GLIBS
15-04-2019
मेरी सोच- मेरा संकल्प के तहत कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे ने जारी किया घोषणा पत्र

रायपुर। राजधानी रायपुर के पुजारी पार्क स्थित कांग्रेस के केंद्रीय कार्यालय में कांग्रेस प्रत्याशी व महापौर प्रमोद दुबे ने अपना घोषणा पत्र जारी किया है। इस दौरान मंत्री शिव डहरिया, रायपुर ग्रामीण विधायक सत्यनारायण शर्मा, कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनन्द शुक्ला, घनश्याम राजू तिवारी सहित अन्य कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे। लोक निर्माण मंत्री शिव डहरिया ने बताया कि 23 अप्रैल को लोकसभा चुनाव प्रस्तावित है, जिसमें कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे ने अपना घोषणा पत्र ‘मेरी सोच मेरा संकल्प’ जारी किया है। जिसमें रायपुर के आत्म सम्मान को वापस लाना, पर्यावरण संरक्षण के लिए रायपुर में ग्रीनकारीडोर हर एक किलोमीटर में निर्माण के साथ ही नो व्हीकल डे हर विधानसभा में लागू करना।

शासकीय एवं अशासकीय रोजगार में बढ़ती बेरोजगारी की समस्या के निदान के लिए बंद पड़े उद्योग को शुरू करना, मेट्रो रेल योजना शुरू करना। शिक्षा एवं खेलकूद के लिए शासकीय भूमियों को सरंक्षित कर खेल मैदान की जगह तैयार करना। रेल सुविधाएं, स्वास्थ्य सेवाएं,  यातायात समाधान, पेयजल, सिचाई सुविधा, हाऊसिंग बोर्ड, व्यवसाय एवं कारोबार शामिल है।

08-04-2019
 डॉ. रमन सिंह ने कहा, कांग्रेस का घोषणा पत्र सिर्फ लुभाने वाला

फरसगांव। लोकसभा चुनाव के प्रचार के लिए पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह फरसगांव पहुंचे। अस्पताल मैदान में सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मैं आप सभी जनता का आशीर्वाद लेने के लिए फरसगांव आया हूं। आप सभी को भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी को जिताना है तथा केंद्र में पुनः नरेंद्र मोदी की सरकार बनाना है। डॉ. रमन सिंह ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को सिर्फ लुभाने वाला बताया। अब तक किसानों का कर्जा माफ नहीं हुआ है बल्कि जब से कांग्रेस की सरकार बनी है तब से बिजली बिल हाफ नहीं बल्कि बिजली ही हाफ हो गई है, जो बार बार गोल हो रही है। प्रदेश आर्थिक तंगी की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के झूठे वादों को जनता समझ गई है अब जनता कमल खिलाएगी और कांग्रेस को सबक सिखाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि जो काम कांग्रेस नहीं कर पाएगी उसे हम पूरा करके दिखाएंगे। भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता एक सिपाही के समान है। हर कार्यकर्ता मोहन मंडावी के जैसा है। छत्तीसगढ़ की सभी 11 के 11 सीट जीतकर भारतीय जनता पार्टी को देंगे और केंद्र में फिर से नरेंद्र मोदी की सरकार बनाएंगे। इस दौरान भरत मटियारा, लता उसेंडी, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष प्रवीर सिंह बदेशा, मनोज जैन, तरुण साना, कूलजोत संधू, गणेश दुग्गा, जगधर मरापी, गणेश जायसवाल, हितेश साहू, पूर्व विधायक सेवकराम नेताम, सुरेश जायसवाल, हरिशंकर नेताम, झाड़ीराम सलाम सहित हजारो की संख्या मे भाजपा कार्यकर्ता व क्षेत्रवासी मौजूद रहे। कार्यक्रम के बाद डॉ. रमन सिंह जगदलपुर रवाना हुए।  

 

