GLIBS
21-01-2019
Hospital: समय पर इलाज नहीं करने से महिला की मौत, परिजनों का अस्पताल में हंगामा

भिलाईनगर। सोमवार की सुबह सड़क दुर्घटना में घायल अधेड़ की मौत के बाद लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल सुपेला में सोमवार को परिजनों ने जमकर हंगामा किया। परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए धरने पर बैठ गए।  आज सुबह संजय नगर निवासी भानू साहू (50)को घायल अवस्था में शास्त्री अस्पताल लाया गया था।  वह करीब 7 से लेकर 11 बजे तक बैठी रही,लेकिन अस्पताल के डॉक्टरों ने ध्यान नहीं दिया। पुलिस केस होने के कारण अस्पताल के डॉक्टर पुलिस के आने का इंतजार कर रहे थे। पुलिस के आने के बाद भी इलाज करने की बात कहकर छोड़ दिए थे। समय पर इलाज नहीं मिलने महिला की मौत हो गई। मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा मंचाया। अस्पताल के गेट में लाश रखकर डॉक्टरों पर आरोप लगाते रहे। स्थिति बिगडऩे पर भिलाईनगर सीएसपी श्यामसुंदर शर्मा व सुपेला थाना प्रभारी धर्मानंद शुक्ला अपने स्टाफ  के साथ अस्पताल पहुंचे और आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ। मृतका के पुत्र तुलसीदास साहू ने कहा कि सुबह से अस्पताल में थी, लेकिन डॉक्टरों ने पुलिस केस है कहकर इलाज नहीं किया। समय पर इलाज नहीं मिलने से उनकी मां की मौत हो गई। मृतका की बेटी रूखमणी ने डॉक्टरों पर आरोप लगाते हुए कहा कि अस्पताल के डॉक्टरों ने उनकी मां को मारा है। मृतका भानू साहू का नेहरूनगर चौक के पास ईडली दोसा की दुकान है। भानू सुबह आटा सामान लेकर अपने घर से दुकान के लिए निकली थी। ऑटो से दुकान जा रही थी तभी सुपेला थाने के कुछ दूरी पर आटो पलट गई। आटो में सवार 6 घायल हो गए। जिसे पुलिस 112 से शास्त्री अस्पताल सुपेला इलाज के लिए ले गए थे। डॉक्टरों ने बताया कि एक गंभीर घायल था, उसका तत्काल इलाज कर उसे जिला अस्पताल रिफर कर दिया गया। अस्पताल के एंबुलेंस से उसे जिला अस्पताल दुर्ग भेजा गया।

11-01-2019
Mechos: वार्ड बॉय ने मेकॉज में मचाया हंगामा, चिकित्सकों से किया गाली-गलौज

जगदलपुर। डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में वार्ड बॉय ने गायनिक विभाग के चिकित्सकों के साथ गाली-गलौज की। बताया गया कि वार्ड बॉय नशे में चूर था और जब चिकित्सकों ने बिना इजाजत के पर्ची काटने पर सवाल किया तो वार्ड बॉय आग बबूला हो गया और चिकित्सकों से गाली गलौच करने लगा। बता दें कि वार्ड बॉय संविदा नौकरी में था और उसे 4 दिन पहले ही निकाला गया है पर वार्ड ब्वॉय र्ची काटने का काम अभी भी कर रहा था। उक्त मामले की जानकारी देते हुए कर्मियों ने बताया कि गुरुवार की देर रात एक गर्भवती महिला को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज लाया गया था। जहां पर्ची काटने बैठे वार्ड बॉय नशे में चूर था। वार्ड बॉय को जब मरीज के परिजनों ने उठाया तो हुआ टस से मस नहीं हुआ। इसके बाद परिजनों ने सुरक्षाकर्मियों से गायनिक वार्ड की जानकारी पूछी और मरीज को वार्ड ले गए। चिकित्सकों ने जब मरीज की पर्ची की मांग कि तो परिजनों ने चिकित्सकों को बताया कि पर्ची काटने बैठा वार्ड बॉय नशे में धुत होकर सोया पड़ा है, जो उठाने पर भी वह भी नहीं उठ रहा है। चिकित्सक जब परिजनों को लेकर जब वार्ड पहुंचे तो उन्होंने वार्ड ब्वॉय को आवाज लगाई, जब वार्ड बॉय नहीं उठा।  चिकित्सकों ने उसे पकड़ कर बैठा दिया। नशे में धुत वार्ड बॉय चिकित्सकों से जा भिड़ा और उनसे गाली गलौज करने लगा। मामला बढ़ता देख अन्य वार्डों के स्टाफ व सुरक्षाकर्मी मौके पर पहुंचे और मामले को शांत कराया। मिली जानकारी के अनुसार वार्ड ब्वॉय का नाम शिव ध्रुव है और वह मेडिकल कॉलेज की मैट्रेन का पति है।

रात में अधिकतर वार्ड ब्वॉय रहते हैं नशे में

मेडिकल कॉलेज में यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई वार्ड के कर्मचारी इसी तरह नशे में चूर होकर ड्यूटी करते पाए गए हैं। ऐसे में साथ में काम करने वाले स्टाफ व मरीज के परिजनों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

ड्यूटी से हटाया गया

अस्पताल अधीक्षक डॉ. अविनाश मिश्रा ने बताया कि संविदा में रखें इस वार्ड ब्वॉय को 4 दिन पहले ही नौकरी से निकाल दिया गया था। लेकिन वह किसकी परमिशन से ड्यूटी कर रहा था। इसकी जानकारी निकाली जाएगी।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804