसी को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

10-07-2019
राहुल पहुंचे अमेठी, पार्टी कार्यकर्ताओं से करेंगे हार पर चर्चा

अमेठी। निवर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को अमेठी पहुंचे, जहां वे पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ कांंग्रेस के गढ़ में देश की सबसे पुरानी पार्टी की हार के कारणों पर चर्चा करेंगे। अमेठी पहुंचने से पहले, राहुल गांधी का बुधवार सुबह नई दिल्ली से लगभग दस बजे लखनऊ हवाई अड्डे पर पहुचने पर जोरदार स्वागत किया गया। हालांकि, इस बार हवाई अड्डे पर उनके स्वागत के लिये कम सख्या में कार्यकर्ता पहुचे थे। कई वरिष्ठ नेता मौजूद नही थे।

पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी, पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह के साथ पार्टी के वरिष्ठ नेता जैसे विनोद मिश्रा, वीरेंद्र मदान, सर्बजीत सिंह मक्कड़ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष का स्वागत करने के लिए लखनऊ अमौसी हवाई अड्डे पर मौजूद थे। इस अवसर पर लगभग 50 कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता भी गेट के बाहर मौजूद थे जहां उन्होंने राहुल गांधी तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ है के नारे लगाए। इसके बाद राहुल गांधी अमेठी के लिए रवाना हो गये। अमेठी में, राहुल गांधी 12 बजे से तीन बजे तक गौरीगंज क्षेत्र में एक शैक्षिक और तकनीकी संस्थान में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे जहां जिला से ब्लॉक स्तर के कांग्रेस नेताओं को आमंत्रित किया गया है। गांधी के आज शाम को नई दिल्ली लौटने की उम्मीद है।

लोकसभा चुनाव में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से चुनाव हारने के बाद राहुल गांधी की अमेठी की यह पहली यात्रा है, हालांकि वे केरल की दूसरी सीट वायनाड से सांसद निर्वाचित हुए है। इस बीच, अमेठी की अपनी पहली यात्रा पर आये गांधी को एक पोस्टर युद्ध का सामना करना पड़ा। अमेठी में उनके खिलाफ जगह-जगह पोस्ट लगे है। मुशीगंज इलाके में संजय गांधी अस्पताल के पास कई पोस्टर लगाए गए है, जहाँ गांधी से पूछा गया है कि इस अस्पताल में आने वाले मरीज की मौत क्यों होती है। पोस्टर में लिखा है न्याय करो, न्याय करो, दोषियों को सजा दो।

08-07-2019
कांग्रेस के कई नेता एक साथ पहुंच गए हाईकोर्ट, इनकी यह है मांग

जबलपुर। मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव हार चुके कांग्रेस प्रत्याशी हाईकोर्ट की शरण में पहुंच गए हैं। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद कांतिलाल भूरिया सहित 14 नेताओं ने कोर्ट में याचिका लगाई है। इन सभी ने भाजपा सांसदों का चुनाव रद्द करने की अपील याचिका में की है। लोकसभा चुनाव में जनता की अदालत में चुनाव हार चुके कांग्रेस प्रत्याशियों को कोर्ट से न्याय की उम्मीद है। पार्टी के ऐसे 14 नेताओं ने जबलपुर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, जो चुनाव में प्रत्याशी थे। इनमें झाबुआ-रतलाम सीट से कांतिलाल भूरिया भी शामिल हैं। इन नेताओं ने भाजपा प्रत्याशियों का चुनाव रद्द करने की मांग की है। इन लोगों ने भाजपा प्रत्याशियों पर गलत ढंग से चुनाव जीतने का आरोप लगाया। रतलाम झाबुआ , सीधी, सतना, ग्वालियर, टीकमगढ़, बालाघाट, होशंगाबाद, मंडला, उज्जैन, खरगोन, विदिशा, दमोह, सागर, शहडोल से लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाए गए नेताओं ने ये याचिका दायर की है।

