GLIBS
22-05-2019
सीएम भूपेश बघेल ने दी इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई, कहा-देश की सुरक्षा को मिलेगी मजबूती  

रायपुर। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने बुधवार को श्रीहरिकोटा से बेहतरीन सैटेलाइट PSLVC46 को लॉन्च किया है। इसके साथ ही PSLVC46 ने RISAT-2B रडार पृथ्वी अवलोकन सैटेलाइट को 555 किलोमीटर की ऊंचाई वाले लो अर्थ ऑर्बिट में पहुंचा दिया है। 
इसरो की इस सफलता पर सीएम भूपेश बघेल ने इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई दी है। उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा की प्रक्षेपण यान PSLVC46 के द्वारा RISAT2B का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण करके हमारे इसरो के वैज्ञानिकों ने फिर से नया गौरव हासिल किया है। इससे देश की सुरक्षा को मजबूती मिलेगी। इसरो की कामयाबी पर सभी वैज्ञानिकों व देशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं।

22-05-2019
लोकसभा के नतीजे आने के बाद सीएम भूपेश बघेल एसपी कलेक्टरों की लेंगे क्लास

रायपुर। लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघले प्रदेशभर के कलेक्टर और एसपी की क्लास लेंगे। क्योंकि लंबे समय से एसपी और कलेक्टरों की बैठक आयोजित नहीं हुई है। इसी वजह से एक बैठक लेकर छत्तीसगढ़ व्यवस्था में परिवर्तन लाने की पहल की जाएगी।

बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 3 जून को प्रदेशभर के जिला कलेक्टर और एसपी की बैठक लेंगे। बैठक में कई महत्वपूर्ण मुद्दों को लेकर चर्चा करेंगे। साथ ही जिले में जनता की आने वाले शिकायतों का निराकरण करने साथ ही छत्तीसगढ़ में बढ़त अपराध को रोकने समेत अन्य विषयों को लेकर बैठक लेंगे। जिला कलेक्टर और एसपी के साथ पांचों संभाग के संभागायुक्त और रेंज आईजी के साथ अन्य आला अफसर भी बैठक में शामिल होंगे।

21-05-2019
सीएम भूपेश बघेल ने किया ईवीएम को लेकर ट्वीट, लिखा-पूरी गणना वीवीपेट से करनी चाहिए

रायपुर। मतगणना को दो दिन शेष रह गए है। इधर ईवीएम को लेकर 22 विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग को ज्ञापन सौंपा। इसमें वीवीपेट से पर्चियों को मिलने की मांग की गई। इसी संदर्भ में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीवट किया हैं। उन्होंने लिखा है कि चुनाव की कार्यशैली एवं निष्पक्षता पर सवाल खड़े हो गए हैं। दल ईवीएम के बारे में पहले भी शंका जाहिर कर चुके हैं और सत्ताधारी दल को छोड़कर सभी ने पारदर्शिता की बात की है। सन्देह की स्थिति में पूरी गणना वीवीपेट से करनी चाहिए। इस जायज़ मांग को चुनाव आयोग क्यों नहीं मान रहा है?

 

21-05-2019
छोटे-छोटे नालों के पानी का उपयोग रिचार्जिंग के माध्यम से भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने में हो : सीएम भूपेश बघेल

