GLIBS
06-07-2019
मानहानि के केस में कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज पटना की अदालत में होंगे पेश 

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी द्वारा उनके खिलाफ दायर मानहानि के एक मामले के सिलसिले में आज पटना की अदालत में पेश होंगे। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता ने बीते अप्रैल में यहां की मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की अदालत में यह मामला दायर किया था। सुशील मोदी ने उक्त मामला गांधी द्वारा कर्नाटक के कोलार में एक चुनावी रैली में यह टिप्पणी करने पर आपत्ति जताते हुए दायर किया था कि 'सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं'। गांधी का इशारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बैंक धोखाधड़ी आरोपी नीरव मोदी और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी की ओर था। मामले को सीजेएम शशिकांत रॉय ने एसीजेएम कुमार गुंजन के पास भेज दिया था।

गांधी ने लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस सप्ताह के शुरू में कांग्रेस प्रमुख के पद से इस्तीफा दे दिया था। गांधी पिछली बार गत मई में बिहार की राजधानी पटना आये थे जब उन्होंने अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्न सिन्हा के लिए एक रोड शो किया था। सिन्हा ने अप्रैल..मई में हुए लोकसभा चुनाव में पटना साहिब सीट पर कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था लेकिन वह अपनी सीट बरकरार नहीं रख पाये थे। मीडिया के एक वर्ग में खबर है कि गांधी यहां से करीब 60 किलोमीटर दूर स्थित मुजफ्फरपुर भी जा सकते हैं जो कि राज्य भर में फैले एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम से सबसे अधिक प्रभावित रहा है। इससे 150 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है।

30-06-2019
कांग्रेस नेता ने भेजा नगर निगम को नोटिस

रायपुर। कांग्रेस नेता विकास तिवारी ने नगर निगम रायपुर को लीगल नोटिस भेजा है और अपने वकील आनंद ठाकुर, पीयूष भाटिया के मार्फत से कहा है कि ब्राह्मणपारा वार्ड क्रमांक 58 को विलोपित करने के श्रेणी में ही क्यों रखा गया। ब्राह्मणपारा वार्ड में से एक भी इंच जमीन किसी वार्ड में नही जुड़ रहा है बल्कि दो वार्ड का कुछ हिस्सा ब्राह्मणपारा वार्ड में जुड़ रहा है। विकास तिवारी ने अपने वकीलों के माध्यम से निगम अधिकारियों को कहा है कि ब्राह्मणपारा वार्ड को विलोपित न करें अन्यथा उन्हें कोर्ट की शरण लेनी पड़ेगी।

 

29-06-2019
कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने बताए दो ‘कमल-राज’

