GLIBS
16-07-2019
पीएम मोदी ने ‘गुरु पूर्णिमा’ पर गुरुओं के प्रति श्रद्धा जताई 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ‘गुरु पूर्णिमा’ के अवसर पर शिक्षकों, गुरुओं और मार्गदर्शकों के प्रति श्रद्धा व्यक्त की।
पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘गुरु पूर्णिमा के शुभ अवसर पर हम अपने सभी गुरुओं के प्रति श्रद्धा प्रकट करते हैं जिन्होंने हमारे समाज को प्रेरित करने और आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। ‘गुरु पूर्णिमा’ हिंदू धर्म का एक आध्यात्मिक पर्व है और जो आध्यात्मिक और अकादमिक शिक्षकों के प्रति समर्पित है। इस दिन को भारत, नेपाल और भूटान में हिंदू, जैन और बौद्ध धर्म के लोग त्योहार के रूप में मनाते हैं।

06-07-2019
केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने की भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरूआत 

रायपुर। देश भर में भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरूआत शनिवार से हो रही है। पीएम मोदी ने वाराणसी से सदस्यता अभियान की शुरूआत की है। वही प्रदेश इस अभियान की शुरूआत करने केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत पहुंचे है। उन्होंने शनिवार को शहीद स्मारक भवन में सदस्यता अभियान की शुरुआत की। इस अवसर पर पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल , भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी उपस्थित थे। भाजपा का सदस्यता अभियान संगठन पर्व के रूप में शुरू हो रहा है। इस अवसर पर थावरचंद गहलोत ने कहा कि भाजपा देश की सबसे बड़ी पार्टी है और 11 करोड़ कार्यकर्ता है। इसमें 20 प्रतिशत कार्यकर्ताओ को बढ़ाने की लक्ष्य है।

केंद्र से लेकर प्रदेश, जिला और बूथ तक कार्यकर्ताओं को जोड़ना है। उन्होंने कहा कि नगरीय चुनाव में 20 प्रतिशत कार्यकर्ताओं की बढ़ोत्तरी से लाभ होगा। मिस्डकॉल से सदस्य बनाये जाने के सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमने मिसकॉल की पद्धति अपनाई थी अगर कांग्रेस के लोग भाजपा के सदस्य बनते हैं तो इसमें उनको चिंता करना चाहिए। उन्होंने कहा कि नगरीय निकाय चुनाव के परिणाम लोकसभा की तरह भाजपा के पक्ष में होगा।

06-07-2019
पेशेवर निराशावादियों से सतर्क रहें, समाधान देने की जगह संकट में डाल सकते हैं : पीएम मोदी

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। उन्होंने भाजपा से लोगों को जोड़ने के लिए एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया। प्रधानमंत्री ने आने वाले समय में भारत की 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने पर कहा- पेशेवर निराशावादियों से सतर्क रहें। वे समाधान देने की जगह संकट में डाल सकते हैं। इससे पहले मोदी ने एयरपोर्ट पर उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की कांस्य मूर्ति का अनावरण किया। इसके बाद उन्होंने हरहुआ गांव में पौधरोपण अभियान की शुरूआत की। इसके तहत 27 लाख पौधे लगाए जाएंगे। दोबारा प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद यह उनका दूसरा बनारस दौरा है।

वृक्षारोपण का अभियान योगीजी के नेतृत्व में शुरू हुआ
मोदी ने कहा- यह संयोग हैं कि भाजपा का सदस्यता कार्यक्रम अमरत्व पात्र हमारी काशी में हो रहा है। यानी एक त्रिवेणी बनी है। काशी और देशभर के कार्यकतार्ओं को सफल अभियान के लिए शुभकामनाएं देता हूं। मुझे एयरपोर्ट पर स्वर्गीय लालबहादुर शास्त्री जी की प्रतिमा का अनावरण करने का मौका मिला। उसके बाद वृक्षारोपण का बहुत बड़ा अभियान योगीजी के नेतृत्व में आरंभ हुआ है।

