GLIBS
22-03-2019
कांग्रेस के सभी प्रत्याशियों के नाम तय, घोषणा जल्द

रायपुर। लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के अपने सभी प्रत्याशियों के नाम तय कर लिए हैं और किसी भी वक्त प्रत्याशियों के नाम का ऐलान हो सकता है। दिल्ली से रायपुर लौटे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने माना विमानतल पर मीडिया में यह बयान दिया है। केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में भाग लेकर रायपुर पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पार्टी ने सभी नाम तय कर लिए हैं, जल्द ही सभी नामों का ऐलान कर दिया जाएगा।

22-03-2019
आज जारी हो सकते हैं छत्तीसगढ़ के बचे हुए 6 लोकसभा प्रत्याशियों के नाम

 

रायपुर। लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस आज अपनी एक और सूची जारी कर सकती है। दिल्ली सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार शाम तक यह सूची जारी की जाएगी। इसमें मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ नामों को भी शामिल किया गया है। भाजपा की सूची जारी होने के बाद अब कांग्रेस उन सीटों पर अपने नाम जारी करने जा रही है।

जहां वो बीजेपी के उम्मीद्वारों का इंतजार कर रही थी। जहां तक मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ की बात है तो छत्तीसगढ़ में कांग्रेस अब तक अपने पांच उम्मीद्वारों के नामों की घोषणा कर चुकी है। बाकि बची 6 सीटों पर आज मोहर लगाई जा सकती है। 6 सीटों में रायपुर, महासमुंद, कोरबा, दुर्ग, बिलासपुर व राजनांदगांव शामिल हैं।

19-03-2019
Congress : कांग्रेस ने लोकसभा चुनावों के लिए 56 और उम्मीदवारों की सूची जारी की

नई दिल्ली। कांग्रेस ने सोमवार को लोकसभा चुनावों के लिए सोमवार देर रात 56 और उम्मीदवारों तथा आंध्र प्रदेश विधानसभा के लिए 132 और ओडिशा विधानसभा के लिए 36 उम्मीदवारों की सूची जारी की। कांग्रेस की लोकसभा सीटों के लिए यह पांचवीं सूची है। कांग्रेस महासचिव एवं केंद्रीय चुनाव प्रभारी मुकुल वासनिक ने बताया कि पार्टी ने आंध्र प्रदेश की 22, असम की पांच, ओडिशा की छह, तेलंगाना की आठ, उत्तर प्रदेश की तीन, पश्चिम बंगाल की 11 और लक्षद्वीप के एक सीट के लिए उम्मीदवारों के नाम घोषित किए। इन उम्मीदवारों में मौजूदा सांसद एवं पश्चिम बंगाल इकाई के पूर्व अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के पुत्र अभिजीत मुखर्जी तथा दिवंगत पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रियरंजन दासमुंशी की पत्नी दीपा दासमुंशी भी शामिल हैं।

18-03-2019
कांग्रेस ने गोवा में सरकार बनाने का दावा किया, भाजपा ने की बैठक

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन के कुछ घंटों बाद ही राज्य में राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने राज्यपाल को पत्र लिखकर सरकार बनाने का दावा किया जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के नेतृत्व में भाजपा विधायकों संग बंद कमरे में बैठक की है। भाजपा के सूत्रों ने अगली रणनीति के बारे में अभी कुछ भी कहने से साफ इंकार कर दिया है तो वहीं गोवा विधानसभा में 14 विधायकों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी कांग्रेस ने रविवार की देर रात गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा को पत्र लिखकर राज्य में सरकार बनाने का दावा किया है।

इस बीच गडकरी ने कहा कि वह मीडिया से सोमवार को बात करेंगे। राज्यपाल को भेजे पत्र में कांग्रेस विधायक दल के नेता चंद्रकांत कावलेकर और गोवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गिरीश चोंदांकर ने कहा कि क्षेत्रीय पार्टियां जैसे गोवा फॉरवर्ड पार्टी, एमजीपी और अन्य तीन निर्दलीय विधायकों ने वर्ष 2017 में मनोहर पार्रिकर के नाम पर भाजपा सरकार को समर्थन दिया था, चूंकि अब मुख्यमंत्री पर्रिकर का निधन हो गया है तो अब राज भवन को प्रदेश में बेहतर शासन और कामकाज के लिए जरुरी कदम उठाने चाहिए।

