GLIBS
20-07-2019
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को रोका जाना यूपी सरकार की तानाशाही: सांसद ज्योत्सना चरणदास महंत 

रायपुर। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीन विवाद को लेकर आदिवासियों की हुई हत्या और सोनभद्र दौरे पर जा रहे कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी को रोके जाने के बाद गिरफ्तार करने की घटना की कोरबा लोकसभा क्षेत्र की सांसद ज्योत्सना चरणदास महंत ने कड़े शब्दों में निंदा की है। 
श्रीमती महंत ने अपने बयान में कहा है कि घटना को चार दिन के बाद भी उत्तर प्रदेश की सरकार इस पर किसी भी प्रकार की कड़ी कार्यवाही न कर घटना की जानकारी व पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी सहित राजनीतिक दल के नेताओं को वहां जाने से रोका जाना यूपी सरकार की तानाशाही रवैया है जिसकी मैं कड़ी शब्दों में निंदा करती हूं। श्रीमती महंत ने कहा कि कानून व्यवस्था के नाम पर राजनीतिक दल के नेताओं को जिस तरह यूपी के साथ-साथ भाजपा शासित राज्यों में बर्ताव किया जा रहा है वह पूरी तरह अलोकतांत्रिक हैं। श्रीमती महंत ने कहा कि सोनभद्र की घटना दुर्भाग्यजनक है लेकिन मामले में यूपी सरकार और वहां का प्रशासन जिस तरह राजनीतिक दलों के लोगों को पीडि़त परिवारों से मिलने को रोकने का प्रयास कर रही है वह अनेक संदेहों को जन्म देता है?

20-07-2019
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर प्रदेश कांग्रेस ने दी श्रद्धांजलि

रायपुर। दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री एवं दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित के निधन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने कहा कि हम सब अपार दुख की इस घड़ी में शोक संतप्त परिवार के सहभागी है। अखिल भारतीय कांग्रेस के महासचिव मोतीलाल वोरा, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, मंत्री मो. अकबर, आबकारी मंत्री कवासी लखमा, नगरीय निकाय मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, मंत्री प्रेमसाय सिंह, मंत्री अमरजीत भगत, मंत्री जयसिंह अग्रवाल, मंत्री अनिला भेड़िया, मंत्री उमेश पटेल, मंत्री रूद्र कुमार गुरू, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष एवं विधायक धनेन्द्र साहू, पूर्व मंत्री एवं विधायक सत्यनारायण शर्मा, पूर्व मंत्री एवं विधायक अमितेष शुक्ल, प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी, छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला एवं प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी, धनजंय सिंह ठाकुर, मो. असलम, एमए इकबाल, विकास तिवारी, जेपी श्रीवास्तव, अभयनारायण राय, आलोक दुबे, कमलजीत सिंह पिंटू ने भी दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त किया एवं श्रद्धांजलि अर्पित की।

20-07-2019
प्रियंका की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारियां

बीकानेर। उत्तरप्रदेश में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को सोनभद्र जाने से रोकने एवं हिरासत में लेकर नजरबंद करने के विरोध में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शनिवार को गिरफ्तारियां दी।
शहर कांग्रेस के प्रवक्ता नितिन वत्सस ने बताया कि प्रियंका गांधी को गिरफ्तार करने के विरोध में आयोजित प्रदर्शन कार्यक्रम के अवसर पर कांग्रेस के शहर अध्यक्ष यशपाल गहलोत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) केंद्र सरकार और अन्य राज्यों में भाजपा नीत सरकार लगातार लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन कर रही है जो कि निदंनीय है। उन्होंने कहा कि यह तानाशाही की पराकाष्ठा है और बीकानेर शहर जिला कांग्रेस की कदम की कड़ी भत्र्सना करती है।
इस अवसर पर कांग्रेस के प्रदेश सचिव हाजी जिया उर रहमान आरिफ ने कहा कि उत्तरप्रदेश की भाजपा सरकार का यह कदम कायराना है। नगर निगम नेता प्रतिपक्ष जावेद परिहार, पीसीसी सदस्य मकसूद अहमद, साजिद सुलेमानी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कन्हैयालाल कल्ला, मुकेश राजस्थानी, हारून राठौड़ सहित दो दर्जन से अधिक कार्यकतार्ओं ने गिरफ्तारियां दीं।