08-04-2019
Congress: भाजपा का घोषणा पत्र जनता को ठगने का नया संकल्प : कांग्रेस 

रायपुर। भाजपा द्वारा जारी घोषणा पत्र को कांग्रेस ने जनता को ठगने का नया संकल्प बताया है। प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी को घोषणा पत्र जारी करने के बजाय माफी पत्र देश के मतदाताओं के प्रति अपने वादाखिलाफी के लिये जारी करना चाहिए था। 2014 में भी भाजपा और नरेन्द्र मोदी ने जनता के सामने एक संकल्प पत्र जारी किया था, जिस पर देश की जनता ने भरोसा कर भाजपा के पक्ष में मतदान किया था। सरकार में आने के बाद भाजपा नेताओं ने अपने ही वायदों को जुमला बताकर जन आकांक्षाओं पर कुठाराघात कर दिया था। त्रिवेदी ने कहा कि 2014 में किए गए 125 वादों को भाजपा केन्द्र में पूर्ण बहुमत की सरकार चलाने के बाद भी पूरा नहीं कर सकी। 2014 में हर साल 2 करोड़ रोजगार का वायदा करने वाली भाजपा 5 साल में 10 करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात दूर, 4 करोड़ लोगों की नौकरियां मोदी राज में खत्म हो गईं। 45 साल में बेरोजगारी की दर मोदी राज में सबसे अधिक हो गयी। विगत 70 वर्षों में देश का किसान कभी इतनी बदहाली में नहीं रहा है, जितना विगत 5 वर्षों के मोदी राज में रहा। विदेश से कालाधन लाकर हर के खाते में 15 लाख आने के वायदे पर भाजपा का घोषणा पत्र मुंह छिपाते नजर आ रहा है। भाजपा ने अपने घोषणा पत्र का संकल्प पत्र नाम दिया है। भाजपा के 2014 के घोषणा पत्र काला झूठ था, तो अब 2019 का संकल्प पत्र सफेद झूठ। शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में देश के करोड़ों लोगों के विचारों का समावेश है, जबकि भाजपा के घोषणा पत्र में सिर्फ एक व्यक्ति के 'मन की बात'। अब देश अपने 'मन का फैसला' सुनाएगा।

 

08-04-2019
मतदान समाप्ति के 48 घंटे के दौरान घोषणा पत्र जारी करना प्रतिबंधित 

रायपुर। उच्चतम न्यायालय के दिशा-निर्देश पर भारत निर्वाचन आयोग ने सभी राजनीतिक दलों से चर्चा और विचार-विमर्श के बाद घोषणा पत्र को लेकर नए निर्देश जारी किए हैं। आयोग ने अपने पत्र में कहा है कि राजनीतिक दलों द्वारा कल्याणकारी योजनाओं के संबंध में किए जाने वाले वायदों को लेकर आपत्ति नहीं है, लेकिन दलों को ऐसे वायदों से बचना चाहिए जो मतदाताओं के विवेकपूर्ण, निष्पक्ष और स्वतंत्र परिवेश में मताधिकार के इस्तेमाल को गलत ढंग से प्रभावित करते हों। राजनीतिक दल घोषणा पत्र जारी करने की प्रतिबंधित अवधि यानी मतदान समाप्ति के 48 घंटे के दौरान अब घोषणा पत्र जारी नहीं कर पाएंगे। विभिन्न चरणों में मतदान की स्थिति में यह मनाही प्रत्येक चरण के मतदान की समाप्ति के 48 घंटे के दौरान लागू रहेगी। इसका उल्लंघन अब आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा। आयोग ने सभी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय दलों को पत्र लिखकर नए निर्देशों और प्रावधानों के बारे में सूचित किया है। आयोग ने पत्र में कहा है कि पारदर्शिता, सभी उम्मीदवारों के लिए समान अवसर और वायदों की विश्वसनीयता के लिए घोषणा पत्र से विवेकसम्मत और तर्कपूर्ण वायदों की झलक मिलनी चाहिए। घोषणा पत्र की बातों को पूर्ण करने के तरीकों और इसके लिए वित्तीय व्यवस्था के संकेत भी इसमें हो। मतदाताओं का भरोसा जीतने की कोशिश उन वायदों के आधार पर की जानी चाहिए जिन्हें पूरा किया जाना संभव हो। 

08-04-2019
Pramod Dubey: भाजपा का घोषणा पत्र झूठ का पुलिंदा व ढकोसला मात्र : प्रमोद दुबे