17-03-2019
सपा-बसपा ने 2 तो कांग्रेस ने छोड़ी 7 सीटें  

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने एक तरफ जहां सपा-बसपा और आरएलडी के लिए सात सीटों पर चुनाव नहीं लडऩे का ऐलान किया है वहीं सपा-बसपा और आरएलडी ने कांग्रेस के लिए दो सीटों पर चुनाव नहीं लडऩे का फैसला किया है। इन दो सीटों में राहुल गांधी की अमेठी सीट और सोनिया गांधी की रायबरेली सीट शामिल हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने आज एक प्रेसवार्ता में बताया है कि उत्तर प्रदेश में उन 7 सीटों पर कांग्रेस अपने प्रत्याशी नहीं उतारेगी जहां से सपा-बसपा और आरएलडी चुनाव लड़ रहे हैं। इन सीटों में मैनपुरी, कन्नौज, फिरोजाबाद की सीट शामिल हैं। इसके अलावा कांग्रेस उन सीटों पर भी अपने प्रत्याशी नहीं उतारेगी जहां से मायावती, आरएलडी के अजित सिंह और जयंत चौधरी चुनाव लड़ेंगे। राजबब्बर ने बताया कि वह कृष्णा पटेल गुट के अपना दल को भी दो सीटें देंगे। जिनमें गोंडा और पीलीभीत शामिल है।  राजबब्बर ने बताया कि उत्तर प्रदेश में हम जन अधिकार पार्टी के साथ 7 सीटों पर समझौता कर चुके हैं। इन सात में से 5 सीटों पर जन अधिकार पार्टी के उम्मीदवार उतरेंगे तो वहीं 2 सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशी अपनी उम्मीदवारी पेश करेंगे।   

17-03-2019
प्रदेश में पांच टिकट घोषित : 6 सीटों पर मंथन

रायपुर। कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के 5 लोकसभा के प्रत्यशियों के नामों का ऐलान कर दिया है। शनिवार देर रात कांग्रेस ने प्रत्याशियों की चौथी लिस्ट जारी की है। जारी लिस्ट में कुल 27 प्रत्यशियों के नामों ऐलान किया गया है। छत्तीसगढ़ के जिन 5 सीटों पर उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया गया है। उसमें सरगुजा से खेलसाय सिंह, रायगढ़ से लालजीत सिंह राठिया, जांजगीर चांपा से रवि भारद्वाज, बस्तर से दीपक बैज, और कांकेर से बीरेश ठाकुर के नाम शामिल है। वहीं प्रदेश बाकि 6 सीटों पर अभी भी मंथन जारी है।
आपको बता दें कि पांचों प्रत्याशी पहली बार लोकसभा चुनाव के मैदान में उतरें हैं। शनिवार शाम को कांग्रेस और भाजपा दोनों राजनीतिक दलों की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई। कांग्रेस में बैठक की अध्यक्षता पार्टी के राष्ट्रीय प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने की।

बैठक में छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव व अरुण उरांव उपस्थित थे। पुनिया और बघेल का कहना है कि सभी 11 सीटों के लिए सिंगल नाम तय कर लिए गए हैं, लेकिन जब एक-एक नामों की सूची केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद वेणुगोपाल ने राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने रखी, तो उन्होंने पांच नामों पर ही मुहर लगाई। छह सीटों के प्रत्याशियों के नाम रोक लिए। सरगुजा लोकसभा के प्रत्याशी मंत्री टीएस सिंहदेव की पसंद पर फाइनल किए गए। इसका कारण यह है कि सरगुजा की जिम्मेदारी सिंहदेव को ही दी गई है। रायगढ़ में मंत्री उमेश पटेल की पसंद का ध्यान रखा गया। बस्तर के प्रत्याशी चयन में पीसीसी अध्यक्ष बघेल की चली। वहीं, जांजगीर लोकसभा सीट के लिए सभी की राय लेने के बाद निर्णय लिया गया। कांकेर के ठाकुर को प्रत्याशी बनाने का कारण यह है कि वे वनाधिकार पट्टा और आदिवासियों के हक की लड़ाई लड़ते रहे हैं।