भोपाल। मध्यप्रदेश में लगातार जिस तरह से भाजपा नेताओं की हरकतें सामने आ रही है। उस पर तीखी टिप्पणी करते हुए प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केके मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में अब दो अलग-अलग ‘कमल-राज’ और कानून के राज का अंतर स्पष्ट दिखाई दे रहा है। पूर्ववर्ती राज्य सरकार व उनके अनुचर विभिन्न अपराधों में  भाजपाई गुर्गों के शामिल होने पर एकस्वर में कहते रहे कि प्रदेश में कानून का राज है,कानून अपना काम करेगा, जबकि हकीकत यह थी कि बलात्कारियों, हत्यारों की फौजों ने कई मंत्रियों के सरकारी बंगलों में लंबे समय तक न केवल फरारी काटी, बल्कि कुछेक दबंग-ईमानदार पुलिस अधिकारियों के सख्त रुख व एनकाउंटर के भय के खातिर उन्हें भाजपाई मंत्रियों ने अपने राजनैतिक रसूख का इस्तेमाल कर गुजरात प्रान्त में पेश करवाया ( इस गंभीर आरोप के साक्ष्य राज्य पुलिस की इंटेलिजेंस ब्रांच में मौजूद हैं) यानी यह साबित है कि कानून अपना काम किस तरह कर रहा था।
उन्होंने कहा कि अब चर्चा की जाए दूसरे कमल- राज (कमलनाथ राज) की तो मौजूदा परिवेश में कानून के राज्य की स्थापना कैसी दिखाई दे रही है....जिन-जिन अपराधियों ने कानून को अपने हाथों से रौंदने की कोशिश की, दो घण्टों पूर्व अपराध किया। अगले दो घंटों में गिरफ्तार और अगले दो घंटों में जेल...चाहे वह केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल,भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय,भाजपा विधायक कमल पटेल के पुत्र हों या सतना के रामनगर परिषद के अध्यक्ष। आज जेल के शिकंजों में हैं। अधिकारीगण भी वही हैं,जो आज कानून के अहसास की कल्पनाओं को साकार कर रहे हैं। हर गम्भीर अपराधों में भाजपाई गुर्गो के शामिल होने के बाद भी राजनैतिक निर्लज्जता का नकाब ओढ़े प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर कमलनाथ सरकार के खिलाफ मंत्रालय की ईंट से ईंट बजा देने वाले दोनों नकली टाइगर आज मैमने बने हुए अपना चेहरा छुपाकर इधर-उधर भाग रहे हैं।
जहां तक भाजपाई गुर्गों द्वारा एक के बाद एक अधिकारियों के साथ कि जा रही पिटाइयों का ताल्लुक है उसकी वजह भी साफ है कि पिछले 15 सालों से जिन्हें अधिकारियों से पैसों की वसूली का दाढ़ में खून लगा हुआ था। मुख्यमंत्री की तल्खी की वजह से अब अवैध उगाही न हो सकने के कारण वे कराह रहे हैं। अवैध धन वसूली नहीं होने से उनके घरों में बीबियां-बच्चे उलाहना दे रहे हैं। लिहाजा, वह खीज बेचारे कर्मचारियों-अधिकारियों पर हिंसा के रूप में उतारी जा रही है।
उन्होंने कहा कि भाजपाई भ्रष्टों अब भी मौका है संभल जाओ,सुधर जाओ अन्यथा यह याद कर लो कि कमलनाथ की चक्की देर से चलती है पर पिसती बहुत बारीक है, समझ गए ना? नहीं तो आने वाले दिनों में आपके मैमने अपने खुद को बचाएंगे या आपको?

11-05-2019
सैम पित्रोदा की टिप्पणी कांग्रेस के लिए ‘सेल्फ गोल’ जैसी : महबूबा

श्रीनगर। वर्ष 1984 के सिख दंगों को लेकर कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा की ‘हुआ तो हुआ’ टिप्पणी को आम चुनाव के माहौल में पार्टी के लिए ‘सेल्फ गोल’ करने जैसा निरुपित करते हुए पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) अध्यक्ष एवं जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि एक बुद्धिमान दुश्मन किसी मूर्ख मित्र से बेहतर होता है। पित्रोदा को बयान को अस्वीकार्य करार देते हुए सुश्री मुफ्ती ने ट्विटर पर कहा, ‘ऐसे समय में जब लोग सोच रहे हैं कि इन चुनावों में कांग्रेस ने शिष्टाचार बनाए रखा है, ये ‘हुआ तो हुआ’ हो गया। सैम पित्रोदा के योगदान के लिए भले ही उनकी सराहना की जाए, लेकिन 1984 के भीषण दंगों को लेकर उनका यह बयान अस्वीकार्य है। एक बुद्धिमान शत्रु मूर्ख मित्र से बेहतर है।

20-04-2019
बाटला हाउस एनकाउंटर के बाद कांग्रेस नेताओं की आंख में थे आंसू : पीएम मोदी

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को प. बंगाल के बाद बिहार के अररिया में चुनावी सभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने महागठबंधन पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'कुछ लोगों को भारत माता की जय कहने में पेट दर्द होता है। एक तरफ वोट भक्ति की राजनीति है तो दूसरी तरफ देशभक्ति की राजनीति। किसी भी जाति और पंथ से पहले हम भारतीय हैं, हमारी पहचान भारतीय है। मां भारती की सेवा और साधना की इस भावना के साथ ही, बीते 5 वर्षों में मैंने आपकी सेवा करने का प्रयास किया है।'

