GLIBS
22-07-2019
ग्रामीणों से रिश्वत की मांग करने पर पटवारी निलंबित

सूरजपुर। रिश्वत की मांग करने की शिकायत पर पटवारी नरेन्द्र बखला को निलंबित कर दिया गया है। ज्ञात हो कि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सूरजपुर डॉ सुभाष राज के समक्ष हल्का पटवारी प.ह.नं. 10, कोतल तहसील-प्रेमनगर नरेन्द्र बखला के विरुद्ध शासकीय कार्य के एवज में ग्रामीणों से अनधिकृत रूप से रिश्वत की मांग करने की शिकायत प्राप्त हुई थी, जिसपर पटवारी को कारण बताओ सूचना जारी किया गया था, जिसमें प्रस्तुत स्पष्टीकरण संतोषजनक न पाकर पटवारी नरेन्द्र बखला को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में पटवारी का मुख्यालय तहसील प्रेमनगर नियत किया गया है एवं उन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।

22-06-2019
परिसीमन अधिकारी को हटाने की मांग को लेकर कांग्रेसियों ने निगमायुक्त को सौंपा ज्ञापन 

रायपुर। शहर जिला कांग्रेस के निर्देशानुसार डॉ. खूबचंद बघेल ब्लॉक कांग्रेस कमेटी द्वारा रायपुर नगर निगम के परिसीमन प्रभारी को हटाने की मांग को लेकर नगर निगम आयुक्त शिव अनंत तायल को ज्ञापन सौंपा गया है। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रशांत ठेंगड़ी ने बताया की परिसीमन प्रभारी राकेश गुप्ता द्वारा भाजपा के विधायक एवं पार्षदों के अनुसार वार्डो का परिसीमन किया जा रहा है और कांग्रेस के पार्षद जिस वार्ड में है उन वार्डो को विलोपित किया जा रहा है जिससे यह स्पष्ट हो रहा है की राकेश गुप्ता भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। ऐसे अधिकारियों को तत्काल हटा कर उनकी जगह किसी अन्य को प्रभार देने को लेकर निगमायुक्त को ज्ञापन सौंपा गया है। नगर निगम में ज्ञापन देने पहुंचे कांग्रेसियों में बंशी कन्नौजे,मनोहर सोनकर,सुनील शिर्के, भारत ठाकुर,अनिल सेन,एश्वर्य साहू,रोहित वर्मा,छवि वर्मा,देवेन्द्र पवार,सोनसाय,अशोक यादव,कृष्णा सोनकर,ओम सोनकर,खिलेश्वर निषाद,एवं अन्य कांग्रेसजन उपस्थित थे।

11-06-2019
विधायक विकास उपाध्याय ने की स्कूल शिक्षामंत्री से ग्रीष्मकालीन अवकाश की अवधि बढ़ाने की मांग

