GLIBS
22-07-2019
हॉस्पिटल में नौकरी देने के नाम पर युवाओं से लाखों की ठगी

कोरबा। वल्र्ड वेलफेयर एंड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन द्वारा संचालित श्री हॉस्पिटल नर्सिंग होम एंड पैरामेडिकल कॉलेज उरगा में नौकरी के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है। पीडि़तों ने बताया कि उनके साथ नौकरी के नाम पर ठगी की गई है, फर्जी नियुक्ति पत्र व नौकरी लगाने के लिए लाखों रुपए लिए गए हंै। आवेदनकर्ताओं ने कॉलेज प्रबंधन से एक माह के अंदर नौकरी देने की मांग की है। कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि उन्होंने डीडी के द्वारा रुपए लिए हैं, जबकि आवेदनकर्ताओं का सीधा आरोप है कि प्रबंधन ने नौकरी के नाम पर, अवैध रुपए वसूल किए हैं जो जांच का विषय है। 

 

 

28-06-2019
तहसीलदार ने 900 करोड़ की शत्रु संपत्ति कर दी पाकिस्तानी के नाम


नई दिल्ली। आजादी के वक्त हिंदुस्तान छोड़ लाहौर जा चुके शख्स की शत्रु संपत्ति पर अधिकारियों की मिलीभगत से स्थानीय लोगों काबिज रहे। तहसीलदार ने सारे प्रकरण को जानते हुए उसी व्यक्ति के नाम पर संपत्ति दर्ज कर दी जो भारत छोड़ पाकिस्तान जा चुका है। 

मामले में जांच हुई तो पता चला कि मोदीनगर की सिकरी में करीब 900 करोड़ की संपत्ति है, जो तहसीलदार की वजह से अभी तक सरकार में निहित नहीं हो सकी। 
अब डीएम ने करीब 500 एकड़ जमीन को सरकार में निहित करने के लिए मुंबई स्थित कस्टोडियन को पत्र लिख दिया है। उधर, तहसीलदार के खिलाफ शासन से विभागीय कार्रवाई की सिफारिश कर दी है।

 बीते वर्ष डीएम को शिकायत प्राप्त हुई थी कि सिकरी में रोड किनारे कई सौ करोड़ रुपये की जमीन पर स्थानीय लोगों का कब्जा है। जमीन आजादी के वक्त पाकिस्तान जा चुके एक व्यक्ति के नाम पर थी, जो नियमानुसार उसके पर सरकार को मिलनी चाहिए थी।

27-06-2019
गोरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा पर सरकार सख्त, बनेगा कड़ा कानून, सजा, जुर्माने का प्रावधान

भोपाल। गोरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा पर लगाम लगाने ने लिए मध्यप्रदेश सरकार सख्त कानून बनाएगी। इस कानून में गोरक्षा के नाम पर हिंसा एवं भीड़ द्वारा हत्या करने वाले स्वयंभू गोरक्षकों को जेल की सजा का प्रावधान किया जाएगा।
मुख्यमंत्री कमलनाथ के नेतृत्व में कैबिनेट बैठक में गोवंश वध प्रतिषेध अधिनियम-2०4 में संशोधन करने की मंजूरी दी गई है। प्रदेश के पशुपालन मंत्री लाखन सिंह यादव ने इसकी पुष्टि की है। सूत्रों के अनुसार मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार 8 जुलाई से होने वाले आगामी विधानसभा सत्र में इस अधिनियम के संशोधन बिल को अमलीजामा पहनाने के लिए पेश करेगी।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार इस संशोधन के विधानसभा में पारित होकर कानून बनने के बाद यदि कोई शख्स अकेला गोरक्षा के नाम पर हिंसा करेगा तो उसे छह महीने से लेकर तीन साल की सजा और जुर्माना देना पड़ेगा।  उन्होंने कहा कि गाय के नाम पर भीड़ द्वारा हिंसा या हत्या की जाती है, तो उनकी सजा को बढ़ाकर न्यूनतम एक साल और अधिकतम पांच साल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि यदि अपराधी दोबारा अपराध करता है तो उसकी सजा दोगुनी कर दी जाएगी। 
अधिकारी ने बताया कि संशोधन में उन लोगों को एक से तीन साल की सजा देने का प्रावधान किया जाएगा जो हिंसा के लिए लोगों को उकसाने का कार्य करेंग। संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले गोरक्षकों को भी इसके तहत सजा दी जाएगी। 