20-07-2019
कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित का निधन

नई दिल्ली। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन हो गया। वो लंबे समय से बीमार चल रही थीं। एस्कॉर्ट अस्पताल में शीला दीक्षित ने अंतिम सांस ली। शीला दीक्षित कांग्रेस की कदृावर नेता और दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष थीं। दिल्ली में कांग्रेस की सरकार जाने के बाद केरल की राज्यपाल भी रही थीं। इसके अलावा कांग्रेस ने यूपी विधानसभा चुनाव में उन्हें मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर भी पेश किया था। शीला को हमेशा से गांधी-नेहरू परिवार का करीबी माना जाता था। 

20-07-2019
जिला मुख्यालय कोंडागांव में कांग्रेस का एक दिवसीय धरना प्रदर्शन

रायपुर। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य से भेदभाव करते हुए मिट्टी तेल के कोटे में 38% की कटौती, पेट्रोल डीजल के दामों में की गई वृद्धि, धान के समर्थन मूल्य में मात्र 3.7% की वृद्धि, दाल भात केंद्रों, छात्रावासों के चावल के कोटे में कटौती के खिलाफ जिला कांग्रेस कमेटी कोंडागांव द्वारा एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया जा रहा है। जिसमें जिले वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद हैं।

19-07-2019
सोनभद्र हत्याकांड : मृतकों के परिजनों से मिलने जा रहीं प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया गया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में हुए नरसंहार के मृतकों के परिजनों से मिलने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को रास्ते में रोक लिया गया। इसके विरोध में प्रियंका गांधी मिजार्पुर में ही धरने पर बैठ गई। धरने पर बैठने के बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। हिरासत में लिए जाने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि मुझे सोनभद्र जाना है। जहां ये ले जाएंगे, वहां जाऊंगी। प्रियंका गांधी के साथ उनके समर्थक भी सड़क पर बैठे थे। उनके समर्थकों ने यूपी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। बता दें कि बुधवार को सोनभद्र जिले में भूमि विवाद को लेकर हुई हिंसा में 10 लोगों की हत्या हो गई थी, जबकि 24 से भी अधिक लोग घायल हो गए थे।

प्रियंका गांधी ने कहा कि 'हां, हम अभी भी नहीं झुकेंगे। हम शांति के साथ पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहे थे. मुझे नहीं पता कि ये लोग कहां ले जा रहे हैं। हम लोग कहीं भी जाने के लिए तैयार हैं।' पुलिस ने इस सामूहिक हत्याकांड के मामले में 29 लोगों को गिरफ्तार किया है और बाकी आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है। इस मामले में 61 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है, जिसमें 50 अज्ञात हैं। एक स्थानीय व्यक्ति लल्लु सिंह की याचिका पर गांव के मुखिया यज्ञदूत व उसके भाई और अन्य पर भी एससी/एसटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इस बीच, उत्तर प्रदेश विधानमंडल के मानसून सत्र के पहले दिन सदन की बैठक शुरू होने से पहले सपा के विधानसभा एवं विधान परिषद सदस्यों ने विधान भवन परिसर में चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के सामने धरना दिया। लाल टोपी पहने सपा सदस्यों ने भाजपा को कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर घेरा। उन्होंने कहा कि सोनभद्र की हत्याएं और संभल में पुलिसकर्मियों पर हमला भाजपा सरकार के भारी भरकम वायदों की पोल खोलने के लिए काफी है। सपा सदस्यों ने नारेबाजी भी की। उधर, उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में हुई गोलीबारी की घटना पर संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग ने गुरूवार को घटना की जांच के लिए दो सदस्यीय टीम बनाई। आयोग ने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया कि दोषियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए।