रायपुर। रायपुर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे ने भाजपा के जनघोषणा पत्र को झूठ का पुलिंदा बताते हुए इसे ढकोसला बताया है। उन्होंने कहा कि भाजपा पहले 2014 लोकसभा चुनाव में अच्छे दिन, 2 करोड़ युवाओं को प्रतिवर्ष रोजगार, किसानों की आय का 50 प्रतिशत मुनाफा, विदेशों से कालाधन, महंगाई पर लगाम, भ्रष्टाचारमुक्त सरकार जैसे अनेक वायदों का पहले जवाब दे। भाजपा ने जो वादे किए थे उनमें से 10 प्रतिशत भी पूरे नहीं किए। हर व्यक्ति को 15-15 लाख, किसानों का ऋण माफ, राम मंदिर जैसे वादे सिर्फ  जुमला थे। बीजेपी के अमित शाह भी इस बात को स्वीकार कर चुके हैं। प्रमोद दुबे ने बीजेपी पर जमकर प्रहार करते हुए कहा कि उसकी कथनी और करनी में फर्क है। सोमवार को रायपुर लोकसभा क्षेत्र के ग्राम गुमा और तेंदुआ में जनसंपर्क अभियान के दौरान प्रमोद दुबे ने भाजपा के चरित्र पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिसने रायपुर से अपने सबसे वरिष्ठ नेता का टिकट काट दिया, जो अपने सबसे वरिष्ठ नेताओं का सम्मान नहीं कर सकता वह जनता का क्या सम्मान करेगा? प्रमोद दुबे ने कहा कि भाजपा के प्रत्याशी छत्तीसगढ़ के न होकर राजस्थान के हैं। यह आपको तय करना है कि आपको छत्तीसगढिय़ा को जिताना है या बाहरी प्रत्याशी को। प्रमोद दुबे ने राहुल गांधी के जनघोषणा पत्र की तारीफ  करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा गरीबों के हित में फैसले लिए हैं। जनसंपर्क अभियान के दौरान धरसींवा विधायक  अनिता शर्मा, नारायण कुर्रे, राजेन्द्र पप्पू बंजारे, संजय सिंह ठाकुर, उधो वर्मा, दुर्गेश वर्मा, मंजू वर्मा, कुंरा नगर पंचायत अध्यक्ष कमला गोयल, जिला पंचायत सदस्य संतोषी बंजारे, जयंत साहू, प्रमोद शर्मा, सुरेश जगवानी, प्रमोद तिवारी, प्रेमलाल पाल, मनोज साहू, सतेंद्र तिवारी, मनीष पांडे, उपेंद्र शर्मा, अभिनव दुबे, लोकेश्वरी वर्मा, अनिल बघेल, सेजा बाई, लक्ष्मी साहू सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता व ग्रामीण उपस्थित थे।

08-04-2019
भाजपा के घोषणा पत्र को विधायक अरुण वोरा ने लिया आड़े हाथ 

दुर्ग। लोकसभा चुनाव के प्रचार तेज हो गया है। दुर्ग में कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिमा चंद्राकर चुनावी समर में है। सोमवार को दुर्ग में चुनाव प्रचार के लिए केंद्रीय कार्यालय का शुभारंभ कांग्रेस विधायक अरुण वोरा ने किया। इस अवसर पर अरुण वोरा और प्रतिमा चंद्राकर ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा और कांग्रेस को जीत दिलाने की अपील की। अरुण वोरा ने भाजपा के संकल्प पत्र को आड़े हाथों लिया और कहा कि जिस सरकार ने 5 साल सरकार चलाकर अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया, वो फिर से काॅपी पेस्ट संकल्प दिखाकर देश के जनमानस को गुमराह करने का प्रयास कर रही है। 60 दिनों में ही प्रदेश सरकार ने जनघोषणा पत्र के 36 में से 18 वादों को पूर्ण कर दिया है और सभी बचे वादे पूरा करने की दिशा में तेजी से काम कर रही है। प्रतिमा चंद्राकर ने कहा कि मतदाताओं के आशीर्वाद और कार्यकर्ताओं की मेहनत से ही सफलता मिलती है। उन्होंने कहा कि शहर में विधानसभा के आधे से ज्यादा वार्डों में जनसंपर्क एवं नुक्कड़ सभाएं की जा चुकी हैं। केन्द्रीय कार्यालय के उद्घाटन में जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष आरएन वर्मा सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस के शहर पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

08-04-2019
भाजपा का संकल्प पत्र : दुकानदारों को भी 60 साल की उम्र के बाद मिलेगा पेंशन

 

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रीय अमित शाह की अध्यक्ष में सोमवार को अपना संपकल्प पत्र जारी किया। जिसमें भाजपा ने 75 संकल्पों को शामिल किया गया है। दावा किया गया कि इसे छह करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। इसे संकल्पित ‘भारत, सशक्त भारत’ नाम दिया गया है। 