खेलसाय सिंह : प्रत्याशी-सरगुजा

1991 और 1999 में सांसद बने, 2004 में लोकसभा चुनाव हारे, 2013 और 2018 में प्रेमनगर से विधायक चुने गए।

लालजीत सिंह राठिया : प्रत्याशी-रायगढ़

2013 में धर्मजयगढ़ से विधायक बने, वर्तमान में इसी सीट से विधायक हैं। मध्यक्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष हैं।

रवि भारद्वाज : प्रत्याशी-जांजगीर

सारंगढ़ के पूर्व सांसद परसराम भारद्वाज के पुत्र व सतनामी समाज के नेता। विधानसभा चुनाव के लिए भी दावेदारी की थी।

दीपक बैज : प्रत्याशी-बस्तर

प्रदेश कांग्रेस का युवा चेहरा हैं। वर्ष 2013 में विधानसभा चुनाव में पहली बार चित्रकोट विधानसभा से विधायक चुने गए थे।

बीरेश ठाकुर : प्रत्याशी-कांकेर

भानुप्रतापपुर के पूर्व जनपद अध्यक्ष हैं। पिछले तीन विधानसभा चुनाव से कांकेर सीट से दावेदारी पेश कर रहे थे।

16-03-2019
कांग्रेस के लोकसभा उम्मीदवारों के नामों की घोषणा शीघ्र

रायपुर। कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा पूरी कर ली है। माना जा रहा है कि जल्द ही अब नामों का ऐलान कर दिया जाएगा। शनिवार को दिल्ली में सेंट्रल इलेक्शन कमेटी की लंबी बैठक चली। इस बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, कैबिनेट मंत्री ताम्रध्वज साहू, टीएस सिंहदेव सहित कई और नेता भी मौजूद थे। बैठक के बाद बाहर निकले नेताओं ने बताया कि सभी 11 नामों पर चर्चा पूरी हो गई है अब जल्द ही नामों का ऐलान हो जाएगा।

16-03-2019
गोवा में कांग्रेस ने किया सरकार बनाने का दावा, कहा- पर्रिकर के पास बहुमत नहीं

नई दिल्ली। कांग्रेस ने गोवा में राज्यपाल मृदुला सिन्हा को चि_ी लिखकर राज्य में सरकार बनाने का दावा किया है। कांग्रेस ने कहा है कि विधायक फ्रांसिस डिसूजा के निधन के बाद से विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी के 13 विधायक हैं। ऐसे में जो पार्टी अल्पमत में है और उसको सरकार में रहने का कोई हक नहीं है। मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व वाली सरकार लोगों का विश्वास खो चुकी है। कांग्रेस ने कहा है कि मौजूदा सरकार को बर्खास्त किया जाए और सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को सरकार बनाने का मौका दिया जाए।

गौरतलब हो कि गोवा के पूर्व उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डिसूजा का हाल ही में निधन हो गया था। वे गोवा राजीव कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में 1999 में गोवा विधानसभा के लिए चुने गए फिर बाद में भाजपा में शामिल हुए। वे 2002, 2007, 2012 और 2017 में भी विधानसभा के लिए चुने गए थे। 2012 में मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनने पर डिसूजा को उप मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया था। बता दें कि 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ा दल है। उसके पास 14 विधायक हैं।  बीजेपी के पास 13 विधायक हैं। जिसे महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के 3, गोवा फार्वर्ड पार्टी के 3 और 3 निर्दलीय विधायकों का सर्मथन हासिल है।