रायपुर। प्रदेश अभी भी लू की चपेट में है लगातार रायपुर का पारा 45 डिग्री के आसपास बना हुआ है और 5 से 6 दिन बाद बच्चो की स्कूल खुलने वाली है। इतनी गर्मी में बच्चो की सेहत पर प्रतिकूल असर पड़ेगा पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने बच्चो के अभिभावक एवं परिवार जनो के साथ स्कूल शिक्षामंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम से मिलकर भीषण गर्मी को देखते हुए बच्चों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए आगामी अवधि तक ग्रीष्मकालीन अवकाश बढ़ाने की अपनी मांग रखी। 
रायपुर ही नही पूरे प्रदेश में पारा 45 डिग्री के आसपास चल रहा है। रायपुर पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने कहा कि आज पूरे प्रदेश में भीषण गर्मी पड़ रही है। प्रदेश लू की चपेट में है। ऐसे में भीषण गर्मी में कुछ दिनों में बच्चो के स्कूल शुरू होने वाले जहां 45 से 46 डिग्री पारा चल रहा है लोग घरों से बाहर निकलने के लिए भी कई बार सोचते है। ऐसी गर्मी के मौसम में बच्चों के स्कूल खुलने से बच्चों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ेगा। बच्चों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को लेकर हम सब तमाम कांग्रेसियों के साथियों ने बच्चों के अभिभावक एवं परिवारजनों के साथ शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम से मिलकर उनके समक्ष सरकारी एवं निजी स्कूल की आगामी अवधि तक ग्रीष्मकालीन अवकाश बढ़ाने की अपनी मांग रखी। इस पर शिक्षा मंत्री ने हमें अधिकारियों से बात कर वस्तुस्थिति की जानकारी लेकर कार्य करने का आश्वाशन दिए है। अधिक तापमान की वजह से सेहत के लिए प्रतिकूल स्थिति हो रही, जिससे बच्चों के सेहत पर असर पड़ेगा। विधायक विकास उपाध्याय के साथ अभिभावक,काँग्रेस की ब्लॉक अध्यक्ष सुनीता शर्मा, सोनिया यादव, संगीता दुबे, शायरा खान, अमित शर्मा, दिब्य किशोर नियाल, विकास अग्रवाल, डॉ.विकास पाठक, रोशन श्रीवास एवं समस्त कार्यकर्ता उपस्थित थे।

04-06-2019
CET पेपर लीक मामला: जांच की मांग को लेकर में इंदिरा गांधी कृषि विवि के छात्र करेंगे आंदोलन

रायपुर। इन्दिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय मे छात्रों ने आरोप लगाया है कि CET पेपर लिक मामले मे विश्वविद्यालय द्वारा गठित जांच कमेटी सिर्फ लीपापोती कर रही हैं। मामला भाटापारा का है, जहां एक वाइस रिकॉर्डिंग सामने आते ही विश्विद्यालय में पेपर लीक होने से खलबली मच गई थी। इसको लेकर कुलपति डॉ. एसके पाटिल ने छः सदस्य  टीम बनाकर वंहा जांच पड़ताल करवाई थी। मामले को गोपनीय रखते हुए, जल्द खुलासा करने की बात कही गई थी। छात्र आरोप लगा रहे हैं कि इस मामले को मजाक समझकर फाइल बंद कर दी गई है। 
छात्रों ने कहा कि इतने संवेदनशील मामले में ना तो विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से कोई साइबर जांच हुई और ना ही जांच का प्रयास किया गया। सोमवार को विश्वविद्यालय के 150 छात्र विवि प्रशासन से इस विषय पर चर्चा करने के लिए गए थे। विश्वविद्यालय के एक भी अधिकारी ने छात्रों से बात करना उचित नही समझा।
छात्र करेंगे उग्र आंदोलन
विश्वविद्यालय के इस रवैये से छात्र उग्र आन्दोलन की तैयारी में हैं। विवि के सभी छात्र मंगलवार को प्रशासनिक भवन के सामने विरोध प्रदर्शन करेंगे। छात्र साइबर जांच की मांग रहै हैं। इसमें आडियो रिकार्डिंग की जांच हो सके और दोषियों को सजा मिल सके। इस वर्ष CET पेपर लगभग 2500 से 3000 छात्रों ने पेपर दिलाया था, जिससे इन सभी छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ होता दिख रहा हैं।
 

24-05-2019
नवजोत सिंह सिद्धू छीना जाएगा मंत्री पद ! सीएम अमरिंदर ने राहुल से की मांग

नई दिल्ली। पहले से आरोप झेल रहे नवजोत सिंह सिद्धू की मुश्किलें बढऩे लगी हैं। अब नवजोत को कैबिनेट से हटाने की कवायद ने जोर पकड़ लिया है। सूत्रों के अनुसार  सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस संबंध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत शीर्ष नेताओं से बातचीत भी कर ली है। अमरिंदर अब सिद्धू को मंत्रिमंडल में नहीं रखना चाहते हैं। अमरिंदर के अलावा इस कवायद में राज्य के अन्य मंत्री भी लगे हुए हैं। इन मंत्रियों की शिकायत है कि लोकसभा चुनावों के दौरान सिद्धू की हरकतों से सीएम की छवि को तो नुकसान पहुंचा ही, वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की छवि पर भी खराब प्रभाव पड़ा। इससे पहले गुरुवार को भी अमरिंदर ने कहा था कि वह नवजोत का विभाग बदलना चाहते हैं। उसका कारण यह है कि सिद्धू ठीक तौर पर अपना विभाग नहीं संभाल रहे हैं। सीएम ने कहा था कि नवजोत की पाकिस्तान सेना प्रमुख से यारी और झप्पी को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है और खासकर सेना तो इसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगी।

