GLIBS
02-06-2019
पटवारियों को दिया गया भुईंया सॉफ्टवेयर का प्रशिक्षण

बेमेतरा। शासन द्वारा भुईयां साफ्टवेयर में संशोधन का प्रशिक्षण कार्यक्रम जिला पंचायत सभागार बेमेतरा में आयोजित किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम पटवारियों को भुइयां साफ्टवेयर की विस्तृत नवीन संस्करण की जानकारी के लिए आयोजित किया गया। कलेक्टर महादेव कावरे की ओर से  प्रशिक्षण मे उपस्थित अधिकारी एवं पटवारियों को निर्देश दिया कि राज्य शासन की ओर से किसानों एवं हितग्राहियों के हित को ध्यान मे रखते हुए, भुईयां सॉफ्टवेयर में संशोधन कर अभिलेख सुगम्य एवं सरल किया गया।

प्रोग्रामर की ओर से बताई गई जानकारी में यदि कोई समस्यां आती है, उसे शार्ट-आउट कर लिया जावें एवं पूर्ण लगन एवं ध्यान से प्रशिक्षण प्राप्त करें। इससे शासन की महत्वपूर्ण योजना क्रियान्वयन सफलता पूर्वक किया जा सके। इस अवसर पर अपर कलेक्टर महिलांग, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत बेमेतरा प्रकाश कुमार सर्वे, प्रभारी अधिकारी भू-अभिलेख डीआर डाहिरे एवं अधीक्षक भू-अभिलेख पीपी द्विवेदी एवं आशुतोष गुप्ता एव जिले के समस्त तहसीलदार उपस्थित थे।

25-05-2019
21 अधिकारियों-कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस,कलेक्टर ने किया विभिन्न कार्यालयों का औचक निरीक्षण

बेमेतरा। कलेक्टर महादेव कावरे ने शनिवार सुबह 10.30 बजे से 11.00 बजे के बीच बेमतरा स्थित विभिन्न कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने उपस्थिति पंजी का भी अवलोकन किया। कार्यालयों के निरीक्षण के दौरान 21 अधिकारियों-कर्मचारियों के हस्ताक्षर नहीं पाया गया। कलेक्टर के निरीक्षण में कई कर्मचारी नदारद मिले। उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। कलेक्टर ने जिला परिवहन, कार्यालय, आई.टी.आई. जनपद पंचायत, नगर पालिका  कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। कलेक्टर द्वारा अवलोकन के दौरान कई कर्मचारियों के उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर नहीं होना पाया गया। कलेक्टर को पिछले कुछ दिनों से कर्मचारियों के विलंब से दफ्तर आने तथा कार्यालय आने के पश्चात सीट से गायब रहने की शिकायतें मिली थी। इससे आम नागरिकों को असुविधा हो रही थी। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को समय पर ड्यूटी में आने के निर्देश दिए है। अन्यथा उनके खिलाफ शासकीय कार्य में उदासीनता एवं लापरवाही बरतने के कारण कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही की चेतावनी कलेक्टर ने दी।
इन्हें मिला कारण बताओ नोटिस 
जिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर नहीं किए हैं। कलेक्टर के निर्देश पर उन्हे कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इनमें जिला परिवहन कार्यालय के परिवहन आरक्षक प्रीति राजपूत, परिवहन प्रधान आरक्षक, आलेन्द्र कुमार ध्रुव, परि.आ.भेष कुमार करेन्द्र, आई.टी.आई. बेमेतरा के खुमान सिंह डाहिरे, मेहमान प्रवक्ता, जनपद पंचायत बेमेतरा के अरविन्द कश्यप पी.ओ. मनरेगा के.के.साहू विकास विस्तारक अधिकारी, बी.पी.बंछोर वि.वि.अधिकारी, प्रभारी पी.एस.ई.ओ.(प्रभारी) यू.डी.चेलक, सहा.ग्रेड-02 आर.के.ताम्रकमार, मनरेगा ए.पी.ओ. (सहायक)  यास्मिनि सागर, बी.सी. विकास सिंह राजपूत, पी.एम.जी.एस.वाय. मेघा शर्मा टी.ए. सहायक ग्रेड-03 युगल किशोर साहू, नगरपालिका परिषद बेमेतरा के देवेन्द्र बनागर, गरिमा परिहार, रामाधार वर्मा, जीवन यादव भृत्य, नगरपालिका विद्युत विभाग- इंदर मन वर्मा, बलदाउ वर्मा, विजय साहू, हेमचंद पाण्डे को उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर नहीं होना पाया गया। संबंधितों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

 

11-01-2019
Supervisor of Women : महिला एवं बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर निलंबित

बेमेतरा। कलेक्टर महादेव कावरे ने महिला एवं बाल विकास विभाग  नवागढ़ की सुपरवाइजर वसुन्धरा जोगी को कार्यों में लापरवाही बरतने पर निलंबित करने का आदेश  जारी किया हैं।

 

09-01-2019
Suspend : जनपद पंचायत के उपअभियंता और स्कूल शिक्षक को कलेक्टर ने किया निलंबित

बेमेतरा। कलेक्टर महादेव कावरे ने 9 जनवरी को जनपद पंचायत नवागढ़ में  समीक्षा बैठक लेकर ब्लॉक में चल रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा की। जिलाधीश ने शासकीय कार्य में उदासीनता व लापरवाही बरतने के कारण जनपद पंचायत के उपअभियंता जयराम शर्मा को निलंबित कर दिया। प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत निर्माण कार्यों में जयराम शर्मा कोई रुचि नहीं ले रहे थे। निलम्बन अवधि में उनका मुख्यालय जिला पंचायत कार्यालय बेमेतरा नियत किया गया है। इसी प्रकार समेसर (नवागढ़) शासकीय प्राथमिक शाला में कलेक्टर महादेव कावरे के औचक निरीक्षण के दौरान सहायक शिक्षक पंचायत सुनील साहू अनुपस्थित पाए गए। उनका भी निलंबन आदेश जारी किया गया है।

 

04-01-2019
कलेक्टर महादेव कावरे ने समिति प्रबंधक को किया निलंबित 

बेमेतरा। बेमेतरा कलेक्टर महादेव कावरे ने शुक्रवार को बेरला ब्लॉक का दौरा किया। उन्होंने बेरला सेवा सहकारी समिति में धान खरीदी का निरीक्षण किया। यहां धान का वजन इलेक्ट्रॉनिक तराजू से नहीं किया जा रहा था। इसके लिए उन्होंने समिति प्रबंधक रोहित चंदेल को निलंबित करने का निर्देश दिया। उन्होंने जिले की अन्य सेवा सहकारी समितियों को भी इलेक्ट्रॉनिक तराजू से धान तौलने का निर्देश दिया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804