GLIBS
10-06-2019
धमतरी पुलिस के 'अंजोर रथ' ने दहदहा एवं नारी में किया ग्रामीणों को  जागरूक 

धमतरी। धमतरी पुलिस के 'अंजोर रथ' ने आज चौथे दिन थाना कुरुद के ग्राम दहदहा एवं नारी में ग्रामीणों के बीच चौपाल लगाकर लोगों को जागरूक किया। चौपाल में लोगों को मोबाइल एवं ऑनलाइन से होने वाली धोखाधड़ी से सावधान रहने एवं  साइबर क्राइम, चिटफण्ड कंपनी के झांसा में न आने के संबंध में बताया गया। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धमतरी, अनु. अधिकारी पुलिस कुरुद, थाना प्रभारी कुरुद एवं ग्राम दहदहा एवं नारी के सरपंच उत्तम शर्मा ग्राम पटेल सहित उनि. शांता लकड़ा, सउनि.सोरी, प्रआर. अनिल यदु, थाना कुरुद के अधिकारी-कर्मचारी व ग्राम दहदहा एवं नारी के लोग लगभग 300-400 के संख्या में उपस्थित थे। नारी के सरपंच उत्तम शर्मा ने इस कार्यक्रम का सराहना करते हुए धमतरी पुलिस का आभार प्रदर्शन करते हुए शुभकामनाएं दीं। बता दें कि धमतरी पुलिस द्वारा तैयार 'अंजोर रथ' के माध्यम  गांव के लोगों को जागरूक किया जा रहा है। साथ ही किसी भी व्यक्ति की समस्या अथवा शिकायत पर यथासंभव निराकरण किया जा रहा है। 

21-05-2019
ग्रामीणों को चिटफंड कंपनी से दूर रहने के लिए किया गया जागरुक

धमतरी। थाना मगरलोड क्षेत्र अंतर्गत ग्राम करेली छोटी में जन चेतना जन सुरक्षा "जनमित्र"  सामुदायिक पुलिसिंग कर ग्रामीणों को एटीएम फ्रॉड, चिट फंड कंपनी से दूर रहने के लिए जागरुक किया गया। इसमें फेरी वाले, सोने चांदी साफ सफाई करने वाले, एटीएम फ्रॉड करने वाले से दूर रहने तथा गांव में दिखने से तत्काल थाना में सूचना देने को कहा गया। इसके अलावा यातायात नियमों का पालन करने, हेलमेट लगाकर सुरक्षित वाहन चलने की ग्रामीणों को समझाइश दी गई। युवा वर्ग एवं स्कूली छात्रों को मोबाइल फोन से दूर रहने हिदायत भी दी गई ताकि परीक्षाओं में उच्च अंक अर्जित कर सके। 

13-05-2019
उपभोक्ता फोरम ने दिया विद्युत वितरण कंपनी को 40 लाख मुआवजे का आदेश

रायगढ़। रायगढ़ जिले में अलग-अलग घटनाओं में करंट से महिला और युवक की मौत के मामले में उपभोक्ता फोरम ने परिजनों को 39.50 लाख रूपए क्षतिपूर्ति देने का आदेश दिया है।

अधिवक्ता सुभाष पटेल ने बताया कि रायगढ़ जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम ने विद्युत वितरण कंपनी की लापरवाही के कारण कंरट लगने से रामशिला सिदार (29 वर्ष) और शत्रुघन चौहान की मृत्यु होने पर रामशिला के पति को 19.75 लाख रुपए और चौहान की पत्नी को 19.75 लाख रुपए क्षतिपूर्ति देने का आदेश दिया है।

अधिवक्ता पटेल ने बताया कि रामशिला सिदार के पति सुरेन्द्र सिदार ने तथा शत्रुघन चौहान की पत्नी जानकी चौहान ने 20—20 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति के लिए उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986 की धारा 12 के तहत यह परिवाद इस वर्ष 14 मार्च को फोरम में प्रस्तुत किया था।

इस परिवाद में आवेदकों ने छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी मर्यादित के बरमकेला स्थित कनिष्ठ यंत्री, रायगढ़ जिले के अधीक्षण यंत्री और प्रदेश के मुख्य अभियंता को पक्षकार बनाया था।

अधिवक्ता पटेल ने बताया कि दोनों आवेदकों ने बिजली विभाग में लगातार अलग अलग शिकायतें की थी। शिकायतों के बावजूद बिजली विभाग ने सुधार नहीं किया।

 

15-04-2019
Arrest:  ग्राहक के क्रेडिट कार्ड से पौन 2 लाख की ठगी, आरोपी गिरफ्तार 

रायपुर। ग्राहक के क्रेडिट कार्ड से पौने 2 लाख रुपए आहरण करने के मामले में खमतराई पुलिस ने बजाज फायनेंस कंपनी के एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। खमतराई थाना प्रभारी यदुमणि सिदार ने बताया कि शिवानंद नगर निवासी रमेश जाटवार पेशे से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर है। रमेश सिलतरा के गोदावरी फैक्ट्री में काम करता है। रमेश ने बजाज फायनेंस में फिल्प कार्ड के लिए अप्लाई किया था और अप्लाई करने के बाद उसके बजाज फायनेंस कंपनी के कर्मचारी का कॉल आया। उक्त कर्मचारी ने कहा कि फ्लिप कार्ड के लिए अपनी बायोडाटा दो इसके बाद आरोपी ने उसके बारे में पूरी जानकारी लेने के बाद उसके घर पहुंचा और फिल्प कार्ड से संबंधित वाऊचर के बारे में व फायदे के बारे में बताया। इस दौरान आरोपी ने धोखे से रमेश के खाते में से पैसा अपने खाते में ट्रांजेक्शन करवा लिया। रमेश की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी शेख नसीम को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।                           