16-03-2019
यूपीए सत्ता में आई तो लागू होगी न्यूनतम आय गारंटी योजना

देहरादून। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को देहरादून में एक बड़ी घोषणा करते हुए कहा है कि यदि केन्द्र में कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनती है तो देश में गरीबों के लिए न्यूनतम आय गारंटी योजना शुरू की जाएगी। इस योजना के तहत एक निश्चित राशि सीधे उनके बैंक खातों में जाएगी। राहुल गांधी ने कहा कि इस तरह की योजना शुरू करने वाला भारत दुनिया का पहला देश होगा अगर संयुक्त  प्रगतिशील गठबंधन सत्ता में आता है। राहुल गांधी के इस कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता भुवन चंद्र खंडूरी के बेटे मनीष कांग्रेस में शामिल हुए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण में एक बार फिर दोहराते हुए कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के मसले पर कांग्रेस हमेशा संजीदा रही है और देश के सात खड़ी रही है। आज भी पार्टी पूरे दमखम के साथ सरकार और देश के साथ खड़ी है।  उन्होंने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जिस दिन भारत पर आतंकी हमले हुए और हमारे जवानों ने शहादत दी उस दिन हमने प्रेस कान्फ्रेंस सहित सभी कार्यक्रम निरस्त कर दिए जबकि उसी दिन हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पार्क में फिल्म बना रहे थे। कांग्रेस अध्यक्ष ने राफेल मुद्दे पर अनिल अंबानी पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर ये कागज भी दे दो तो अनिल अंबानी कागज का भी जहाज नहीं बना पाएंगे। इधर कांग्रेस में शामिल होने के बाद कयास लगाया जा रहा है कि मनीष खंडूरी को पौड़ी सीट से उम्मीदवार बनाया जा सकता है। ज्ञात हो कि भुवन चंद्र खंडूरी वर्तमान में पौड़ी से भाजपा के सांसद हैं।

16-03-2019
राहुल ने पूछा वर्ल्यानी से क्या आप जीएसटी के एक्सपर्ट हैं? जवाब मिला हां, तो राहुल बोले आओ दिल्ली

रायपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने छत्तीसगढ़ दौरे के दौरान कांग्रेस नेताओं से भी मुलाकात की थी। इस दौरान जीएसटी को लेकर भी कुछ खास बातें निकल कर सामने आयीं। ये तब हुआ जब राहुल गांधी प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेताओं से मिल रहे थे। इस कतार में खड़े प्रदेश प्रवक्ता रमेश वर्ल्यानी से उनकी चर्चा हुई तो वर्ल्यानी ने जीएसटी पर उनका ध्यानाकर्षण कराया। राहुल गांधी ने पूरी बात समझी और प्रदेश प्रवक्ता रमेश वर्ल्यानी को दिल्ली आने के लिए कहा। साथ ही जीएसटी पर किस तरह से कांग्रेस अपना पक्ष रख सकती है वो भी बताने के लिए कहा। चर्चा के दौरान वर्ल्यानी ने राहुल गांधी से कहा कि जीएसटी ने देश भर के लघु उद्योगपतियों एवं छोटे व्यापारियों का उद्योग धंधा चौपट कर दिया है। जीएसटी की टैक्स दरों को कम किए जाने का लाभ आम उपभोक्ताओं को नहीं मिल रहा है। क्योंकि बड़े निमार्ता अपने प्रोडक्ट का बेस रेट बढ़ा देते हैं। वल््यार्नी ने कहा कि जीएसटी के नियमों की क्रियान्वयन प्रक्रिया जटिल एवं बोझिल है। कांग्रेस को जीएसटी के सरलीकरण की घोषणा कर उद्योग-व्यापार क्षेत्र में बेहतर संदेश देना चाहिए। इस पर राहुल गांधी ने वर्ल्यानी से पूछा कि क्या आप जीएसटी में एक्सपर्ट हैं ? इस पर वर्ल्यानी ने कहा कि वे स्वयं टैक्स एडवोकेट हैं तथा उनकी सीए फर्म है। वर्ल्यानी के सुझाव पर खुशी जाहिर करते हुए राहुल गांधी ने दिल्ली से आए अपने सहयोगी से कहा कि वे वर्ल्यानी का कांटेक्ट नंबर लें और जयराम रमेश की अध्यक्षता वाली घोषणा-पत्र की टीम में रमेश वर्ल्यानी को बुलाकर जीएसटी पर इनके विचार एवं सुझाव लें।

