GLIBS
11-06-2019
प्रदेश में भीषण गर्मी से नहीं मिल रही राहत, शाम को हो सकता है मौसम परिवर्तन

रायपुर। प्रदेश में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है। बीते रोज प्रदेश के सभी जिलों में पारा 43 से 45 डिग्री के आसपास रहा। यह तापमान जून महीने में अभी तक का सर्वाधिक तापमान है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार जून माह में बीते सोमवार को तापमान सामान्य से 7 डिग्री ज्यादा रहा। इधर मौसम विभाग ने मंगलवार और बुधवार को भी भीषण गर्मी का अंदेशा जताया है। लेकिन शाम को आंधी, बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने तेज रफ्तार से हवा चलने की संभावान व्यक्त की है। 
मौसम विभाग की माने तो मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के तरफ से गरम हवा आ रही है। दोनों प्रदेशो में तेज गर्मी के कारण छत्तीसगढ़ में भी गर्मी बढ़ गई है। मौसम वैज्ञानिक एचटी चंद्रा ने बताया कि बस्तर में मौसम ने करवट ली और यहां बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। 

04-06-2019
भीषण गर्मी में राहगीरों को मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने पिलाया शीतल शरबत 

कोरबा। जिला कांग्रेस कार्यालय टीपी नगर कोरबा के पास शीतल शरबत मंदिर का निशुल्क वितरण विगत दो माह से किया जा रहा हैं। मंगलवा को शीतल शरबत का वितरण राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल एवं महापौर रेणु अग्रवाल की ओर से शांति देवी मेमोरियल सोसाइटी के द्वारा शीतल शरबत मंदिर का संचालन किया जा रहा हैं। जयसिंह अग्रवाल ने इस मौके पर कहा कि गर्मी के मौसम में प्यास से बेहाल लोगों को शीतल पेयजल व शीतल शरबत उपलब्ध कराना सबसे पुनीत कार्य है। यह कोरबा का प्रमुख मार्ग है और अब राहगीरों को इस गर्मी के मौसम में प्रतिदिन यहां शीतल शरबत मिल रहा हैं। 
उल्लेखनीय है कि जयसिंह अग्रवाल के द्वारा उक्त स्थल पर प्रतिवर्ष शीतल जल व शीतल शरबत का निशुल्क वितरण कराया जाता है। इसके अलावा एक चार पहिया वाहन के माध्यम से क्षेत्र के बाजार, हाट,चौक चौराहों में भी शीतल शरबत का निशुल्क वितरण किया जाता हैं। विधायक जयसिंह अग्रवाल ने बताया कि इस वर्ष भी चारपहिया वाहनों के माध्यम से क्षेत्र के बाजार हाट एवं प्रत्येक वार्डो के प्रमुख स्थलों पर शीतल शरबत का वितरण कराया जा रहा हैं। जयसिंह अग्रवाल ने बताया गत् वर्ष शीतल शरबत मंदिर का अच्छा प्रतिसाद मिला। लोगों ने इस पुनीत कार्य को नेक कार्य बताया और क्षेत्रवासियों ने सराहना की। इस मौके पर उपस्थित सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने कहा कि जलदान ही महादान की प्राचीन परंपरा का निर्वहन करते हुए कोरबा विधायक जयसिंह अग्रवाल के द्वारा अपने क्षेत्र में शीतल शरबत मंदिर का संचालन कराया जा रहा है,जो समाज के लिए एक अनुकरणीय सेवा कार्य है।
महापौर रेणु अग्रवाल ने बताया कि गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी प्रतिदिन यहां भिन्न-भिन्न फ्लेवर के शरबत का वितरण कराया जा रहा हैं, जिसमें मैंगों, आॅरेंज, नींबू, चिकू, अनानस आदि फ्लेवर शामिल हैं। इस मौके पर उपस्थित सपना चौहान ने बताया कि किसी प्यासे को पानी पिलाना परोपकार और मानव की सेवा है। उन्होंने कहा कि कोरबा विधायक जयसिंह अग्रवाल की गर्मी के मौसम में यह अनूठी पहल सराहनीय है।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद ने कहा कि शीतल शरबत मंदिर का संचालन करना अपने आप में एक पुण्य कार्य है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष ग्रामीण उषा तिवारी ने भी इस पुनीत कार्य की प्रशंसा की।

24-05-2019
सूरत में कॉम्पलेक्स में लगी भीषण आग, 15 की मौत, बच्चे जान बचाने के लिए इमारत से कूदे

नई दिल्ली। गुजरात के सूरत के तक्षशिला कॉम्पलेक्स के दुसरी मंजिल में भीषण आग लगने से अब तक 15 छात्रों की मौत हो गई। हादसे का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है। इस बिल्डिंग में कोचिंग सेंटर चलता है, जिसमें आग लगने के कारण लगभग 40 बच्चे नीचे कूद गए।  बताया जा रहा है कि आग इमारत की दूसरी मंजिल पर स्थित इंस्टीट्यूट में लगी है। कुछ लोगों ने इस इमारत से कूदकर जान बचाई है। इस हादसे में 15 छात्र की मौत हो गई हैं। हालांकि अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। मारे गए लोगों की संख्या और भी बढ़ सकती है। मारे गए लोगों की पहचान नहीं हो पाई है। आग को बुझाने के लिए दमकल की 18 गाड़िया और दमकल विभाग के 50 कर्मचारी मौके पर पहुंचे। फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है। लेकिन अभी भी कई के इमारत में फंसे होने की बात कही जा रही है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर ट्वीट कर कहा कि सूरत में हुई आग त्रासदी से बहुत पीड़ा हुई। मेरी संवेदना इस हादसे में प्रभावित हुए लोगों के परिवारों के साथ है। प्रधानमंत्री ने घायलों के जल्दी ठीक होने की कामना की। प्रधानमंत्री ने गुजरात सरकार और स्थानीय अधिकारियों से प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए भी कहा है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने हादसे की जांच के आदेश दिए है।