आयोग की ओर से जारी बयान में बताया गया कि उपाध्यक्ष मनीराम कौल के नेतृत्व वाली आयोग की टीम में रामसेवक खारवार भी सदस्य हैं। टीम घटनास्थल पर जाकर आदिवासियों और घायलों से मुलाकात करेगी और अपनी रिपोर्ट अध्यक्ष बृजलाल को सौंपेगी। बयान में कहा गया कि आयोग ने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया कि दोषियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए, गांव में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात कर आदिवासियों को सुरक्षा मुहैया कराई जाए और प्रकरण की भलीभांति जांच कराई जाए। आयोग ने कहा कि मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो। दोषियों पर गैंगस्टर एक्ट लगाया जाना चाहिए ताकि वे जमानत ना पा सकें।

19-07-2019
सोनभद्र हत्याकांड : पीडितों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी के काफिले को रोका, धरने पर बैठी

वाराणसी। सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के काफीले को रोक दिया गया है। प्रियंका के इस काफिले को नारायणपुर पुलिस स्टेशन के पास रोका गया। बता दें कि सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या के बाद प्रियंका गांधी पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए वहां जा रही थीं।

 

18-07-2019
आकांक्षी जिला योजना में कोंडागांव ने किया देश में प्रथम स्थान हासिल : कांग्रेस

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव एवं प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा है कि नीति आयोग द्वारा जारी किए गए आकांक्षी जिला कार्यक्रम की वर्ष 2019 की सूची जारी की गई। इसमें छत्तीसगढ़ के कोंडागांव को प्रथन स्थान प्राप्त हुआ है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस उपलब्धि पर हर्ष जताते हुए बधाई प्रेषित की है। प्रवक्ता विकास तिवारी ने बताया कि इस उपलब्धि के सूत्रधार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम है, जिनके अथक प्रयास और भागीरथी संकल्प से ही यह संभव हुआ है। लगातार चार बार के विधायक मोहन मरकाम की अपने विधानसभा में जबरदस्त और मजबूत पकड़ है, विपरीत परिस्थितियों के बाद भी उन्होंने अपने जिले को आज देश के पटल में प्रथम स्थान में लाकर अपनी कर्मठता और लगनता का परिचय दिया है।
विकास तिवारी ने बताया कि आकांक्षी जिलों को स्वास्थ्य और पोषण, शिक्षा, कृषि और जल संसाधन, वित्तीय समावेशन और कौशल विकास तथा आधारभूत ढांचे के मानदंडों पर पारदर्शिता के आधार पर उनके प्रमुख प्रदर्शन संकेतकों के जरिए श्रेणीबद्ध किया गया है।
आकांक्षी जिला कार्यक्रम की शुरूआत जनवरी 2018 को की थी। इसका उद्देश्य उन जिलों में तेजी से बदलावा लाना है, जिन्होंने प्रमुख सामाजिक क्षेत्रों में तुलनात्मक दृष्टि से कम प्रगति की है और वे अल्पविकास के रूप में उभरे हैं, जिसके कारण वे संतुलित क्षेत्रीय विकास सुनिश्चित करने के लिए चुनौती बने हुए हैं। यह कार्यक्रम अपनी क्षमता का अनुकूलतम उपयोग करने के लिए  तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था में भाग लेने वाले लोगों की क्षमता में सुधार लाने पर ध्यान केंद्रित करता है। स्वास्थ्य एवं पोषण, शिक्षा, कृषि एवं जल संसाधन, वित्तीय समावेशन एवं कौशल विकास और बुनियादी ढांचा इस कार्यक्रम के मुख्य केन्द्र है।