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने को लेकर कोई शक नहीं
प्रधानमंत्री ने कहा- एक बहुत बड़े लक्ष्य पर आपसे और प्रत्येक देशवासी से बात करना चाहता हूं। यह लक्ष्य सिर्फ सरकार का नहीं है। यह लक्ष्य हर भारतीय का है। कल आपने बजट में और उसके बाद टीवी पर चचार्ओं में और आज अखबारों में एक बात पढ़ी सुनी देखी होगी। चारों तरफ एक शब्द गूंज रहा है। वह है 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी। आखिर इसका मतलब क्या है। यह आपके लिए जानना और घर-घर जाकर बताना भी जरूरी है। कुछ लोग हैं जो हम भारतीयों के सामर्थ्य पर शक कर रहे हैं। वे कह रहे हैं कि भारतीयों के लिए यह लक्ष्य हासिल करना बहुत मुश्किल है। साथियों जब यह बात सुनता हूं तो काशी के बेटे के मन में कुछ अलग ही भाव जगते हैं। मैं यही कहना चाहता हूं कि वो जो सामने मुश्किलों का अंबार है। उसी से तो मेरे हौसलों की मीनार है। चुनौतियों को देखकर घबराना कैसा, इन्हीं में तो छिपी संभावना अपार है। विकास के यज्ञ में परिश्रम की महक है। यही तो मां भारती का अनुपम श्रृंगार है। गरीब-अमीर बने नए हिंद की भुजाएं हैं। बदलते भारत की यही तो पुकार है। देश पहले भी चला और आगे भी बढ़ा अब न्यू इंडिया दौड़ने को बेताब है। दौड़ना ही तो न्यू इंडिया का सरोकार है।

केक जितना बड़ा होगा, उतना ज्यादा लोगों को मिलेगा
मोदी ने कहा- 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी का मतलब होता है 5 लाख करोड़ डॉलर। आज हमारी अर्थव्यवस्था का जो आकार है उसका लगभग दोगुना। मैं खुद अर्थशास्त्री नहीं हूं। मुझे इसका अ भी नहीं आता। लेकिन जिस लक्ष्य की मैं आपसे बात कर रहा हूं उससे आपका उत्साह बढ़ेगा। यही मुसीबतों से मुक्ति का मार्ग है। अंग्रेजी में कहावत होती है कि साइज आॅफ द केक मैटर्स। यानी जितना बड़ा केक होगा, उतना ज्यादा लोगों को मिलेगा। इसी लिए हमने भारत की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर बनाने का लक्ष्य रखा है। अर्थव्यवस्था जितनी बड़ी होगी, उतनी ही लोगों की आमदनी बढ़ेगी और जीवनशैली में परिवर्तन होगा। आप दूसरे देश को देखेंगे तो पता चलेगा कि वहां भी प्रतिव्यक्ति आय ज्यादा नहीं होती थी। लेकिन एक समय आया, जब इन देशों में प्रतिव्यक्ति ज्यादा हो गई। यह वह समय था जब देश विकासशील से विकसित देशों की श्रेणी में आ गए। भारत अब लंबा इंतजार नहीं कर सकता। भारत जब सबसे युवा देश है तो यह लक्ष्य भी मुश्किल नहीं है। जब किसी देश में प्रतिव्यक्ति आय बढ़ती है तो वह खरीद क्षमता बढ़ाती है। जब क्षमता बढ़ती है, डिमांड बढ़ती है। इसी से सर्विस बढ़ती है और रोजगार के मौके बनते हैं।

बजट में 10 साल का विजन
मोदी ने कहा- हमारे दिमाग में गरीबी एक वर्च्यू बन गया है। हम बचपन में सत्यनारायण की कथा सुनते थे, उसकी शुरूआत एक गरीब ब्राह्मण से होती है। यानी शुरूआत ही गरीबी से होती थी। कल जो बजट प्रस्तुत किया गया, उसमें सरकार ने यह नहीं कहा कि इसमें इतना दिया गया। 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य को भारत कैसे प्राप्त कर सकता है। यह हमने दिखाया और बताया कि आने वाले 10 साल के विजन के साथ हम मैदान में उतरे हैं। उसका एक पड़ाव है ये पांच साल। आज देश खाने-पीने के मामले में आत्मनिर्भर है तो इसके पीछे देश के किसानों का सतत परिश्रम है। अब हम किसानों को उत्पादक से आगे एक्सपोर्टर के रूप में देख रहे हैं। हमारे पास निर्यात की क्षमता है। फूड प्रोसेसिंग से लेकर मार्केटिंग तक के लिए निवेश बढ़ाया गया है।