 

26-06-2019
डॉक्टरों को इतना डर कि अपनी सुरक्षा के लिए बना ली निजी सेना, यह रखा नाम 

पटना। चमकी बुखार से हो रही मौत के कारण चर्चा में आया बिहार का मुजफ्फरपुर शहर इन दिनों एक और कारण से सुर्खियां बटोर रहा है। यहां डॉक्टरों ने अपनी सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम कर रखा है। शहर में निजी क्लीनिक और छोटे अस्पताल चलाने वाले डॉक्टरों ने क्यूआरटी यानी 'क्विक रिएक्शन टीम' की व्यवस्था की है। दरअसल, आए दिन डॉक्टरों के साथ मरीजों के परिजनों द्वारा मारपीट की घटनाओं की खबरें आती रहती हैं। इसको देखते हुए मुजफ्फरपुर में भी डॉक्टर डरे हुए हैं। अब अपने बचाव के लिए उन्होंने अपनी खुद की व्यवस्था कर ली है। शहर के कई डॉक्टरों ने पैसे इकठ्ठे कर क्विक रिस्पॉन्स टीम तैयार की है। इन डॉक्टरों का कहना है कि कई बार ऐसा होता है कि सूचना के बाद पुलिस काफी देर से पहुंचती है, तब तक हालात काफी बिगड़ चुके होते हैं। ऐसी स्थिति में क्विक रिस्पॉन्स टीम उनकी सुरक्षा करेगी। क्यूआरटी में 20 से 25 सुरक्षाकर्मी हैं। ये सुरक्षाकर्मी डॉक्टरों की एक कॉल पर तुरंत रिस्पांस करते हैं। इस टीम में आर्मी के रिटायर जवान होंगे। सिक्योरिटी एजेंसी के ये जवान डॉक्टरों की सुरक्षा करेंगे। इसके लिए इन्हें बाइक भी मुहैया कराई गई है। टीम में शामिल सुरक्षाकर्मी हर वक्त चौकन्ना रहता है। जैसे ही किसी डॉक्टर के पास से खतरे की सूचना आती है तो टीम के सदस्य तुरंत वहां पहुंचते हैं और मरीज के परिजनों को हिंसा करने से रोकते हैं। मुजफ्फरपुर की तर्ज पर ही मोतिहारी और सीतामढ़ी में भी डॉक्टरों ने सुरक्षा का यही कारगर तरीका अपनाया है। बड़े अस्पतालों और निजी कॉलेजों में जहां अपने सुरक्षा गार्ड तैनात हैं तो वहीं छोटे अस्पतालों ने क्यूआरटी हायर कर रखा है।

 

24-05-2019
कोल बिक्री के नाम पर 14 लाख की ठगी, दो आरोपी तेलंगाना से गिरफ्तार

रायपुर। एन्थ्रासाइट कोल बिक्री करने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करने वाले दो अंतर्राज्यीय आरोपी को सिविल लाइन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी का नाम एन.भूपाल उर्फ नायक नानावट (34) व वेंकट रमन्ना बण्डी (53) वर्ष है। दोनों आरोपी तेलंगाना के रहने वाले हैं। बताया जाता है कि गुढिय़ारी निवासी प्रांजल डागा का गोगांव में वयाम प्लास्टर इंडस्ट्रीज में प्लास्टर ऑफ पेरिस का निर्माण व लोहा सीमेंट कोल की खरीदी-बिक्री का काम करता है। उसने कोल खरीदी के लिए हैदराबाद के मंजीरा मैजेस्टिक कामर्शियल कंपनी से संपर्क किया था। कंपनी के डायरेक्टर नायक नानावट ने साउथ अफ्रिका से कोल गोगांव भेजने का आश्वासन देकर उससे 14 लाख 45 हजार रुपए ले लिए। इसके बाद सामान देने में टाल मटोल करते रहे। इससे प्रांजल ने इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में की। मामले में पुलिस ने शुक्रवार को दोनों आरोपियों को धारा 420,34 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि आरोपियों ने प्रांजल के अलावा देश भर में अन्य लोगो को भी इसी तरह ठगी का शिकार बना चुका है।