16-05-2019
थोवारी माला भूमि संघर्ष के गिरफ्तार साथियों की नि:शर्त रिहाई की मांग

राजिम। अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के राज्य सचिव कॉमरेड तेजराम विद्रोही ने कहा है कि केरल के वायनाड जिले में थोवारी माला की जमीन पर भूमि संघर्ष समिति ने दखल कर उस पर आदिवासियों और भूमिहीनों का अधिकार स्थापित किया है। भूमिहीन किसानों ने  21 अप्रैल 2019 को आवास और कृषि भूमि के लिए आंदोलन खड़ा किया है। एक हजार से ज्यादा भूमिहीन किसान परिवारों ने थोवारी माला में अपनी झोपड़ी खड़ा कर भूमि संघर्ष का बिगुल फूंका है और 250 एकड़ से अधिक जमीन पर कब्जा किए हैं। तेजराम विद्रोही ने कहा कि केरल में अच्युत मेनन की सरकार ने 1970 में थोवारी माला की इस जमीन का बहुराष्ट्रीय कंपनी हैरिसन मलयालम प्लांटेशन से अधिग्रहण किया था, परंतु अब तक किसी भी सरकार ने इसका भूमिहीन परिवारों के बीच बंटवारा नहीं किया। तेजराम विद्रोही ने आरोप लगाया कि केरल में पिनरायी विजयन की सरकार हैरिसन प्रबंधन के साथ सांठगांठ कर इस जमीन को फिर हैरिसन कंपनी को देने का प्रयास कर रही है जिसे पिछले पचास वर्षों से अतिरिक्त भूमि घोषित किया गया है। सरकार द्वारा नियुक्त कई आयोगों ने कहा है कि हैरिसन ने झूठे दस्तावेजों के आधार पर केरल के सात जिलों में एक लाख एकड़ से अधिक जमीन पर गैरकानूनी कब्जा कर रखा है। छह कंपनियों का करीब सवा पांच लाख एकड़ जमीन पर कब्जा है। वायनाड में आदिवासी आबादी 17 प्रतिशत है जो भूमिहीन और बेहद गरीब है। लेकिन राज्य की अब तक की किसी भी सरकार ने इसका वितरण नहीं किया है जबकि इस पर आदिवासियों को वैध अधिकार है। इस दौरान भूमि संघर्ष का अगुवाई कर रहे अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के संयुक्त सचिव और केरल राज्य इकाई के सचिव कॉमरेड एम पी कूंहिकनारान, राजेश अप्पाट और मनोहरन को गिरफ्तार कर कन्नूर सेंट्रल जेल में डाल दिया गया है। 6 मई से  जेल में ही कॉमरेड एम पी कूंहिकनारान ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल के माध्यम से आंदोलन जारी रखा है।  केरल सरकार की इस दमनात्मक कदम का अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा ने निंदा की  है और गिरफ्तार साथियों को नि:शर्त रिहा करने तथा थोवारी माला की जमीन को गरीब, भूमिहीन, आदिवासी किसान परिवारों को वितरित करने की मांग की है। 

30-04-2019
TMC : पीएम मोदी के बयान पर बवाल, टीएमसी ने की नामांकन रद्द करने की मांग 

कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हालिया बयान पर राजनीति गरमाने लगी है। सोमवार को एक रैली के दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल के 40 विधायक भाजपा के संपर्क में हैं। भाजपा के चुनाव जीतते ही ये सभी विधायक पार्टी में शामिल हो जाएंगे। पीएम मोदी के इस बयान को तृणमूल ने 'हॉर्स ट्रेडिंग' करार दिया है। तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग से पीएम के बयान को लेकर शिकायत करते हुए उनका नामांकन रद्द करने की मांग भी की है। शिकायत में प्रधानमंत्री द्वारा मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन करने की शिकायत की गई है। वहीं चुनाव आयोग ने कहा है कि वह आज सभी लंबित शिकायतों पर संज्ञान लेगी। त्वरित निर्णय के लिए सुप्रीम कोर्ट का भी सहारा लिया जाएगा। बता दें कि सोमवार को कोलकाता से 30 किलोमीटर दूर सेरमपोर में प्रधानमंत्री ने रैली के दौरान कहा था कि दीदी 23 मई को नतीजे वाले दिन बंगाल में सभी जगह कमल खिलेगा। और तुम्हारे सभी एमएलए तुम्हें छोड़कर भाग जाएंगे। इतना ही नहीं आज भी दीदी आपके 40 एमएलए मेरे संपर्क में हैं। पीएम मोदी के इस विवादित बयान के बाद पार्टी के नियम निमार्ता डेरेक ओ ब्रायन ने पीएम पर 'हॉर्स ट्रेडिंग' का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि एक्पायरी बाबू पीएम, आपके साथ कोई नहीं जाएगा। काउंसलर तक नहीं। आप चुनाव कैंपेन कर रहे हैं या हॉर्स ट्रेडिंग कर रहे हैं। आपकी एक्सपायरी डेट नजदीक है। आज, हम चुनाव आयोग में शिकायत कर रहे हैं, आपके द्वारा हॉर्स ट्रेडिंग की कोशिश करने की। ब्रायन के द्वारा ईसी को भेजे गए पत्र में तृणमूल कांग्रेस की ओर से पीएम के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की गई है। पत्र में कहा गया है कि भाजपा द्वारा चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया जा रहा है। वोटरों से पुलवामा हमले के शहीदों के नाम पर वोट मांगे जा रहे हैं।

25-04-2019
मंत्री जीतू पटवारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग 

भोपाल। मध्यप्रदेश के मंत्री जीतू पटवारी द्वारा की गई एक टिप्पणी के  खिलाफ भाजपा आक्रामक हो गई है। पार्टी ने एडीजी को जीतू पटवारी के भाषण की सीडी सौंपकर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है। इतना ही नहीं बीजेपी ने चुनाव आयोग को भी शिकायत भेजी है जिसमें आचार संहिता के उल्लंघन और राज्यपाल की गरिमा को ठेस पहुंचाने की बात कही है। बताया जा रहा है कि बुधवार को इंदौर में कांग्रेस के चुनाव कार्यालय के शुभारंभ के मौके पर दिए भाषण में मंत्री जीतू पटवारी ने बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार को दिए पीएम मोदी के इंटरव्यू का जिक्र करते हुए कहा था कि अक्षय कुमार ने पीएम मोदी से आनंदीबेन पटेल की बारे में क्यों नहीं पूछा? हालांकि इसके बाद मंच से उतरते हुए उन्हें गलती स्वीकारते हुए सफाई भी दी थी कि वे यशोदाबेन बोलना चाह रहे थे लेकिन उनके मुंह से आनंदीबेन पटेल निकल गया। भाजपा का कहना है कि राज्यपाल आनंदीबेन पटेल पर टिप्पणी उनकी गरिमा पर आघात करने वाली और पीएम के चरित्र पर लांछन लगाने वाली है।  एडीजी वरुण कपूर ने इस संबंध में कहा कि उन्हें शिकायत मिली है इसमें तथ्यों की जांच कराकर वे अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेजेंगे।  

 