16-03-2019
‘एक ही चौकीदार चोर’ : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने शनिवार को कहा कि राफेल विमान सौदे में 30 हजार करोड़ रुपए की चोरी करने वाला ‘एक ही चौकीदार चोर’ है। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट पर कहा, ‘10 लाख का सूट पहन ठाठ-बाट करने वाला, बैंक भगौड़ों मोदी-मेहुल-माल्या का साथ निभाने वाला, सरकारी खजाने से खुद के प्रचार पर 5,200 करोड़ रुपए लुटाने वाला, जनता के पैसे से 84 विदेशी दौरों में सैर-सपाटे पर 2,010 करोड़ रुपये उड़ाने वाला, राफेल में 30,000 करोड़ रुपए की चोरी कराने वाला एक ही चौकीदार चोर है।’ इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस के ‘चौकीदार चोर है’ के नारे के जवाब में कहा है कि भ्रष्टाचार, गंदगी और सामाजिक बुराइयों से लड़ने वाला हर व्यक्ति चौकीदार है। मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘आपका चौकीदार दृढता से खड़ा है और देश की सेवा कर रहा है। लेकिन, मैं अकेला नहीं हूँ। हर व्यक्ति जो भ्रष्टाचार, गंदगी और सामाजिक बुराइयों से लड़ रहा है, चौकीदार है। भारत की प्रगति के लिए परिश्रम करने वाला हर व्यक्ति चौकीदार है। आज हर भारतीय कह रहा है-मैं भी चौकीदार।’

14-03-2019
शराब पर भाजपा कर रही जनता को गुमराह :  कांग्रेस

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने बताया है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने 13 मार्च को एक पत्र शराब पर प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को लिखा है, जिसमें उन्होंने शराब को समाज के लिए अभिशाप बताते हुए देशी मदिरा की दुकानों पर विदेशी मदिरा बेचने के निर्णय को वर्तमान सरकार का निर्णय बताते हुए उस पर दु:ख और पीड़ा जताई है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि यह निर्णय नागरिकों के स्वास्थ्य, युवाओं के भविष्य और कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ है।  सलूजा ने कहा है कि बड़ी खुशी होती कि शिवराजसिंह चौहान शराब पर आपत्ति जताने वाला पत्र लिखते, लेकिन उनका यह पत्र देशी शराब के ब्रांड एम्बेसडर की तरह लिखा गया है। इस पत्र में उन्होंने कहीं भी मदिरा का विरोध नहीं किया है। सिर्फ देशी मदिरा की दुकानों पर विदेशी मदिरा बेचे जाने का विरोध किया है। वे शुरू से ही देशी मदिरा निर्माताओं के पक्ष में रहे हैं। उन्होंने अपने कार्यकाल में न केवल 2018-19 के लिए बल्कि अगली सरकार में 2019-20 के लिए भी देशी मदिरा निमार्ताओं के लिए निविदा स्वीकृत की। यह एक विभागीय प्रस्ताव नहीं था, लेकिन मंत्रिमण्डल द्वारा जोड़ा गया। अपने कार्यकाल में इसके अलावा भी उन्होंने तीन नये कारखानों को अपने चहेते निर्माताओं के एकाधिकार की रक्षा के लिए टेंडर में भाग लेने की अनुमति प्रदान नहीं की थी। सलूजा ने कहा है कि इस मुद्दे पर शिवराजसिंह चौहान व भाजपा प्रदेश की भोली-भाली जनता को गुमराह व भ्रमित कर रहे हैं। जबकि वास्तविकता यह है कि वर्तमान मंत्रिमण्डल ने मोटे तौर पर 2019-20 के लिए उसी आबकारी नीति का पालन किया है जो पूर्व भाजपा सरकार द्वारा तय की गयी थी। जहां पूर्व की भाजपा सरकार 15 प्रतिशत वृद्धि के साथ दुकानों का नवीनीकरण कर रही थी, वहीं हमारी सरकार ने 20 प्रतिशत के साथ नवीनीकरण करने का निर्णय लिया है।  सलूजा ने कहा कि जिस तरह का आरोप शिवराजसिंह चौहान लगा रहे हंै, वह सही नहीं है। हम एक भी शराब की नई दुकान नहीं बढ़ा रहे हैं, लेकिन आश्चर्य है कि शिवराजसिंह चौहान मदिरा का विरोध नहीं कर रहे हैं, अपितु देशी मदिरा के पक्ष में आकर विदेशी मदिरा का विरोध कर रहे हैं। इससे समझा जा सकता है कि शिवराजसिंह चौहान देशी मदिरा के ब्रांड एम्बेसडर के रूप में पूर्व में भी काम करते थे और अभी वर्तमान में भी कर रहे हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804