 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मंगलवार को यहां अपने निवास कार्यालय में छत्तीसगढ़ राज्य के छोटे-छोटे नालों के माध्यम से बहने वाले पानी का उपयोग रिचार्जिंग के माध्यम से भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने के लिए वन, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, कृषि विभाग सहित संबंधित विभिन्न विभागों के अधिकारियों तथा विशेषज्ञों के साथ गहन विचार-विमर्श किया। बैठक में मुख्यमंत्री ने स्वयं वन विभाग, जल संसाधन विभाग तथा विशेषज्ञों द्वारा वाॅटर रिचार्जिंग, जल संवर्धन और जल संचयन के लिए बनाए गए डिटेल प्रोजेक्ट माॅडलों को आडियो-वीडियो प्रस्तुतिकरण के माध्यम से देखा। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सतही जल और जमीन की नमी बढ़ाने विशेष करके भू-जल स्तर को ऊंचा उठाने के लिए वैज्ञानिक ढंग से प्रयास किए जाए। उन्होंने इसके लिए माॅडल एवं प्रस्ताव बनाने के लिए वन विभाग, जल संसाधन विभाग तथा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग मिल जुलकर समन्वित प्रयास करने को कहा। उन्होंने कहा कि पूरे देश सहित छत्तीसगढ़ में भू-जल स्तर में लगातार गिरावट आ रही है और अनेक बार जल संकट की स्थिति बनती है। ऐसे में छत्तीसगढ़ राज्य जल संरक्षण एवं संवर्धन की दृष्टि से देश में अग्रणी भूमिका निभाएं और माॅडल प्रोजेक्ट एवं माॅड्यूल प्रस्तुत करें।  
इस अवसर पर सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह, नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया, महिला एवं बल विकास मंत्री अनिला भेड़िया, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, मुख्य सचिव सुनील कुजूर, अपर मुख्य सचिव सीके खेतान, प्रमुख सचिव आरपी मंडल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में अपर मुख्य सचिव सीके खेतान ने गरियाबंद जिले के काजल नदी में गिरने वाली तथा वन एवं पहाड़ी क्षेत्र में बहने वाली करीब 14 किलोमीटर लम्बी बेन्द्रा नाला केे वाटर रिर्चाजिंग के लिए बनाए गए डिटेल प्रोजेक्ट तथा जल संसाधन विभाग से सचिव अविनाश चम्पावत ने धमतरी जिले के धमधा विकासखण्ड नवागांव के नवागांव से बिरेमार बहने वाली 15 किलोमीटर लम्बे नाला के जल संवर्धन के लिए बनाए गए प्रोजेक्ट तथा रायपुर जिले के धरसींवा विकासखण्ड के कोल्हान नाला के सहायक टेगना नाला के लिए बनाए गए प्रोजेक्ट का आॅडियो-वीडियो प्रस्तुतिकरण किया। इसी तरह लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के पूर्व प्रमुख अभियंता एचके हिंगोरानी ने भी दुर्ग जिले के पाटन विकासखण्ड में गजरा नाला में किए गए जल संरक्षण के प्रयासों पर आॅडियो-वीडियो प्रस्तुतिकरण किया। इस प्रोजेक्टों के माध्यम से उन्होंने विभिन्न सेटेलाइटे ईमेज, जल स्तर के आंकडो, टोपोग्राफी, जियोमेपिंग, रिमोट सेसिंग, कैचमेंट एरिया, जमीन का ढलाव, भूमि की संरचना, राॅक पैटर्न, रैन फाॅल, ड्रेनेज नेटवर्क जमीन में वाटर लाइन में फैक्चर की स्थिति, भूमि का कटाव, वनस्पति की उपलब्धता, क्षेत्र में कृषि पैटर्न जैसे महत्वपूर्ण बिन्दुओं के साथ-साथ वर्तमान समय में उपलब्ध जल संरक्षण के स्ट्रक्चरों की स्थिति आदि की भी जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि विभिन्न सैटेलाइट ईमेजों के विश्लेषणों के साथ-साथ फील्ड में पहुंचकर भी इसके विभिन्न बिन्दुओं के आंकडे एवं जानकारी तथा फोटो आदि संकलित किए गए हैं और इनके आधार पर विस्तृत प्रोजेक्ट तैयार किए गए है।
मुख्यमंत्री ने स्वयं इन सभी प्रोजेक्ट का अवलोकन किया तथा अधिकारियों, सलाहकारों और विशेषज्ञों के साथ उन पर विचार-विमर्श किया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों के प्रयासों की तारीफ की और कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य में साईंटिफिक एप्रोच के साथ ऐसे प्रयासों की शुरूआत एक अच्छी पहल है और यह जरूरी है कि जब भी ऐसे प्रोजेक्ट बनाए जाए तो आसपास क्षेत्रों के नागरिकों के साथ भी विचार-विमर्श किया जाए तथा उनके अनुभव, ज्ञान और सुझाव पर विचार किया जाए। 
बैठक में रिज टू वैली अर्थात पहाड़ी से घाटी की ओर अवधारणा का भी विचार-विमर्श किया गया जिससे पानी के बहने वाले प्रारंभिक स्त्रोत से भी जल संरक्षण का प्रयास हो। बैठक में नदी एवं नालों को तथा वाटर स्ट्रक्चरों को सिल्ट की समस्या को बचाने के लिए भी चर्चा की गई। बैठक में कंटुर स्ट्रक्चर, चेक डेम, स्टाॅप डेम, डाइट वाल, परकोलेशन टैंक जैसे विभिन्न उपायों और उनके समुचित उपयोग पर भी चर्चा की गई।