घोषणा पत्र में भाजपा के वादे

-यूनिफॉर्म सिविल कोड हमारी प्रतिबद्धता अभी भी है और हम इसे करेंगे।
-राष्ट्रवाद के प्रति हमारी पूरी प्रतिबद्धता है। आतंक के प्रति जीरो टॉलरेंस पॉलिसी रहेगी। भारत में होने वाली घुसपैठ को हम सख्ती से रोकेंगे। 
-सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल को हम संसद के दोनों सदनों से पास कराएंगे और उसे लागू करेंगे। लेकिन किसी राज्य की कल्चरल और भाषाई पहचान को बचाएंगे। 
-राम मंदिर के संकल्प को भी हम दोहराते हैं। हमारा प्रयत्न होगा कि राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण हो जाए। 
- किसानों की आय को हम 2022 तक दोगुना करेंगे।
-1 लाख तक जो क्रेडिट कार्ड पर ब्याज मिलता है 5 सालों तक उस पर ब्याज 0% होगा। 
-25 लाख करोड़ रुपए ग्रामीण क्षेत्रों के विकास में खर्च किया जाएगा। 
-राष्ट्रीय व्यापार आयोग बनाया जाएगा जो व्यापारियों और बिजनेसमैन की चिंता करेगा। यह इनएक्टिव नहीं वेरी एफेक्टिव आयोग होगा। यानी हम लघु और सीमांत किसानों के साथ लघु व्यापारियों को नहीं छोड़ सकते। इसलिए दुकानदारों को भी 60 साल की उम्र के बाद पेंशन देंगे।

नहीं दिखे मंच पर आडवाणी-जोशी 

संकल्प पत्र जारी करने के मौके पर भाजपा के मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के अलावा घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, थावरचंद गहलोत और रामलाल मौजूद थे। लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी मंच पर नहीं थे। 2014 और इससे पहले लगभग हर मौकों पर इन दोनों नेताओं की मौजूदगी में ही भाजपा ने लोकसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया था।

04-04-2019
PL Punia : कांग्रेस का घोषणा पत्र विशेषज्ञों से राय लेकर बनाया गया : पीएल पुनिया

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया के मौजूदगी में गुरुवार कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा की कांग्रेस के घोषणा पत्र में न्याय योजना, महिला सुरक्ष, देश की सुरक्षा आदि विषयों पर गहन विचार कर विशेषज्ञों की राय ले कर बनाया गया है। कांग्रेस का घोषणा पत्र देश की आवाज़ है। इस अवसर पर पीएल पुनिया ने कहा की आज विशेष मौका है जब चुनाव की बिगुल बज चुका है और नतीजे मई में आएंगे। इसके पहले सभी दल अपना घोषणा पत्र जारी करते है।

चुनावों के पहले आईसीसी ने भी सभी वर्ग के लोगो से बात कर इसे बनाया है। इसलिए हम कहते है की ये लोगो के मन की बात है। इस घोषणा पत्र को राहुल गांधी ने जारी किया है और आज पूरे भारत में इसे जारी किया जा रहा है। राहुल गांधी ने साफ तौर पर कहा है की हमारा पूरा मैनिफेस्टो न्याय पर आधारित है। हमारी न्याय योजना एक क्रांतिकारी योजना है। इस योजना की घोषणा छतीसगढ़ में पहली बार की गई थी।

न्याय योजना के तहत सभी परिवार को सहायता दिया जाएगा। किसी भी स्कीम में कोई भी कटौती नही की जाएगी। वही भाजपा कहती है की इसके लिए पैसा कहा से आएगा, अगर गरीबों के लिए नियत हो तो पैसे तो आते है। न्याय योजना गरीबी पर वार है। किसानों के भी घोषणा पत्र में जिस प्रकार कर्ज माफ हुआ है वैसे ही दूसरे प्रदेशो में भी होगी माफी, इतना ही नही हम ये चाहते है की ऋण मुक्ति की बात होगी माफी की नहीं, जिससे कभी कर्ज की जरूरत ही नही होगी।

युवाओं के लिए भी घोषणा पत्र में बहुत कुछ है, नए पद सर्जित किये जाएंगे। सरकार बनते ही इस पदों में भर्ती होगी, ये जुमले बाजो की तरह नही है जिसमे नए काम नही मिले बल्कि नोटबन्दी के चलते बहुत लोगो का रोजगार छीन गया। नई सरकार का जब पहला सत्र होगा महिलाओं को आरक्षण दिया जाएगा। आने वाले समय में शिक्षा के लिए क्वालिटी एजुकेशन का प्रावधान किया जाएगा।

03-04-2019
पीएम मोदी ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को कहा ढकोसला पत्र