11-04-2019
भोपाल में छापों का दौर, आज ईओडब्ल्यू के निशाने पर रही ऑस्मो आईटी सॉल्यूशन प्रालि कंपनी 

भोपाल। भोपाल इन दिनों छापों को लेकर सुर्खियों में है। कुछ दिन पहले आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में आयकर विभाग की टीम के छापे के बाद अब ई-टेंडर घोटाले की जांच के सिलसिले में छापे पडऩे शुरू हो गए हैं। ईओडब्ल्यू की टीम ने आज भोपाल में ऑस्मो आईटी सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के ऑफिस पर छापा मारा है। कंपनी का कार्यालय भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मुख्यालय के सामने मानसरोवर कॉम्प्लेक्स में है। ईओडब्ल्यू की टीम ने पूरे कार्यालय को भी अपने कब्जे में ले लिया। जानकारी के अनुसार ऑस्मो आईटी सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के संचालकों पर पहले ही प्राथमिकी दर्ज हो चुकी है। इस कंपनी पर ई-टेंडर के संचालन की जिम्मेदारी थी। कंपनी प्रोसेस का काम भी देखती थी कि टेंडर के लिए कौन आ रहा है। ई-टेंडर प्रोसेस करने का लॉग इन पासवर्ड ऑस्मो कंपनी के पास ही था। साथ ही टेंडर की गोपनीयता की जवाबदारी भी इसी के पास थी। आरोप है कि यहीं ई-टेंडर में टेंपरिंग की गई। ईओडब्ल्यू अब यहां का रिकॉर्ड  खंगालकर घोटाले से जुड़े तकनीकी साक्ष्य जुटाने का प्रयास करेगी। ज्ञात हो कि शिवराज सरकार में हुए तीन हजार करोड़ के इस घोटाले में बुधवार को ही एफआईआर दर्ज की गई है।

21-02-2019
Arrest: दगाबाज दोस्त मोबाइल और 40 हजार नगदी लेकर हुआ फरार, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

 कोरबा। साथ में काम करने वाले एक युवक ने अपने ही साथी का मोबाइल और 40 हजार नगदी लेकर फरार हो गया। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी को पंडरिया से गिरफ्तार किया है। मामला बाकी मोगरा थाना का जहां पीड़ित सिकंदर कुमार का 2 मोबाइल और बैग पर रखे 40 हजार रुपये अपने ही साथ मे काम करने वाला राजकुमार सिंह ठाकुर का चोरी कर फरार हो गया। पीड़ित इसकी शिकायत करने पुलिस के पास जा पहुंचा। जहां पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मोबाइल लोकेशन के आधार पर राजकुमार ठाकुर के ग्राम पंडरिया उसके घर पर दबिश दी और पकड़ा। आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसने शराब के नशे में ये घटना को अंजाम दिया था। बाकीमोगरा थाना प्रभारी केसर पराग ने बताया कि आरोपी और पीड़ित एक कंपनी में साथ में ही काम करते हैं।

06-02-2019
4 प्रकरणों में जिला उपभोक्ता फोरम ने दिया फैसला

दुर्ग। मासिक आरडी खाता खुलवाने के बाद उसमें लगातार रकम जमा करने पर भी परिवक्वता तिथि पर कंपनी द्ववारा परिवादी को राशि नहीं लौटाने पर सभी परिवादियों ने जिला उपभोक्ता फोरम में वाद दायर किया था। फोरम के सदस्य राजेन्द्र पाध्ये एवं लता चंद्राकर ने परिवादियों के पक्ष में फैसला सुनाया। सेक्टर 2 ए मार्केट भिलाई स्थित सहारा क्रेडिट कापरेटिव सोसायटी द्वारा मासिक आरडी की योजना निकाली गई थी। जिसमें परिवादीगण ने लाखों रुपए मासिक किस्त के रूप में जमा किए थे। जब परिवक्वता तिथि आई तब परिवादियों ने कंपनी के प्रबंधक से संपर्क कर आवेदन पत्र, पास बुक की मूल प्रति, आधार कार्ड व पेन कार्ड की छाया प्रति, विड्राल स्लिप सहित अन्य दस्तावेज कंपनी में जमा कर दिए थे। इसके बाद भी कंपनी के प्रबंधक द्वारा रकम वापस करने में टालमटोल किया जाता रहा। कंपनी द्वारा फोरम में भी नोटिस का कोई जवाब प्रस्तुत नहीं किया गया था।

इन परिवादियों को मिली राहत

1. दीपक कुमार गुप्ता निवासी सेक्टर 6 ए मार्केट को मूल परिपक्वता राशि 2,04,369 रुपए, 25 हजार मानसिक क्षतिपूर्ति, 5 हजार वाद व्यय।
2. दूसरे आरडी जमा पर दीपक कुमार गुप्ता को राशि 2,04,369 रुपए, मानसिक क्षतिपूर्ति के एवज में 25 हजार एवं वाद व्यय खर्च 5 हजार रुपए।
3. राकेश कुमार गुप्ता निवासी वार्ड 3 सुपेला को मूल परिपक्वता राशि 2,80,245 रुपए, मानसिक क्षतिपूर्ति के 30 हजार, वाद व्यय खर्च के 5 हजार।
4. श्रीमती कमला गुप्ता निवासी न्यू कृष्णा नगर को राशि 1,35,050 रुपए, मानसिक क्षतिपूर्ति के 15 हजार एवं वाद व्यय खर्च के 5 हजार रुपए दिए जाने का आादेश फोरम द्वारा दिया गया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804