23-05-2019
राष्ट्रवाद के नाम से लड़ा गया यह लोकसभा चुनाव : सीएम बघेल 

 

रायपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पत्रकारवार्ता में कहा कि देश का चुनाव हो चुका है। अधिकांश रिजल्ट्स आ चुके हैं। स्थिति स्पष्ट हो चुकी है। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को जीत की बधाई देते हुए मतदाताओं का भी आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह लोकसभा चुनाव राष्ट्रवाद के नाम से लड़ा गया। इस जनादेश का हम स्वागत करते हैं। इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से कहां चूक हुई के सवाल के जवाब में भूपेश बघेल ने कहा कि जनता के फैसले का स्वागत करते हैं। सीएम बघेल ने कहा कि जनता ने राष्ट्रवाद के नाम से मतदान किया है। चुनाव में कांग्रेस के 60 दिन बनाम 60 महीने के वजह से जनता ने चुनाव नहीं लड़ा। जनता ने केवल राष्ट्रवाद के मुद्दे पर चुनाव को फोकस किया। सीएम ने एक सवाल के जवाब में कहा कि भाजपा और कांग्रेस दोनों ही राष्ट्रवादी पार्टी है लेकिन विचारधाराएं अलग- अलग हैं। मंत्री कवासी लकमा के ईवीएम के सवाल को लेकर भूपेश बघेल बचते हुए नजर आए।