22-04-2019
डाॅ. पुनीत गुप्ता की डिग्री की जांच की मांग 

रायपुर। स्टेट बैंक काॅलोनी, सुंदर  नगर रायपुर निवासी नितिन सिन्हा ने पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलपति को ज्ञापन सौंपकर डाॅ. पुनीत गुप्ता द्वारा मेडिकल स्नातकोत्तर डिग्री के बाद डीएम नेफ्रोलाॅजी के साथ ही पीएचडी प्राप्त करने के लिए की गई संभावित गड़बडी के संबंध में जांच करने की मांग की है। जांच में गड़बडी साबित होने पर डाॅ. गुप्ता के खिलाफ जुर्म दर्ज करने की मांग की है।

20-04-2019
डॉ. पुनित गुप्ता के डिग्री को लेकर उठे सवाल, रिकॉर्ड जब्त कर जांच करने की मांग 

 

रायपुर। दाऊ कल्याण सिंह हॉस्पिटल (डीकेएस) के अधीक्षक डॉ. पुनित गुप्ता के डिग्री को लेकर अब सवाल उठने लगा है। डॉ. पुनित गुप्ता की डिग्री की जांच को लेकर कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता ने कहा कि रिकॉर्ड जब्त कर जांच किया जाए। इससे डिग्री की गड़बड़ी को लेकर कई तथ्य सामने आएंगे। बता दें कि डॉ. पुनीत गुप्ता की अकादमिक योग्यता के बारे में चौका देने वाला खुलासा हुआ है। नेफ्रोलॉजी में पीजी करने वाले डॉ. पुनीत गुप्ता ने नियम कायदों की धज्जियां उड़ाते हुए नेफ्रोलॉजी नहीं बल्कि बायोटेक्नॉलाजी में पीएचडी की थी। पिछले साल सरगुजा विश्वविद्यालय में डॉक्टर आॅफ साइंस के लिए एप्लाई कर दिया। हालांकि भारी दबाव के बाद इसे खारिज कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि सरगुजा विश्वविद्यालय ने अपने इतिहास में आज तक किसी को डॉक्टर आॅफ साइंस की डिग्री नहीं दी है। रविशंकर और सरगुजा दोनों ही यूनिर्वसिटीज में मेडिकल की पढ़ाई ही नहीं होती। सूत्रों का कहना है कि रविशंकर से पीएचडी के लिए डॉ. पुनीत गुप्ता ने जरूरी छह माह का पीएचडी कोर्स वर्क किए बिना पंजीयन करवा लिया था। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर के बायोटेक्नॉलॉजी विभाग के शोधकेंद्र में जरूरी 240 दिन की उपस्थिति के बिना ही उन्होंने अपना शोध कार्य पूरा कर लिया। वहीं कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ इस मामले की शिकायत मेडिकल काउंसिल आॅफ इंडिया से करने की तैयारी में है।

19-04-2019
कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे और बसपा प्रत्याशी खिलेश्वर साहू के खिलाफ  कार्रवाई की मांग 

रायपुर। बहुजन समाज पार्टी के रायपुर लोकसभा प्रत्याशी खिलेश्वर कुमार साहू के साथ खरीद-फरोख्त कर अपने समर्थन करने के मामले में बसपा कार्यकर्ता कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे और खिलेश्वर साहू के खिलाफ  शिकायत करने निर्वाचन आयोग पहुंचे। बसपा के पूर्व अध्यक्ष एडवोकेट सदानंद मारकण्डेय ने बताया कि कांग्रेस लोकसभा के रायपुर प्रत्याशी प्रमोद दुबे ने बसपा लोकसभा के रायपुर प्रत्याशी खिलेश्वर कुमार साहू के साथ खरीद-फरोख्त कर अपने समर्थन में कर लिया है। इसकी बहुजन समाज पार्टी घोर निंदा करती है। साथ ही निर्वाचन आयोग से यह मांग करते हैं कि कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद को चुनाव लडऩे से प्रतिबंधित किया जाए और प्रमोद दुबे व खिलेश्वर कुमार साहू के खिलाफ  कानून के तहत कार्रवाई की जाए।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804