बाटला हाउस का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'वोट बैंक की राजनीति दिल्ली में हुए बाटला हाउस एनकाउंटर के समय भी हुई थी। जब हमारे वीरों ने बम धमाके में शामिल आतंकियों को मार गिराया। लेकिन तब आतंकियों के खिलाफ हुई कार्रवाई पर खुश होने के बजाय कांग्रेस के बड़े नेताओं की आंखों में आंसू थे।

आरजेडी का नाम लिए बगैर उन पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'झूठ की राजनीति करने वाले बिहार में इस बात कि अफवाह फैला रहे हैं कि सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए जो 10 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है उसेक बाद आरक्षण खत्म हो जाएगा। ऐसे झूठ पीढ़ी दर पीढ़ी चल रहे हैं, बाप भी चलाता था, बेटा भी चला रहा है। मैं कहना चाहता हूं कि जो आरक्षण बाबा साहब डा. भीमराव अंबेडकर करके गए हैं उसे कोई हाथ नहीं लगा सकता। 

16-04-2019
Nirmala Sitharaman: घायल कांग्रेस नेता शशि थरूर को देखने पहुंचीं भाजपा नेता निर्मला ​सीतारमण, भाव विभोर हुए थरूर

नई दिल्ली। तिरुवनंतपुरम के एक अस्पताल में भर्ती घायल कांग्रेस नेता शशि थरूर को देखने भाजपा की वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री निर्मला ​सीतारमण मंगलवार को अस्पताल पहुंचीं।  थरूर ने ट्वीट में लिखा, 'निर्मला सीतारमण का यहां आना दिल को छू गया। केरल में अपने व्यस्त चुनावी कार्यक्रम के बीच अस्पताल पहुंचकर उन्होंने मेरा हाल जाना। भारतीय राजनीति में शिष्टाचार एक दुर्लभ गुण है। उन्हें इसका बेहतरीन उदाहरण पेश करते देखकर बहुत अच्छा लगा। 
शशि थरूर सोमवार को तिरुवनंतपुरम के एक मंदिर में  अपने प्रचार अभियान से पहले दर्शन के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान अचानक वह गिर पड़े और उनको सिर में चोट आई। थरूर को फौरन इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। प्राथमिक इलाज के बाद थरूर के सिर में 11 टांके लगाए गए।

15-04-2019
बयान पर घिरे सपा नेता आजम खान, जानिए क्या कहा कांग्रेस नेता शीला दीक्षित ने....

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के नेता और रामपुर उम्मीदवार आजम खान के बयान की निंदा दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शीला दीक्षित ने की है। बता दें कि आजम खान ने भाजपा उम्मीदवार जयाप्रदा पर कमेंट किया था। शीला दीक्षित ने कहा कि आजम खान का बयान बेहद शर्मनाक है, उन्हें महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए। ये अस्वीकार्य है। इसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। आजम खान ने इस पर सफाई दी है और कहा है कि, मैंने किसी का नाम नहीं लिया था। अगर कोई ऐसा सबूत देते तो मैं खुद लोकसभा चुनाव का नामांकन वापस ले लूंगा। बता दें कि आजम खान के बयान की भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज्य ने भी आलोचना की है। 

01-02-2019
Congress : कांग्रेस नेता प्रजापती गजेंद्र वर्मा के लिए समर्थकों ने मांगी लोकसभा की टिकट

इंदौर। इंदौर में ढाई लाख प्रजापति समाज के मतदाता हैं और इनमें एकजुटता भी है।  यही वजह है कि किसी भी चुनाव में प्रजापति समाज अपनी अहम भूमिका रखता है। इसी के चलते प्रजापति समाज के राष्ट्रीय प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों ने कांग्रेस नेता प्रजापती गजेंद्र वर्मा के लिए कांग्रेस हाईकमान एवं सीएम कमलनाथ से इंदौर से टिकट मांगा है। प्रजापति समाज के पदाधिकारियों ने सीएम से मांग की कि आप गजेंद्र वर्मा को टिकट दे दीजिए। हमें पार्टी फंड से एक रूपया भी नहीं चाहिए। सारा खर्चा प्रजापति समाज ही उठाएगा। गजेंद्र वर्मा के लिए मांग करने वालों में इंदौर भाजपा के पार्षद मांगीलाल रेडवाल, भाजपा के पूर्व पार्षद मदन मोहन प्रजापति एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष हरी भैया कश्यप, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष परसराम के कटिया, डॉक्टर लक्ष्मी नारायण पटेल, ब्रिक्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश गेंदालाल, भगत गिरधारी लाल, डोलिया  प्रकाश, जीनवाल सुरेश  आदि प्रमुख थे।