06-07-2019
राहुल गांधी को 10 हजार रुपये की मुचलके पर मिली जमानत

पटना। लोकसभा चुनाव प्रचार में 'सभी मोदी चोर क्यों हैं' कहने के मामले में राहुल गांधी शनिवार को पटना की विशेष अदालत में पेश हुए। जज ने राहुल को उन पर लगे आरोप पढ़कर सुनाए। इसके बाद राहुल ने कहा कि सभी आरोप बेबुनियाद हैं। कोर्ट ने उन्हें 10 हजार रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी। यह मानहानि केस उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दायर किया है। राहुल ने कोर्ट के बाहर कहा, ''जो भी संघ और नरेंद्र मोदी की विचारधारा के खिलाफ आवाज उठाता है। उस पर हमला होता है और कोर्ट में घसीटा जाता है। मैं किसानों और मजदूरों के साथ खड़े होने के लिए आया हूं। जहां भी जाना होगा जाऊंगा। मेरी लड़ाई संविधान को बचाने के लिए है। हिन्दुस्तान के आवाज को दबाया जा रहा है। मैं कांग्रेस अध्यक्ष नहीं हूं तो भी लड़ाई जारी रखूंगा।'' कोर्ट के बाहर कांग्रेस कार्यकतार्ओं ने राहुल के इस्तीफा वापस लेने की मांग पर नारेबाजी की।

मानहानि केस में मुंबई कोर्ट से भी जमानत मिली 
कन्नड़ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या से जुड़े मानहानि केस में राहुल को 4 जुलाई को मुंबई के शिवड़ी कोर्ट से जमानत मिल गई थी। यहां के संघ कार्यकर्ता ध्रुतीमान जोशी का आरोप था कि राहुल ने गौरी लंकेश की हत्या के 24 घंटे के अंदर कहा कि जो लोग संघ और भाजपा की विचारधारा के खिलाफ आवाज उठाते हैं। उन पर हमले किए जाते हैं। यहां तक कि उन्हें जान से मार दिया जाता है। 5 सितंबर 2017 को बेंगलुरु में बाइक से आए लोगों ने गौरी की गोलियां मारकर हत्या कर दी थी।

इस महीने गुजरात में राहुल की तीन पेशी
मानहानि के अलग-अलग केस में इस महीने राहुल गांधी की गुजरात में तीन पेशियां हैं। 9 और 12 जुलाई को अहमदाबाद, 24 तारीख को सूरत कोर्ट में पेश होना है।

06-07-2019
मानहानि के केस में कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज पटना की अदालत में होंगे पेश 

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि के एक मामले के सिलसिले में आज पटना की अदालत में पेश होंगे। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता ने बीते अप्रैल में यहां की मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की अदालत में यह मामला दायर किया था। सुशील मोदी ने उक्त मामला गांधी द्वारा कर्नाटक के कोलार में एक चुनावी रैली में यह टिप्पणी करने पर आपत्ति जताते हुए दायर किया था कि 'सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं'। गांधी का इशारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बैंक धोखाधड़ी आरोपी नीरव मोदी और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की ओर था। मामले को सीजेएम शशिकांत रॉय ने एसीजेएम कुमार गुंजन के पास भेज दिया था।

गांधी ने लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस सप्ताह के शुरू में कांग्रेस प्रमुख के पद से इस्तीफा दे दिया था। गांधी पिछली बार गत मई में बिहार की राजधानी पटना आये थे जब उन्होंने अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा के लिए एक रोड शो किया था। सिन्हा ने अप्रैल..मई में हुए लोकसभा चुनाव में पटना साहिब सीट पर कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था लेकिन वह अपनी सीट बरकरार नहीं रख पाये थे। मीडिया के एक वर्ग में खबर है कि गांधी यहां से करीब 60 किलोमीटर दूर स्थित मुजफ्फरपुर भी जा सकते हैं जो कि राज्य भर में फैले एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम से सबसे अधिक प्रभावित रहा है। इससे 150 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है।

28-06-2019
कांग्रेस के राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा का संगठन के सभी पदों से इस्तीफा