17-05-2019
नक्सल क्षेत्रों में आदिवासियों के खिलाफ दर्ज 400 मामलों की समीक्षा

रायपुर। पूर्ववर्ती सरकार के समय में नक्सल क्षेत्रों में पुलिस द्वारा कथित रूप से गलत तरीके से आदिवासियों के खिलाफ दर्ज 400 प्रकरणों की समीक्षा हो रही है। इनमें लगभग चार हजार लोग प्रभावित है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में कल हुई बैठक में यह जानकारी दी गई। बैठक में बताया गया कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में अनुसूचित जनजाति वर्ग के रहवासियों के विरूद्ध दर्ज प्रकरणों की समीक्षा उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति एके पटनायक की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा की जा रही है और इसकी पहली बैठक हो चुकी है।

समिति द्वारा लगभग चार सौ प्रकरणों की समीक्षा की जा रही हैं जिसमें करीब चार हजार लोग प्रभावित है। इसमें अनेक लोग ऐसे हैं, जिन पर छोटे-मोटे अपराधों के कारण प्रकरण दर्ज किया गया है। इसकी अगली बैठक 22 जून को प्रस्तावित है। सीएम बघेल ने कहा कि जेल में छोटे-मोटे अपराधों के कारण बंद विचाराधीन कैदियों की जानकारी लें और ऐसे कैदी जो अपराध के लिए आरोपित धारा के तहत निर्धारित सजा की अवधि से ज्यादा समय तक जेल में कैद रहे हैं उन्हें मुक्त करने के लिए उचित कदम उठाएं। उन्होंने अधिकारियों को फर्जी चिटफंड कंपनियों के मामलों में लोगों की धनराशि वापस दिलाने के लिए भी समुचित कार्य करने को कहा। दरअसल कांग्रेस ने विधानसभा चुनावों में नक्सल क्षेत्रों में आदिवासियों के खिलाफ दर्ज मामलों की समीक्षा करवाने और गलत तरीके से दर्ज मामलों को वापस लेने का वादा किया था। सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री ने दर्ज प्रकरणों की समीक्षा उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति ए.के.पटनायक की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति गठित की है। इसकी अनुशंसा के अनुसार राज्य सरकार मामलों को वापस लेगी।

16-05-2019
2020 तक सभी नगरीय निकाय होंगे टैंकर मुक्त: सीएम भूपेश बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गुरुवार को अपने निवास में विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। इस दौरान राज्य में पेयजल की स्थिति की समीक्षा की। वहीं 2020 तक सभी नगरीय निकाय को टैंकर मुक्त करने का निर्देश दिए है। 

बता दें कि बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ग्रामीण क्षेत्रों में खारे पानी की बढ़ती समस्या पर अपनी चिन्ता जाहिर की। उन्होंने वर्षा जल का संरक्षण और तालाबों को सुरक्षित रखने उनके संरक्षण एवं संवर्धन की समुचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने बरसात के पहले शहरों के नालों और नालियों की सफार्ई कराने के निर्देश दिए। वहीं बैठक में किसानों के लिए खाद, बीज की उपलब्धता, खाद की कीमतों में वृद्धि, नरवा, गरूवा, घुरवा, बाड़ी विकास, मनरेगा सहित शहरी व ग्रामीण आबादी क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति आदि की समीक्षा जारी की।