17-07-2019
गुजरात में एक समुदाय का फरमान, नहीं कर सकेगीं लड़कियां मोबाइल पर बात 

नई दिल्ली। गुजरात के एक तालुका में तगलुकी फरमान जारी किया है। इसमें दूसरे समुदाय में विवाह करने पर लाखों का जुर्माना और अविवाहित युवतियों के मोबाइल के उपयोग पर रोक लगाई है। गुजरात के बनासकांठा जिले के दंतेवाड़ा तालुका के 12 गांवों में ठाकोर समुदाय ने एक प्रस्ताव पास किया है। इसके जरिए अंतरजातीय शादियों और अविवाहित लड़कियों के मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर रोक लगाई गई है। समुदाय ने यह फैसला ऐसे वक्त में किया है, जब जिले में अंतरजातीय शादियों के कई मामले सामने आ चुके हैं। 
प्रस्ताव में उन परिवारों पर जुर्माना लगाने की मंजूरी दी गई है, जिनके यहां अंतरजातीय शादियां हुई हैं। इसके मुताबिक, अगर किसी ठाकोर लड़की की शादी दूसरे समुदाय में होती है तो परिवार को 1.5 लाख रुपए का जुर्माना देना होगा। वहीं, अगर ठाकोर लड़के की शादी समुदाय के बाहर होती है तो उसके घरवालों को 2 लाख रुपये देने होंगे। बता दें कि 14 जुलाई को 12 गांवों के करीब 800 ठाकोर नेता जीगल गांव में इकट्ठा हुए थे। इनमें समुदाय के नेता, मोहल्ला प्रतिनिधियों से लेकर युवा तक शामिल थे। इस बैठक में एक 9 बिंदुओं वाला प्रस्ताव पास किया गया और आदेश दिया गया कि सभी उसका पालन करें। जो भी इन नियमों का उल्लंघन करेगा, उसे समुदाय की ओर से सजा देने की बात कही गई है। प्रस्ताव में कहा गया है कि अविवाहित लड़कियों को मोबाइल फोन के इस्तेमाल की इजाजत नहीं होगी। अगर लड़कियों के पास मोबाइल फोन मिलेंगे तो उसके लिए उसके घरवाले जिम्मेदार होंगे। वाव क्षेत्र से कांग्रेस विधायक गेनीबेन नागाजी ने कहा कि वह अंतरजातीय शादियों और लड़कियों के मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन को समर्थन देती हैं। गेनीबेन खुद ठाकोर समुदाय से ताल्लुक रखती हैं।

16-07-2019
कांग्रेस ने भेजी शिवराज सिंह चौहान के घर डॉग हैंडलर्स के ट्रांसफर आदेश की 63 सूचियाँ 

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि प्रदेश के 13 वर्ष तक मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान मुद्दों के अभाव में कुत्तों के ट्रांसफर पर राजनीति कर रहे हैं, बचकाने बयान दे रहे हैं, जो कि बेहद शर्मनाक है।
वे कमलनाथ सरकार में हुए डॉग हैंडलर्स के ट्रांसफर के एक आदेश को आधार बनाकर बयानबाजी कर रहे हैं। जबकि उन्हें यह भली-भांति ज्ञात होना चाहिए कि यह ट्रांसफर एक सामान्य प्रक्रिया का हिस्सा है। खुद उनकी सरकार में भी इस तरह के 63 आदेश जारी हो चुके हैं। उसके अलावा भी कई सिंगल आदेश डॉग हैंडलर्स के ट्रांसफ़र के उनकी सरकार में जारी हुए है।
सलूजा ने कहां कि यह सभी जानते हैं कि शिवराज सिंह के मुख्यमंत्री रहते सरकार नौकरशाह चलाते थे। उन्हें तो कई निर्णयों की जानकारी नहीं रहती थी। शायद इसीलिए उन्हें इन निर्णयों की जानकारी नहीं होगी। इसलिये इस तरह की नासमझी वाली बयानबाज़ी कर रहे है। उन्होंने इस मुद्दे पर बयान देकर स्वयं अपनी प्रशासनिक क्षमताओं पर भी सवाल खड़े कर दिये हैं।
ऐसे बयान देकर वह प्रदेश की जनता को भ्रमित व गुमराह करने का काम कर रहे हैं। यह समझा जा सकता है कि भाजपा के पास मुद्दों का,विचारों का अभाव है और वह मानसिक दिवालियापन की स्थिति से गुजर रही है। इसलिए अब कुत्तों के ट्रांसफर जैसे विषय हीन मुद्दों पर राजनीति कर रही है। नरेंद्र सलूजा ने कहा कि आज कांग्रेस ने, शिवराज सिंह के कार्यकाल के दौरान हुए स्निफर डॉग व हैंडलर्स के ट्रांसफर के आदेश की 63 कॉपियां उनके घर भिजवा कर उनसे आग्रह किया है कि वे इन सूचियों का गहन अध्ययन कर, अपने ज्ञान में वृद्धि करें। प्रदेश की जनता को झूठ परोसना बंद करें। मुद्दों पर राजनीति करें।