भोपाल। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद देश भर में पार्टी में इसकी जिम्मेदारी पर दिख रही ऊहापोह की स्थिति के बीच मध्यप्रदेश से राज्यसभा सांसद और पार्टी के वरिष्ठ नेता विवेक तन्खा ने संगठन से जुड़े सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है।
तन्खा ने इस बारे में ट्वीट करते हुए जानकारी दी। साथ ही उन्होंने पार्टी प्रमुख राहुल गांधी से संगठन में आमूलचूल परिवर्तन लाने की भी अपील की। उन्होंने अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के विधि, सूचना का अधिकार और अन्य विभागों से इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा कि हम सभी को अपने पार्टी पदों से इस्तीफा देते हुए राहुल गांधी को अपनी टीम के चयन के लिए मुक्तहस्त दे देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि वे इस बारे में मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान का स्वागत करते हैं। तन्खा ने गांधी को संबोधित करते हुए ये भी कहा कि वे पार्टी को एक लड़ाका के तौर पर दोबारा उठ खड़े होने के लिए पार्टी में आमूलचूल परिवर्तन लाएं। उन्होंने कहा कि वे हर परिस्थिति में राहुल गांधी के साथ हैं। हालिया लोकसभा चुनाव में तन्खा स्वयं भी भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष राकेश सिंह से जबलपुर संसदीय सीट से चुनाव हार चुके हैं।

21-06-2019
जमानत के लिए फिर तरस गए लालू यादव, अगली सुनवाई 5 जुलाई को

 

पटना। चारा घोटाले में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता दल  के सुप्रीमो लालू यादव को जमानत नहीं मिली है। शुक्रवार को झारखंड हाईकोर्ट में उनकी जमानत याचिका पर सुनवाई हुई, जिसके बाद जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने सीबीआई को 5 जुलाई तक शपथपत्र दायर करने का आदेश दिया। अब इस मामले में अगली सुनवाई 5 जुलाई को होगी। पूर्व सीएम की तरफ से देवघर कोषागार मामले में जमानत याचिका दायर की गई है। याचिका में आधी सजा काट लेने का हवाला देते हुए बेल मांगा गया है। इस मामले में सीबीआई अदालत ने लालू यादव को साढ़े 3 साल की सजा सुनाई थी।

बता दें कि  इससे पहले भी लोकसभा चुनाव के दौरान झारखंड हाईकोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट ने लालू यादव को जमानत देने से इनकार कर दिया था। उनकी ओर से बीमारी के इलाज का हवाला देकर जमानत मांगी गई थी। लेकिन कोर्ट ने उनकी याचिका को खारिज कर दिया था। पूर्व मुख्यमंत्री को चारा घोटाले के दुमका, देवघर और चाईबासा मामले में सीबीआई कोर्ट ने सजा सुनाई है। इन तीनों मामलों में वो सजा काट रहे हैं। तीनों ही मामलों में उनकी ओर से झारखंड हाइकोर्ट में अपील याचिकाएं दायर की गई हैं, जो अभी लंबित हैं। ज्ञात हो कि एक साथ कई बीमारियों से जूझ रहे लालू यादव इन दिनों रांची के रिम्स के पेइंग वार्ड में भर्ती हैं। 
 

19-06-2019
अंतागढ़ टेपकांड : अजीत व अमित जोगी को वॉइस सैंपल के लिए नोटिस 

रायपुर। लोकसभा चुनाव के बाद अंतागढ़ टेपकांड मामले में फिर से जांच तेज हो गई है। मामले में कथित आरोपियों को आदेश जारी किया गया है। इस मामले में अजीत जोगी, अमित जोगी को एसआईटी ने वॉइस सैंपल के लिए नोटिस जारी किया है। उन्हें 24 जून को एसआईटी ऑफिस तलब किया गया है। इसकी पुष्टि एसएसपी आरिफ  शेख ने की है।

17-06-2019
वीरेंद्र कुमार बने लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर, थोड़ी देर में सांसद पद की शपथ लेंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली। मोदी सरकार 2.0 की संसदीय परीक्षा आज से शुरू हो रही है। आज 17वीं लोकसभा का पहला सत्र शुरू होना है, इस दौरान नए सांसदों की शपथ कराई जाएगी। लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत हासिल कर सत्ता में भारतीय जनता पार्टी चाहेगी कि इस सत्र में बजट के अलावा अन्य अटके हुए विधेयकों को पास करा सके। वीरेंद्र कुमार ने प्रोटेम स्पीकर के तौर पर शपथ ली, जो कि सांसदों को शपथ दिलाएंगे। 17 जून से शुरू होकर ये सत्र 26 जुलाई तक जारी रहेगा, तो वहीं 5 जुलाई को बजट पेश किया जाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804