पेशेवर निराशावादियों से सतर्क रहें
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- कुछ लोग कहते हैं कि यह क्यों किया जा रहा है, वो क्यों किया जा रहा है। ऐसे लोग प्रोफेशनल पेसिमिस्ट यानी पेशेवर निराशावादी होते हैं। उदाहरण के तौर पर जब आप इनके पास कोई समस्या लेकर जाएंगे तो वे आपको समाधान की जगह संकट में डाल देंगे। समाधान को संकट में कैसे बदलना है, यह निराशावादी की पहचान होती है। 5 ट्रिलियन डॉलर के लक्ष्य के लिए सकारात्मकता भरना यह भी तो लोगों की जिम्मेदारी है। गंभीर से गंभीर बीमारी की स्थिति में भी डॉक्टर मरीज का उत्साह बढ़ाता है। क्योंकि अगर पेशेंट उत्साह से भर जाएगा तो बीमारी को परास्त कर सकता है। देश को निराशावादी लोगों से सतर्क रहने की जरूरत है। हम यह चर्चा कर सकते हैं कि मोदी जो बता रहे हैं वो ठीक है या नहीं और चर्चा करते हुए नए सुझाव भी देने चाहिए। लेकिन 5 ट्रिलियन का लक्ष्य नहीं होना चाहिए। इतना बड़ा लक्ष्य नहीं रखना चाहिए। इससे बचना चाहिए। देश के विद्वानों की राय हमारे लिए अहम है।

पिछली बार 27 मई को आए थे मोदी
लोकसभा चुनाव के बाद मोदी का अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में यह दूसरा दौरा होगा। इससे पहले वह 27 मई को शहर के मतदाताओं को भारी मतों से विजयी बनाने के लिए धन्यवाद देने आए थे। शनिवार के कार्यक्रम के मद्देनजर हरहुआ प्राथमिक विद्यालय की दीवारों पर पर्यावरण से जुड़ी पेंटिंग बनाई गई हैं। 

पहले कार्यकाल में 19 बार किया था काशी का दौरा
मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में 19 बार वाराणसी आए। इस दौरान उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत की और कई बार काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन भी किए।

06-07-2019
पीएम मोदी ने वाराणसी एयरपोर्ट पर शास्त्री की मूर्ति का किया अनावरण

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार सुबह अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। एयरपोर्ट पर उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की मूर्ति का अनावरण किया। दोबारा प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद यह उनका दूसरा बनारस दौरा है। वे यहां पौधरोपण और पार्टी के सदस्यता अभियान की शुरूआत भी करेंगे। 

काशी क्षेत्र के भाजपा मीडिया पदाधिकारी सोमनाथ ने बताया कि मोदी एयरपोर्ट से सीधे हरहुआ गांव पहुंचेंगे। यहां पंच कोसी मार्ग पर आनंद कानन नव ग्रह वाटिका (प्राथमिक विद्यालय) में पौधरोपण कार्यक्रम में शामिल होंगे। स्कूल की नवग्रह वाटिका में मोदी के साथ 20 बच्चे भी पौधे लगाएंगे। इसके बाद हस्तकला संकुल बड़ालालपुर के लिए रवाना होंगे। यहां करीब 3 हजार लोगों को सदस्यता अभियान के तहत पार्टी से जोड़ेंगे। मोदी हस्तकला संकुल में 50 वृक्षमित्रों से भी मुलाकात करेंगे। मोदी मान महल घाट पर स्थित आभासीय संग्रहालय भी जा सकते हैं। 10 करोड़ रु. की लागत से बने इस संग्रहालय में शहर के खान-पान, पहनावे, त्योहार को डिजिटल दशार्या गया है।

पिछली बार 27 मई को आए थे मोदी

लोकसभा चुनाव के बाद मोदी का अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में यह दूसरा दौरा होगा। इससे पहले वह 27 मई को शहर के मतदाताओं को भारी मतों से विजयी बनाने के लिए धन्यवाद देने आए थे। शनिवार के कार्यक्रम के मद्देनजर हरहुआ प्राथमिक विद्यालय की दीवारों पर पर्यावरण से जुड़ी पेंटिंग बनाई गई हैं। 

पहले कार्यकाल में 19 बार किया था काशी का दौरा

मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में 19 बार वाराणसी आए। इस दौरान उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत की और कई बार काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन भी किए।