15-07-2019
मेरी लेखनी के निशाने पर हमेशा कांग्रेस : झा

भोपाल। पिछले 24 घंटे में अपने सिलसिलेवार ट्वीट से सुर्खियों में आए भारतीय जनता पार्टी उपाध्यक्ष प्रभात झा ने आज कहा कि उन्होंने सिर्फ अपनी विचारधारा के पुरखों द्वारा कही बातों को स्मरण किया है और उनके निशाने पर हमेशा कांग्रेस ही रहती है।
झा ने आज कहा - ट्वीट के जरिये वही बातें लिखी जो वरिष्ठों से बौद्धिक में सुनते रहे हैं। सामान्य तौर पर सनातन बातें जो सदैव मेरी विचारधारा के पुरखों द्वारा कही जाती रही है, मैंने सिर्फ उसका स्मरण किया है। -उन्होंंने अपने ट्वीट के मीडिया में सुर्खियां बटोरने पर कहा कि दुर्भाग्य है कि मीडिया अपनी पिली निगाहों से इन सभी चीजों को देखती है। निर्विकार भाव से किये गए बातों का साक्षी ईश्वर ही होता है। उन्होंने कहा कि उनकी लेखनी में अगर कोई निशाने पर होता है तो सदैव कांग्रेस, क्योंकि वे कांग्रेस की विचारधारा के विरोधी हैं।

इसके साथ ही उन्होंने अपने करीब एक दर्जन ट्वीट में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़े संस्मरणों का भी स्मरण किया। झा ने कल भी अपने सिलसिलेवार ट्वीट में बिना किसी का नाम लिए कहा था कि दूसरों को हार्दिक कष्ट देने वालों को जब खुद हार्दिक कष्ट होता है, तभी उसे अपनी गलती समझ में आती है। किसी के सम्मान के साथ खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। कल आपके साथ भी हो सकता है। आप जो नहीं हैं, उसे बनने के लिए प्रयास तो करें पर नाटक नहीं। 'जाही विधि राखे राम, ताहि विधि रहिए' के भाव को समझकर अपना कार्य करना चाहिए।

13-07-2019
छह माह में 24 हजार बच्चियों से दुष्कर्म,जवाब दे मोदी सरकार : कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने पिछले छह माह के दौरान देश में 24 हजार से ज्यादा बच्चियों के साथ दुष्कर्म की वारदातों पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ की बात करने वाली भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) सरकार को बताना चाहिए कि इस अपराध को नियंत्रित करने में वह असफल क्यों रही है।
कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने शनिवार को यहां जारी एक बयान में कहा कि मोदी सरकार का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा खोखला साबित हो गया है और भाजपा के नेतृत्व वाली सरकारें बच्चियों के प्रति होने वाली दुराचार की घटनाओं को रोकने में असफल हो रही है।
उन्होंने कहा कि बच्चियों के साथ दुराचार की बढ़ती घटनाओं को लेकर असंवेदनशील भाजपा सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है इसलिए देश की सर्वोच्च अदालत ने इस मुद्दे को स्वत: संज्ञान में लिया है। न्यायालय द्वारा जुटाए गए आंकड़ों के अनुसार इस साल एक जनवरी से 30 जून तक 24 हजार 212 बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं हुई हैं। इनमें से सिर्फ 911 मामलों यानी महज चार फीसदी मामलों का निपटारा हुआ है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में बच्चियों के साथ इस दौरान सबसे ज्यादा दुराचार की घटनाएं हुई हैं। राज्य में इस अवधि में 3457 प्राथमिकी दर्ज की गयी हैं और इनमें से सिर्फ 22 मामलों का निपटान हुआ जो कुल प्राथमिकी का तीन प्रतिशत से भी कम है।
उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने बेटी बचाओं कार्यक्रम के तहत प्रति बच्ची पर पांच पैसा खर्च किया है। केंद्र तथा उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार महिलाओं तथा बच्चों के साथ होने वाले अपराधों को लेकर मौन साधे हुए है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804