GLIBS
22-01-2019
Compost Manure: गीले कचरे से बनी खाद का विक्रय, लोगों ने जाना कंपोस्ट खाद की गुणवत्ता व उपयोगिता

भिलाई। नगर निगम भिलाई 3 के नूतन चौक स्थित सामुदायिक भवन में मंगलवार को पटेल समाज के वार्षिक अधिवेशन में गीले कचरे से निर्मित खाद बेचने के लिए निगम की ओर समाज के लोगों को प्रेरित कर कार्यक्रम स्थल में ही 290 किलो खाद विक्रय किया गया। निगम अधिकारियों ने डोर टू डोर कचरा कलेक्शन से प्राप्त गीले कचरे से निर्मित खाद की गुणवत्ता एवं उपयोगिता के संबंध में उपस्थितजनों को विस्तार से बताया। विदित हो कि कंपोस्ट पद्धति से निर्मित जैविक खाद की कीमत बाजार में उपलब्ध खाद से बेहद कम है। अधिक मात्रा में क्रय करने पर निगम द्वारा घर पहुंच सेवा भी मुहैया कराया जा रहा है। 

कार्यक्रम में उपस्थित भिलाई-चरौदा निगम आयुक्त चंदन शर्मा ने बताया कि पटेल (मरार) समाज के अधिकांश लोग सब्जी उत्पादन से जुड़े हुए है। इसमें जैविक खादों के उपयोग से एक ओर किसान पौष्टिक फलों एवं सब्जियों के उत्पादन में बम्फर वृद्धि कर सकते हैं वहीं दूसरी ओर इससे वे अपने शहर को स्वच्छ बनाने में भी अपना योगदान दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि केवल 5 रुपए प्रति किलो के दर पर उपलब्ध इस खाद से घरेलू बागवानी तथा गार्डनिंग में भी बेहतर परिणाम आ रहे हैं। 

11-01-2019
Anganwadi: सामुदायिक भवन को आंगनबाड़ी बनाने का विरोध

भिलाई नगर। वार्ड क्रमांक 6 शंकर पारा सुपेला के सामुदायिक भवन को आंगनबाड़ी बनाए जाने के प्रस्ताव को निरस्त करने की मांग को लेकर उडिय़ा जन जागृति महिला विकास समिति के सदस्य विरोध करते हुए निगम आयुक्त एसके सुंदरानी से मिले। उन्होंने कहा कि उक्त सामुदायिक भवन में शादी, नामकरण, जन्मदिन उत्सव, मृत्यु भोज के कार्यक्रम सहित अन्य कार्यक्रम होते रहे हैं। यहां स्वयं सहायता समूह के भी कई कार्य संचालित होते रहते हैं। भवन उडिय़ा जन जागृति महिला विकास समिति के नाम पर पंजीकृत है।

इस भवन में गरीब वर्ग के लोगों को स्वरोजगार के तहत विविध कला कौशल के प्रशिक्षण भी दिए जाते रहे हैं। ऐसे भवन में  आंगनबाड़ी संचालित होगा तो आसपास के गरीब वर्ग के लोग शादी-विवाह के लिए स्थल से वंचित हो जाएंगे। वार्डवासी केशव चौबे ने बताया कि इस भवन को लोगों के लिए ही सुरक्षित रखा जाए। आंगनबाड़ी के लिए और भी भवन उपलब्ध है। उक्त भवनों को आंगनबाड़ी का रूप दिया जा सकता है। आयुक्त एसके सुंदरानी ने जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804