05-07-2019
सीएम बघेल ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर वन संरक्षण अधिनियम में संशोधन का किया आग्रह 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के वन क्षेत्रों के निवासियों के जीवन स्तर में सुधार और खुशहाली लाने के उद्देश्य से इन क्षेत्रों में लघु वनोपज प्रसंस्करण, कृषि प्रसंस्करण एवं खाद्य प्रसंस्करण से संबंधित ऐसे सूक्ष्म एवं लघु औद्योगिक इकाइयों, जिनमें किसी प्रकार का प्रदूषण नहीं होता हो, की स्थापना के लिए वन संरक्षण अधिनियम में आवश्यक संशोधन करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने ऐसे कार्यों को वानिकी गतिविधियों में शामिल करने का आग्रह करते हुए कहा है कि इससे वन क्षेत्रों में ऐसे प्रसंस्करण उद्योगों की बड़ी संख्या में स्थापना का मार्ग प्रशस्त हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में कहा है कि कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के कारण वन क्षेत्रों के निवासियों को  निर्बाध विद्युत आपूर्ति' सुनिश्चित करना अत्यंत कठिन कार्य है। बिना ऊर्जा के किसी भी समुदाय की आर्थिक प्रगति संभव नहीं है। इस समस्या के निराकरण के लिए यह आवश्यक है कि वन क्षेत्रों में एक से 5 मेगावाट क्षमता के सौर संयंत्र परियोजनाओं की स्थापना हेतु अनुमति प्रदान की जाए। इसके लिए  नवीन एवं नवीकरण ऊर्जा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा वन-क्षेत्रों में गुणवत्तायुक्त विद्युत आपूर्ति हेतु विशेष कार्ययोजना तैयार की जाए। उन्होंने इसके लिए भी 'वन संरक्षण अधिनियम' के प्रावधानों में संशोधन करने तथा सौर ऊर्जा परियोजनाओं को 'हरित गतिविधि' मान्य करने का आग्रह किया है। 
मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में लिखा है कि छत्तीसगढ़ राज्य के कुल भू-भाग का 44 प्रतिशत भाग वनों से आच्छादित है। छत्तीसगढ़ को 'हरित प्रदेश' अथवा सम्पूर्ण देश को शुद्ध वायु आपूर्ति करने वाले राज्य होने का गौरव प्राप्त है। लेकिन वनों के आधिक्य के कारण वन क्षेत्रों के निवासियों का जीवन अत्यंत कठिन है।  इन क्षेत्रों में 'वन अधिनियम' एवं 'वन संरक्षण अधिनियम' के कड़े प्रावधानों के कारण कृषि, व्यापार, उद्योग, सेवा क्षेत्र, संचार एवं परिवहन गतिविधियों का प्रसार अत्यंत सीमित है। इससे वन क्षेत्रों के निवासियों की आय में वृद्धि, गरीबी में कमी एवं जीवन स्तर में वृद्धि एक चुनौतीपूर्ण लक्ष्य बन चुका है। उन्होंने कहा कि राज्य के चिन्हांकित 10 आकांक्षी जिलों में से 9 जिलों के अधिकांश भागों में वन हैं। वन क्षेत्रों के निवासियों के जीवन में खुशहाली लाना राज्य सरकार का नैतिक दायित्व है, लेकिन इसमें केन्द्र सरकार का पूर्ण  सहयोग भी अत्यंत आवश्यक है।

30-06-2019
नई सरकार में पहली बार आज करेंगे पीएम मोदी ‘मन की बात’

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह 11 बजे 'मन की बात' करेंगे। नई सरकार में यह उनका पहला 'मन की बात'  कार्यक्रम होगा। चार महीने बाद वह इस कार्यक्रम के जरिए देशवासियों से मुखातिब होंगे। देशभर में भाजपा बूथ स्तर के कार्यालय में पीएम मोदी के इस संबोधन का लाइव प्रसारण होगा। वहीं, गृह मंत्री अमित शाह द्वारका के ककरोला स्टेडियम में इस कार्यक्रम को सुनेंगे। पिछली बार यह कार्यक्रम  24 फरवरी को प्रसारित किया गया था, जिसमें पीएम मोदी ने लोकसभा चुनावों को लेकर यह कार्यक्रम स्थगित किए जाने की घोषणा की थी। साथ ही उन्होंने सत्ता में वापसी का आश्वासन देते हुए मई के अंतिम सप्ताह से एक बार फिर कार्यक्रम शुरू करने की बात कही थी। 

मालूम हो कि भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाला एनडीए गठबंधन पूरी ताकत के साथ सत्ता में वापस आया है। भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए लोकसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में लौटा है और  30 मई को नरेंद्र मोदी ने दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी। अपने पहले शासनकाल में पीएम मोदी ने 53 बार मासिक कार्यक्रम के जरिए राष्ट्र को संबोधित किया था।