16-05-2019
पहले ही लिखी जा चुकी थी कोलकाता की स्क्रिप्ट : सीएम भूपेश बघेल 

रायपुर। लंबे चुनावी दौरे के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गुरुवार को राजधानी  रायपुर पहुंचे। उन्होंने रायपुर एयरपोर्ट पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि वे कल वाराणसी में आयोजित रोड शो में शामिल हुए, वहां माहौल अच्छा था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि वहां पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जो वादे किए वह पूरे नहीं किए। उन्होंने कोलकाता में हुई हिंसा पर कहा कि कोलकाता की स्क्रिप्ट पहले ही लिखी जा चुकी थी। मध्यप्रदेश में भाजपा द्वारा निकाले गए शांति मार्च पर कहा कि रमन सिंह को प्रचार के लिए तो पार्टी कहीं भेज नहीं रही है, वहीं शांति मार्च का भी नेतृत्व सरोज पांडे कर रही हंै।

मतलब साफ है कि भाजपा नेतृत्वविहीन हो गई है। छत्तीसगढ़ जल नीति पर कहा कि नरवा, गरवा, घुरवा व बाड़ी के लिए ये तमाम चीजें जरूरी हैं, जल को बचाना जरूरी है। तेलंगाना द्वारा दो हजार करोड़ रुपए नहीं देने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि बिजली कंपनियों को पैसे लेने हंै। तेलंगाना सरकार से इस बारे में बातचीत करेंगे। वहीं डॉ. पुनीत गुप्ता पर भी कहा कि दामाद सब कुछ कर रहे थे और रमन सिंह उस समय आंख मूंदकर बैठे थे। आदिवासियों को जेल से रिहा करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हजारों आदिवासियों को बिना कारण जेल में बंद रखा गया जिसकी हम समीक्षा कर रहे हैं।

12-05-2019
कॉम्पलेक्स को तोड़ने के बजाय सरकार इसे अपने नियंत्रण लें, मांग को लेकर दुकानदारों ने सीएम भूपेश बघेल को लिखा पत्र

रायपुर। कालीबाड़ी स्थित भातखंडे ललित कला शिक्षा समिति गुरुकुल कांप्लेक्स को तोड़ने के लिए नगर निगम द्वारा नोटिस जारी करने के बाद से दुकानदारों में हड़कंप मचा हुआ है। इसी के चलते रविवार को दुकानदारों ने एक राय होकर कॉम्पलेक्स को तोड़ने से रोकने के लिए कलेक्टर, सचिव सहित मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि कॉम्पलेक्स को सरकार अपने नियंत्रण में लेकर संचालित करें। 

स्थानीय व्यापारी हरजीत जुनेजा बताया कि कालीबाड़ी स्थित गुरूकुल कॉम्पलेक्स की पिछले कई वर्षो से चली आ रही शिकायतें राज्य शासन के स्तर पर जांच के बाद सही पाई गई हैं। कलेक्टर और सचिव स्तर पर तमाम शिकायतों के बाद नजूल पट्टा रद्द करने और कांप्लेक्स को तोड़ने के आदेश हुए हैं। इस कॉम्पलेक्स में पूरे परिसर में स्कूल सहित विभिन्न लोग निवासरत हैं और वहां पर विभिन्न छोटे-छोटे व्यवसाय कर रहे लोग कई वर्षो से अपनी रोजी रोटी कमा रहे हैं। इससे उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि गुरुकुल  कॉम्पलेक्स परिसर को राज्य शासन अधिग्रहण नियमों के अंतर्गत कर लें और उसे  राज्य शासन की संपत्ति मानकर सभी नीतिगत निर्णय लेकर स्कूल को और परिसर को स्वयं चलाएं। इससे राष्ट्रीय क्षति रोकी जा सके और राज्य शासन को प्राप्त होने वाली आय को स्कूल की प्रगति और शैक्षणिक कार्यों में लगाया जा सके।

10-05-2019
Exclusive : यूपीए को मिलेंगी 300 से अधिक सीटें, राहुल गांधी बनेंगे प्रधानमंत्री : सीएम भूपेश बघेल