नई दिल्ली। अरुणाचल प्रदेश के पासीघाट में बुधवार को पीएम मोदी ने चुनावी सभा को संबोधित किया। इसमें उन्होंने कांग्रेस के घोषणापत्र पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि इन लोगों की तरह ही इनका घोषणा पत्र भी भ्रष्ट होता है। बेईमान होता है, ढकोसलों से भरा होता है और इसलिए उसे घोषणापत्र नहीं ढकोसला पत्र कहना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा, 2004 के अपने ढकोसला पत्र में महामिलावटी लोगों ने 2009 तक देश के हर घर में बिजली पहुँचाने का वादा किया था। लेकिन 2014 में जब मैं आया, तब तक देश के 18 हज़ार घर अंधेरे में थे और करोड़ों परिवारों ने बिजली नहीं देखी थी। 2014 में उन्होंने फिर एक वादा किया कि शहरों में शत-प्रतिशत और गांवों में 90 प्रतिशत जगहों तक बिजली पहुंचाएंगे। बता दें कि पीएम मोदी बुधवार को अरुणाचल प्रदेश के अलावा महाराष्ट्र के गोंडला और प. बंगाल में कोलकाता और सिलिगुड़ी में भी चुनाव सभा करने वाले हैं।

22-02-2019
सुकमा फर्जी मुठभेड़ का मामला सदन में गरमाया

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य विधानसभा में शुक्रवार को भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने सुकमा में फर्जी मुठभेड़ का मामला विधानसभा में उठाया। यह मामला बीजेपी विधायक शर्मा ने शून्यकाल के दौरान उठाया। उन्होंने कहा कि सुकमा में चार बच्चों की मां को नक्सल बताकर मार दिया गया। सरकार के मंत्री ने ही इसे फर्जी मुठभेड़ बताकर मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी है। एक निरीह आदिवासी महिला की मौत पर पूरा सदन मौन है। भाजपा विधायक अजय चन्द्राकर ने कहा कि नक्सल नीति को लेकर सरकार की कोई स्पष्ट नीति नहीं है। जन घोषणा पत्र में भी कांग्रेस ने प्रदेश की इस सबसे बड़ी समस्या का जिक्र नहीं किया था। आसन्दी ने इस पर बाद में चर्चा कराने की बात कही। बीजेपी विधायकों ने स्थगन प्रस्ताव ग्राह्य कर चर्चा कराने की मांग की थी।

08-02-2019
कांग्रेस ने घोषणा पत्र से सरकार तो बना ली, लेकिन बजट में पसरा सन्नाटा : डॉ. रेणु जोगी 

रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) विधायक डॉ. रेणु जोगी ने शुक्रवार को बजट पर असंतोष जाहिर करते हुए कहा कि जो वादा कांग्रेस अपने घोषणा पत्र में किया था उसे पूरा नहीं किया है। किसान, मजदूर, स्वास्थ्य, कर्मचारी महिला स्व-सहायता, पेंशन योजना इसमें से किसी को पूरा नहीं किया है। बल्कि कांग्रेस की सरकार ने हमारे शपथ पत्र की कापी की इसके बाद भी इन वादों को पूरा नहीं किया है। बजट में किसानों को समर्थन मूल्य की बात की गई है। जबकि किसानों का कर्ज माफ जिन्होंने सरकारी बैंक से ऋण लिया है, उन्हीं किसानों का कर्जा माफी किया गया है। ऐसे में जनता आज की बजट से संतोष नहीं है। आज की बजट में रसोईयों का केवल तीन सौ रुपए बढ़ाया गया है।

जबकि प्रदेश में कई अस्पताल है, इसमें अभी तक रिक्त पदों पर भर्ती नहीं किया गया है। एएनएम एनएम, डॉक्टर स्टॉफ नर्सो की भर्ती नहीं किया जा रहा है। जनता सरकार की बजट से खुश नहीं हैैं। कांग्रेस ने हमारे शपथपत्र को कॉपी कर सरकार तो बना ली है, लेकिन बजट में सन्नाटा पसरा है। विधायक डॉ. रेणु जोगी ने यह भी कहा कि शराबबंदी को लेकर भी इस बजट में कोई घोषणा नहीं की गई है। छत्तीसगढ़ के इस बजट में युवा वर्ग के लिए किसी प्रकार से प्रवाधान नहीं किया गया है। जबकि युवा वर्गो का इस चुनाव में बड़ा योगदान रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि बजट से पहले विपक्ष की राय नहीं ली गई।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804