27-01-2019
प्रियंका के खिलाफ टिप्पणी भाजपा की महिलाओं के प्रति सोच का परिचायक : दिग्विजय

रायपुर। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने प्रियंका गांधी के खिलाफ भाजपा के कई नेताओं द्वारा की गई अभद्र टिप्पणी पर उन्हे आड़े हाथो लेते हुए कहा कि यह भाजपा की महिलाओं के प्रति सोच का परिचायक है। छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय दौरे पर सपत्नीक पहुंचे दिग्गविजय सिंह ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि प्रियंका उस परिवार का प्रतिनिधित्व करती है जिनके परिवार का इतिहास त्याग एवं कुबार्नी से जुड़ा है। उनकी दादी एवं पिता ने कुबार्नी दी है। उनके बारे में अभद्र टिप्पणी भाजपा की घटिया सोच को दशार्ती है। प्रियंका के सक्रिय राजनीति में आने से भाजपा बौखला गई है।
उन्होने कहा कि मोदी सरकार पूरी तरह असफल साबित हुई है। पीएम मोदी ने भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र के वादो को न तो पूरा किया और न ही चुनावी सभाओं में किए वादे पूरा किए।उल्टे कांग्रेस के जिन नीतियों कार्यक्रमों का विरोध पहले किया उन्हे ही सत्ता में आने पर अपनाकर उसका श्रेय लेने का काम किया।उन्होने कहा कि घोषणा पत्र को दरकिनार करने का उनका आरोप नही है बल्कि इसे तैयार करने वाले उनके वरिष्ठ नेता श्री मुरली मनोहर जोशी ने इसे लेकर स्वयं टिप्पणी की है। दिग्गविजय सिंह ने दावा किया कि आगामी लोकसभा चुनावों में मोदी सरकार की विदाई तय है।उन्होने कहा कि पिछली बार उत्तर एवं मध्य भारत के अधिकांश राज्यों में भाजपा ने लगभग सभी सीटों पर जीत हासिल की थी,और इस बार यहां उसको करारा झटका लगने वाला है। उन्होने छत्तीसगढ़,मध्यप्रदेश एवं राजस्थान के बारे में पूछे जाने पर कहा कि यहां ही नही बल्कि देश में इस बार कांग्रेस का प्रदर्शन शानदार रहेगा।

22-12-2018
कांग्रेस नेता पहुंचे धान खरीदी केंद्र, 25 सौ रुपए समर्थन मूल्य की घोषणा पर दी बधाई, खिलाई मिठाई 

अंबिकापुर। धान का समर्थन मूल्य 25 सौ रुपए किए जाने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता समेत किसानों में खुशियां देखी जा रही है। कांग्रेस नेता किसानों से भेंट कर रहे हैं और गर्व से बता रहे हैं कि हमारी सरकार ने अपना वादा पूरा कर दिया। इसी तारतम्य में जनपद पंचायत के अध्यक्ष राजनाथ सिंह और विधायक प्रतिनिधि सिद्धार्थ सिंह उदयपुर स्थित धान खरीदी केंद्र पहुंचे। वहां उन्होंने किसानों से मुलाकात की। किसानों को मिठाई खिलाकर उन्हें बधाई दी। श्री सिंह ने बताया कि किसानों के कर्ज माफी के बैंकों से सूची मंगवाई जा चुकी है, प्रक्रिया पूर्ण होते ही बहुत जल्द ही किसानों के कर्ज माफ हो जाएंगे। इस अवसर पर जनपद उपाध्यक्ष राजीव सिंह, आदिवासी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह, राम सिंह, अंकित बारी, मनीष पाण्डेय, साधु राम, अमर दास, सौरी नारायण ,बबन रवि, मीडिया प्रभारी जगदीश जायसवाल सहित अन्य कांग्रेस पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804