अंतिम प्रोग्राम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि स्वस्थ लोकतांत्रिक परंपराओं को ध्यान में रखते हुए इस प्रोग्राम को कुछ समय के लिए रोक रहे हैं। अब पीएम मोदी ने ट्वीट कर मन की बात कार्यक्रम के दोबारा शुरू होने की घोषणा की। पीएम मोदी ने लिखा कि सकारात्मकता की शक्ति और 130 करोड़ भारतीयों की ताकत का जश्न मनाने चार महीने बाद मन की बात एक बार फिर वापस आ रहा है।

28-06-2019
जी-20: पीएम मोदी ने ईरान, 5जी, द्वीपक्षीय और रक्षा सहित चार विषयों पर की चर्चा

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी जीत पर ट्रंप की बधाई का जिक्र किया और उनका शुक्रिया अदा किया। ट्रंप से मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने चार मुद्दों का जिक्र किया, जिस पर अमेरिका के साथ चर्चा होने वाली है।

पीएम मोदी ने कहा कि आपने जीत की बधाई दी, आपका भारत के प्रति प्यार है, उसके लिए आभारी हूं। समय की सीमा में जो चार विषयों पर चर्चा करना चाहूंगा वो हैं, ईरान, 5जी, द्वीपक्षीय और रक्षा संबंध।

अमेरिका-भारत द्विपक्षीय वार्ता के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि एस-400 मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई। ईरान को लेकर प्राथमिक तौर पर ध्यान में यह बात पर थी कि हम वहां स्थिरता कैसे सुनिश्चित करते हैं, क्योंकि अस्थिरता हमें कई तरह से प्रभावित करती है, न केवल ऊर्जा जरूरतों के मामले में, बल्कि खाड़ी में बड़े पैमाने पर प्रवासी भारतीय रहते हैं।

27-06-2019
130 करोड़ भारतीयों ने बनाई है पहले से मजबूत सरकार : पीएम मोदी

नई दिल्ली।  जी-20 सम्मेलन में भाग लेने जापान पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां कोबे में लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि मैं सात महीने बाद फिर यहां आकर भाग्यशाली हूं। यह संयोग है कि जब पिछली बार मैं यहां आया था और आपने मेरे मित्र शिंजो आबे में अपना विश्वास दिखाया था। आज जब मैं यहां हूं, दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र ने इस प्रधान सेवक पर और भरोसा दिखाया है।  प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 130 करोड़ भारतीयों ने पहले से मजबूत सरकार बनाई है। यह बड़ी बात है। तीन दशक के बाद, पहली बार, पूर्ण बहुमत के साथ लगातार दूसरी बार सरकार बनी है। उन्होंने कहा कि सबका साथ, सबका विकास और उसमें लोगों ने अमृत मिलाया सबका विश्वास। हम इस मंत्र के साथ आगे बढ़ रहे हैं। भारत मजबूत बनेगा। पीएम मोदी ने कहा कि जब दुनिया के साथ भारत के संबंधों की बात होती है तो जापान इसमें महत्वपूर्ण स्थान रखता है। ये संबंध आज के नहीं है बल्कि सदियों से बने हुए हैं। इन संबंधों में एक-दूसरे की संस्कृति को लेकर सम्मान और सामंजस्यता है। 

 

25-06-2019
राष्ट्रपति के अभिभाषण पर आज जवाब देंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली। लोकसभा में मंगलवार को भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा जारी रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार शाम को लोकसभा राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देंगे। आपको बता दें कि अभिभाषण पर चर्चा के दौरान लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया, हालांकि बाद उन्होंने माफी मांगते हुए कहा कि हिंदी अच्छी नहीं होने के कारण वह ऐसा बोल बैठे।

24-06-2019
गुलाम नबी आजाद ने पीएम मोदी से पूछा- प्रज्ञा ठाकुर पर कार्रवाई क्यों नहीं  