15-04-2019
Voters : अब मतदाता ऑनलाइन देख सकते हैं मतदाता सूची में अपना नाम

रायपुर। राज्य का कोई भी मतदाता जिनका नाम मतदाता सूची में दर्ज है, वे अपना नाम मतदाता सूची में देख सकते हैं। इसके लिए मतदाता सेवा पोर्टल, वोटर हेल्पलाइन एप्लीकेशन, कॉल सेन्टर या निशुल्क एसएमएस सेवा का उपयोग कर सकते हैं। भारत निर्वाचन आयोग ने देश के 87.5 करोड़ अपने मतदाताओं की सहूलियत के लिए वोटर हेल्पलाइन एंड्रायड एप्लिकेशन शुरू किया है। भारत निर्वाचन अयोग ने अपनी वेबसाइट में मतदाताओं की सुविधा के लिए अब वोटर सर्च  का विकल्प उपलब्ध करा दिया है। इसके माध्यम से मतदाता अपनी खुद की जानकारी सर्च कर सकते हैं। आयोग द्वारा वोटर हेल्पलाइन मोबाइल एप्लीकेशन भी लांच किया गया है, जिसे प्ले-स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। इस एप के माध्यम से मतदाता एक ही स्थान से भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट, स्वीप, एनवीएसपी, मतदाता सर्च एवं एनजीएसपी (शिकायत पोर्टल) का उपयोग कर सकते हैं। मतदाता सीधे टोल फ्री नंबर 1950 पर सीधे कॉल कर मतदाता सूची संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
इसके अलावा मोबाइल सेवा से जुड़े आम मतदाताओं के लिए शार्ट मैसेज सर्विस (एसएमएस) की सुविधा भी उपलब्ध है। इसके तहत मतदाता, मतदाता सूची से संबंधित जानकारियाँ सिर्फ एक एसएमएस के माध्यम से प्राप्त कर सकता है। आयोग की यह सेवा निःशुल्क है। इसके तहत मतदाता अपने मोबाइल से आयोग के निःशुल्क  नंबर 1950 में एसएमएस कर अपनी प्राथमिक जानकारियां सहित निर्वाचन क्षेत्र, मतदान केन्द्र, सरल क्रमांक के साथ ही बूथ लेवल अधिकारी का मोबाइल नंबर भी प्राप्त कर सकते हैं।  
मतदाता यह जानकारी हिन्दी या स्थानीय अथवा अंग्रेजी भाषा में प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए मतदाता को अपने मोबाइल के  मैसेज बाक्स में जाकर अंग्रेजी में ECI लिखकर स्पेस देना होगा। उसके बाद EPICNUMBER अर्थात मतदाता पहचान पत्र की संख्या  लिखना / टाइप करना है। इसके बाद चाही गई जानकारी हिन्दी अथवा स्थानीय भाषा के लिए 1 तथा अंग्रेजी के लिए 0 टाइप करना है। याने ECI EPICNO 1 अथवा 0 टाइप करके लिखे हुए इस मैसेज को आयोग के निशुल्क  नम्बर 1950 में भेज देना है । इसके बाद मतदाता को एक संदेश प्राप्त होगा, जिसमें मतदाता सूची अनुसार संबंधित मतदाता का नाम, उम्र,निर्वाचन क्षेत्र तथा राज्य का नाम अंकित होगा। यदि मतदाता अपने मतदान केन्द्र की जानकारी चाहता है, तो उसे मैसेज बाक्स में जाकर ECIPS लिख कर स्पेस देना होगा और फिर अपना मतदाता पहचान संख्या याने EPIC NUMBER लिखना है। फिर स्पेस देकर उसके बाद भाषा का चयन करते हुए याने हिन्दी या स्थानीय भाषा के लिए 1 या और अंग्रेज़ी भाषा के लिए 0 अर्थात ECIPS EPICNO 1 अथवा 0 टाइप करना है। फिर लिखे/ टाइप किए गए इस मैसेज को आयोग के निशुल्क नम्बर 1950 में भेज देना है । ऐसा करने से मतदाता को मतदान केन्द्र की जानकारी मिल जाती है ।
इसके अलावा यदि मतदाता को अपने क्षेत्र के बूथ लेवल अधिकारी से मतदाता सूची से संबंधित जानकारी के लिए संपंर्क करना हो तो उसका मोबाइल नंबर भी प्राप्त किया जा सकता है। इसके लिए मतदाता को अपने मोबाइल के मैसेज बाक्स पर जाकर ECICONTACT लिखना होगा फिर स्पेस देकर अपना मतदाता पहचान संख्या EPIC NUMBER टाइप करना होगा तथा स्पेस देते हुए चाही गई जानकारी हिन्दी या स्थानीय भाषा  के लिए 1 या और अंग्रेज़ी भाषा के लिए 0 टाइप करना है । याने  ECICONTACT EPICNO 1 या शून्य 0 टाइप कर आयोग के निशुल्क नम्बर 1950 में मैसेज भेजना है । इस प्रकार एसएमएस सेवा के माध्यम से मतदाता घर बैठे मतदाता सूची से संबंधित अपनी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।
 

11-04-2019
मतदान करने गया तब पता चला पूरे परिवार का नाम गायब!

गौतमबुद्ध नगर। 2015 में जिस व्यक्ति को गोमांस रखने के आरोप में भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला था, उस व्यक्ति के पूरे परिवार का नाम वोटर लिस्ट से गायब है। जी हां गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाले बिसहाड़ा निवासी मोहम्मद अखलाक का परिवार आज सुबह वोट डालने गया तब पता चला कि परिवार के किसी भी सदस्य का नाम अब वोटर लिस्ट में नहीं है। 55 वर्षीय मोहम्मद अखलाक वही शख्स थे जिसकी भीड़ ने गोमांस रखने के शक पर पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस संबंध में अधिकारियों का कहना है कि कई महीने से अखलाक के घर में कोई सदस्य नहीं रह रहा था। इसीलिए वोटर लिस्ट से उनका नाम हटा दिया गया होगा। बताया जा रहा है कि अखलाक के परिवार ने लिंचिंग की घटना के बाद सुरक्षा कारणों से गांव छोड़ दिया था। आज सुबह वे वोट डालने के लिए आए थे। बता दें कि पिछले दिनों इसी गांव में सीएम योगी आदित्यनाथ की रैली हुई थी। इस रैली में अखलाक की हत्या के आरोपियों ने भी हिस्सा लिया जो इस समय जमानत पर बाहर हैं। मुख्य आरोपी विशाल राणा समेत आरोपी चार अन्य लोग रैली में सबसे आगे खड़े दिखाई दिए थे। 

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804