इंदौर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इंदौर में आयोजित एक प्रेसवार्ता मे कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्व. राजीव गांधी के बारे में अनर्गल और उनकी मर्यादा को क्षति पहुंचाने वाले बयान दिए हंै। मोदी के बयान आलोचना के योग्य हंै। सीएम बघेल ने कहा कि पीएम मोदी जीएसटी, नोटबन्दी और रोजगार के नाम पर वोट नहीं मांग रहे है। वह धर्म और सेना के नाम पर वोट मांग रहे हैं। भूपेश बघेल ने एक सवाल के जवाब में कहा कि छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में झीरम घाटी हत्याकांड की एनआईए की जांच राज्य सरकार को सौंपने की मांग की है क्योंकि इसमें षडय़ंत्र होने की बू आ रही है। भोपाल लोकसभा सीट के संबंध में उन्होंने पूरे विश्वास के साथ कहा कि यहां से दिग्विजय सिंह एकतरफा जीत हासिल कर रहे हैं। सीएम बघेल ने कहा कि भाजपा ऋण माफी से घबराई हुई है। उन्होंने सवाल किए कि भाजपा बताए कि कालाधन कब आएगा? शौचालय का भुगतान कब होगा? कच्चे तेल का भाव कब कम होगा? सीएम बघेल ने बड़ी दृढ़ता के साथ कहा कि इन पांच वर्षों में केंद्र की भाजपा सरकार का चरित्र उजागर हो गया है। यूपीए को 300 से अधिक सीटें मिलेंगी और राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे। 

10-05-2019
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 10-12वीं बोर्ड परीक्षाओं में सफल होने वाले विद्यार्थियों को दी बधाई 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आज जारी 10-12वीं तथा व्यावसायिक परीक्षा में प्रावीण्य सूची में आने वाले विद्यार्थियों व परीक्षा में सफल होने वाले विद्यार्थियों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने हाई स्कूल सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा वर्ष 2019 तथा हायर सेकेण्डरी स्कूल सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा 2019 के साथ-साथ हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक परीक्षा 2019 के सभी सफल विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना की है।

उन्होंने कहा है कि जिस तरह विद्यार्थियों ने बोर्ड परीक्षाओं के माध्यम से जिन्दगी के एक अहम चरण में सफलता अर्जित की है। उसी तरह भविष्य में भी वे जिन्दगी के हर क्षेत्र में सफलता अर्जित करेंगे और अपने स्कूल, गांव, शहर के साथ-साथ प्रदेश और देश का नाम रोशन करेंगे। मुख्यमंत्री ने परीक्षा में सफल नहीं हो सकने वाले परीक्षार्थियों को भी बिना निराश हुए पूरे धैर्य, हिम्मत और मेहनत के साथ निरन्तर अध्ययन करने की समझाईश दी और कहा कि उन्हें भी परीक्षा सहित जीवन में सफलता निश्चय मिलेगी।

06-05-2019
मुख्यमंत्री सहायता कोष से ओड़िशा को 11 करोड़ रुपये की राशि देने की घोषणा 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ओड़िशा में आए समुद्री चक्रवाती तूफान फोनी से हुए क्षति को देखते हुए ओड़िशा की सहायता के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष से 11 करोड़ रुपये की राशि देने की घोषणा की है। उल्लेखनीय है कि फोनी तूफान के उपरांत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पट्नायक से दूरभाष पर चर्चा की थी और ओड़िशा के इस विपदा की कठिन परिस्थितियों में राज्य को हर संभव मदद देने की पेशकश की थी। उन्होंने ओड़िशा की मुख्यमंत्री से यह भी कहा था कि ओड़िशा राज्य के इस संकट की घड़ी में छत्तीसगढ़ राज्य और यहां की जनता ओड़िशा राज्य और वहां की जनता के साथ खड़ी है और हर संभव सहायता के लिए तैयार है।

06-05-2019
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कमलनाथ से की सौजन्य भेंट

रायपुर। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश के सभी बड़े नेता अन्य राज्यों में चुनाव प्रचार में इन दिनों व्यस्त हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मध्यप्रदेश में लगातार चुनावी सभाएं और रैलियां कर रहे हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ से उनके निवास पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सौजन्य भेंट की।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804

All Over India

Won: 542/542LW
भाजपा0303
कांग्रेस052
बसपा011
सपा05

Chhattisgarh

Won: 11/11LW
भाजपा09
कांग्रेस02
बसपा00
अन्य 00