नई दिल्ली। राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बचाने के लिए बीजेपी पर हमला किया है। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि एक ओर तो बीजेपी गांधीजी के जन्म की 150वीं जयंती मनाने जा रही है, लेकिन साथ ही जिस शख्स ने सार्वजनिक रूप से बापू के हत्यारे की तारीफ की उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। ये कैसे संभव है, और कोई इसे कोई कैसे डिफेंड कर सकता है? गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस साल हम बापू का 150वां जन्मदिन मना रहे हैं, ये गौरव की बात है। साथ ही साथ मुझे अफसोस होता है कि जिस साल हम बापू की 150वीं जयंती मना रहे हैं उसी साल सत्ताधारी पार्टी से कुछ ऐसे सांसद चुनकर आ रहे हैं, जो गांधी के हत्यारों की सराहना कर रहे हैं। एक कैंडिडेट ने कहा कि जिस शख्स ने बापू को मारा वो देशभक्त था। उस शब्द को दोहराते हुए मेरी जुबान जल जाएगी. बीजेपी का कैंडिडेट ये कहे कि गांधी को मारने वाला देशभक्त था। मेरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शिकायत है कि आपको उसी वक्त पार्टी से उसे डिसमिस कर देना चाहिए था और कहना चाहिए था कि ये हमारा कैंडिडेट नहीं है। बता दें कि आजाद मध्य प्रदेश के भोपाल से चुनी गई सांसद साध्वी प्रज्ञा का जिक्र कर रहे थे। साध्वी ने कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को मात दी है। लोकसभा चुनाव के दौरान यह विवादित बयान दिया था। इस बयान के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वह ऐसा बयान देने वालों को कभी मन से माफ  नहीं कर पाएंगे।  

 

24-06-2019
पीएम मोदी से अधीर रंजन चौधरी ने पूछा : सोनिया-राहुल चोर हैं तो क्यों बैठे हैं संसद में ? 

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री मोदी से सीधा सवाल पूछा है कि क्या वह 2 जी और कोयला घोटाला में किसी को पकड़ पाए हैं? इतना ही नहीं चौधरी ने कहा कि आप सोनिया गांधी और राहुल गांधी को सलाखों के पीछे भेज पाए? आप उनको चोर कहते हुए सत्ता में आए तो अब वो संसद में कैसे बैठे हैं?  गौरतलब है कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव से पीएम मोदी और बीजेपी लगातार गांधी परिवार का नाम घोटालों से जोड़ते रहे हैं। पीएम मोदी ने 2 जी घोटालों में सीएजी की ओर से आंकी गई राशि को सीधे सोनिया गांधी के निवास 10 जनपथ के गेट तक ले जाते थे। वह चुनावी रैली में कहते थे कि 2 जी घोटाला में इतने रुपये का घोटाला हुआ था कि अगर जीरो यहां से लिखना शुरू करें तो सीधे 10 जनपथ के गेट तक पहुंच जाएंगे। इसी तरह कोयला घोटाले में वह तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को निशाने पर लेते थे, लेकिन बीते 5 सालों के कार्यकाल में इन घोटालों में एक भी नेता के खिलाफ भी आरोप साबित नहीं हुए हैं। यहां तक 2 जी घोटाला मामले में एक बार जेल जा चुके डीएमके नेता कनिमोई और ए. राजा को भी बरी कर दिया। दिल्ली की विशेष अदालत ने इन सभी के खिलाफ सबूत नहीं पाया। इससे मोदी सरकार की खूब किरकिरी हुई थी। 

23-06-2019
पीएम मोदी और मनोज तिवारी को मिली जान से मारने की धमकी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी को जान से मारने की धमकी मिली है। ये धमकी मनोज तिवारी से मोबाइल फोन पर एसएमएस भेजकर दी गई है। 
मनोज तिवारी को एसएमएस भेजने वाले ने लिखा है कि वह नेता की हत्या करने के लिए ‘विवश’ है। धमकी को लेकर मनोज तिवारी का कहना है कि इस अज्ञात व्यक्ति ने जरुरत पड़ने पर प्रधानमंत्री की हत्या करने की बात भी कही है। उन्होंने कहा, ‘मैंने पुलिस को इस खतरे के संबंध में जानकारी दे दी है।

हिन्दी में भेजे गए इस एसएमएस में भेजने वाले ने इस बात के लिए माफी मांगी है कि उसे बेहद मजबूरी में तिवारी की हत्या का फैसला लेना पड़ा है। दिल्ली भाजपा के मीडिया प्रभारी नीलकांत बख्शी ने कहा कि जल्दी ही इसकी औपचारिक शिकायत दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि तिवारी के निजी फोन पर शुक्रवार दोपहर 12 बजकर 52 मिनट पर यह एसएमएस आया। उन्होंने यह एसएमएस शनिवार की शाम में देखा और तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी।
बता दें कि इसी महीने केरल दौरे पर गए पीएम मोदी को जान से मारने की धमकी मिली थी। सूत्रों के मुताबिक, पीएम मोदी जब केरल के गुरुवायुर मंदिर में पूजा करने गए थे, उससे पहले उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई थी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804