24-05-2019
 सूरत में एक इमारत में लगी भीषण आग, जान बचाने के लिए इमारत से कूदे बच्चे

नई दिल्ली। गुजरात के सूरत में एक इमारत में भीषण आग लगने से उसमें कई बच्चे फंस गए हैं। घटना की जानकारी मिलते ही दमकल की 18 गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंच चुकी हैं। 
यह आग सूरत के तक्षशिला कॉम्पलैक्स में लगी है। जहां पर एक इंस्टीट्यूट के 12 बच्चे और एक टीचर फंस गए। इसके बाद वहां बच्चों ने जान बचाने के लिए बिल्डिंग की इमारत से छलांग लगा दी। अभी तक मिले समाचार के अनुसार, बच्चे सुरक्षित हैं और फायर ब्रिगेड आसपा लोगों से मदद लेकर बच्चों को बचाने का काम कर रही है। 
बताया जा रहा है कि आग इमारत की दूसरी मंजिल लगी है जहां एक इंस्टीट्यूट है। बताया जा रहा है कि इमारत से जान बचाने के कूदे बच्चे सुरक्षित हैं। घटनास्थल पर 18 फायर ब्रिगेड पहुंची हैं। अभी तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका है।

20-05-2019
25 से नौतपा, तीन दिन तक रहेगी भीषण गर्मी, जून में बारिश के योग 

नवापारा राजिम। रोहिणी नक्षत्र में नौतपा के 9 दिन के दौरान गर्मी बढऩे के साथ तेज हवा व आंधी चलने की संभावना है जिसमें बूंदाबांदी और हल्की बारिश भी हो सकती है। पंचांग की गणना के अनुसार सूर्य को रोहिणी में प्रवेश 25 मई की रात 8.20 बजे होगा। सूर्य का रोहिणी प्रवेश 8 जून को शाम 6.20 बजे तक रहेगा। इस दृष्टि से सूर्य का रोहिणी की कक्षा में तकरीबन 15 दिन का संचरण होगा। इन 15 में प्रथम नौ दिन नौपता के माने जाते हैं। इस दौरान मान्यता यह होती हैं कि जब ग्रहों की दृष्टि संबंध तथा चंद्र का दैनिक संचार की गणना से अलग राशियों से संपर्क होता हैं। तब वातावरण में तपिश की स्थिति का पानी गिरने की स्थिति बनती है। मान्यता यह भी हैं कि रोहिणी में तेज गति से पानी का गिरना अच्छा माना जाता हैं। बारिश के लिए सिस्टम सक्रिय होगा। इस बार भी मौसम विभाग के अनुमान लगाया हैं कि 25 मई तक तेज गर्मी पडऩे के बाद बारिश के लिए सिस्टम सक्रिय होगा। स्थानीय प्रभाव का भी असर होगा। वजह यह रहेगा कि सूर्य की तपिश कम होगी। 25, 26 और 27 मई को तपिश बढ़ेगी। इस दौरान बूंदाबांदी भी होगी फिर तीन दिन यानी 28, 29, 30 मई को उमस बढऩे के साथ हल्की बारिश के आसार हैं। 31 मई व 1 और 2 जून को तेज हवा और आंधी तूफान के साथ बारिश के योग बन रहे हैं। ज्योतिषाचार्य पं. ब्रम्हदत्त शास्त्री, पं. कन्हैया महाराज, पं. रमाकांत महाराज के अनुसार मंगल-राहु का अंगारक योग और शनि-केतु की युति का तम सप्तक दृष्टि संबंध वातावरण में गर्मी पैदा करेगा। उमस बढ़ेगा और प्राकृतिक परिवर्तन के संकेत देगा।

15-04-2019
मणिपुर व मिजोरम में भीषण आंधी-बारिश से कई घर तबाह, तीन की मौत 

इंफाल। मणिपुर और मिजोरम में सोमवार को आई भीषण आंधी और बारिश ने कई घरों को पूरी तरह तबाह कर दिया है। बेमौसम आई इस मुसीबत की मार से तीन लोगों की मौत हो गई है। जानकारी के अनुसार रविवार से ही पूर्वोत्तर में मौसम का रूप अचानक बदल गया है और इसके बाद कई राज्यों में तेज हवाओं के साथ ओले भी गिरे हैं। बदले हुए मौसम का यह हाल सोमवार को मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों में नजर आया। मिजोरम में जहां कोलासिब के गांव वैरग्टे में तूफान की वजह से 20 घर तबाह हो गए हैं वहीं मणिपुर में राज्य के काकचिंग और चुराचंदपुर में तूफान की वजह से तीन महिलाओं के मारे जाने की खबर है वहीं कई घरों को नुकसान पहुंचा है।  तूफान रुकने के बाद राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है।

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804