GLIBS

16-03-2019
चीन में भूस्खलन से दो मरे 17 लापता

तैयूआन। चीन के उत्तरी प्रांत शांसी में भूस्खलन के कारण मकानों के ढहने से दो लोगों की मौत हो गई तथा 17 अन्य लापता हो गए। स्थानीय अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। लींफेन शहर के जाओलिंग में शुक्रवार शाम 6:10 बजे यह घटना हुई, भूस्खलन के कारण दो रिहायशी मकान और एक सार्वजनिक स्नानघर ढ़ह गए। स्थानीय प्रशासन ने बताया कि मलबे से अब तक 13 लोगों को बचाया जा चुका है हालांकि दो लोग मृत पाय गए। इस हादसे में जीवित बचे लोग लापता हुए लोगों की तलाश कर रहे है। करीब 600 से अधिक लोगों में शामिल सार्वजनिक सुरक्षा अधिकारी, सशस्त्र पुलिस, आपातकाल राहत एवं चिकित्सा कर्मी राहत बचाव में जुटे हैं।

21-01-2019
Eclipse: साल का दूसरा ग्रहण आज भी रहेगा

नई दिल्ली। यह एक अद्भुत खगोलीय घटना होगी। इस दौरान फुल मून (पूर्णिमा) तो होगी ही और चांद पूरी तरह से लालिमा से बिखरा हुआ नजर आएगा। इसी कारण इसे रेड मून भी कहा जा रहा है। हालांकि ये भारत में नहीं दिखेगा। सुपर मून तब होता है जब चांद धरती के काफी करीब हो। जनवरी के फुल मून यानी पूर्ण चंद्रमा को पारंपरिक तौर पर वुल्फ मून कहा जाता है। पूर्ण चंद्र ग्रहण में चांद पूरी तरह से काला नहीं होता। 20 जनवरी को 2019 का पहला फुल मून दिखेगा और इसी दिन साल का पहला चंद्रग्रहण होगा। इसे सुपर ब्लड मून इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि इस ग्रहण से चांद बाकी दिनों के मुकाबले 14 फीसदी बड़ा और 30 फीसदी ज्यादा चमकीला रहता है। वायुमंडल में जितना अधिक प्रदूषण होता है चांद भी उतना ही लाल चमकता है।

नेशनल ज्योग्राफिक की रिपोर्ट के अनुसार, पूरे पश्चिमी गोलार्ध में लोग ग्रहण के सभी या कुछ भाग को देख सकेंगे। उत्तरी अमेरिका, सेंट्रल अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका के लोग सुपर वुल्फ रेड मून के सभी चरणों को अच्छे से देख पाएंगे। ऑस्ट्रेलिया और एशिया जिसमें भारत भी शामिल है, में ये नजारा देखने को नहीं क्या होगा समय? भारतीय समयानुसार ये ग्रहण 20 जनवरी की रात 11:41 बजे शुरू होगा और 21 जनवरी की सुबह 10:11 बजे तक रहेगा। ये समय केवल पूर्ण चंद्र ग्रहण का है। वहीं इसकी प्रक्रिया का समय तीन-चार घंटे तक है। मिलेगा। इससे पहले जनवरी के पहले हफ्ते में हुआ सोलर इक्लिप्स भी भारत में देखने को नहीं मिला था।

पहले चरण में चांद में कोई खास अंतर दिखाई नहीं देगा। दूसरे चरण में आंशिक ग्रहण दिखाई देना शुरू होगा। इसके करीब 90 मिनट बाद चांद पूरी तरह से लाल हो जाएगा। मून रेडिश ग्लो दिखाई देगा। फिर प्रक्रिया ऐसे ही उल्टे क्रम में शुरू होगी। अगर मौसम साफ होगा तो इस बेहद अद्भुत नजारे को आप देख पाएंगे।

16-09-2018
First Invention : मोक्ष मशीन देश का प्रथम आविष्कार, प्रधानमंत्री बनाने वालों को करेंगे सम्मानित

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के युवाओं द्वारा आविष्कृत मोक्ष मशीन को प्रथम आविष्कार माना गया है। चिता की राख को परिष्कृत कर खाद बना देने वाली इस मशीन की खोज करने वाले वैज्ञानिकों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 सितंबर को सम्मानित करेंगे। इनका सम्मान कार्यक्रम दिल्ली के विज्ञान भवन में होगा।

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने मोक्ष मशीन को देश के इस वर्ष का नंबर वन आविष्कार के रूप में शामिल किया है। मंत्रालय द्वारा जारी रेटिंग में मोक्षा को टॉप पर रखा गया है।  गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल के तीनों बाल वैज्ञानिक व अटल टिंकरिंग लैब के इंचार्ज डॉ.धनंजय पांडेय ने मिलकर इसको बनाया है।

25 तक दिल्ली पहुंचने का फरमान:

शनिवार को सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सीनियर साइंटिस्ट डॉ. कपिल आर्या ने ईमेल के जरिए गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल स्थित अटल टिंकरिंग लैब (एटीएल)इंचार्ज डॉ.पांडेय को इसकी जानकारी दी है। साथ ही तीनों बाल वैज्ञानिकों के साथ 25 सितंबर तक दिल्ली स्थित नीति आयोग पहुंचने व आयोग के अधिकारियों को रिपोर्टिंग करने कहा गया है। 26 सितंबर को सुबह 10.30 बजे तक तीनों बाल वैज्ञानिकों के साथ विज्ञान भवन पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं।

कब होगा सम्मान:

विज्ञान भवन में सुबह 11 बजे से कार्यक्रम प्रारंभ हो जाएगा। इसमें मुख्य अतिथि के रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व नीति आयोग के अधिकारियों के अलावा सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के वरिष्ठ वैज्ञानिक व आला अफसर मौजूद रहेंगे। इसी कार्यक्रम में मोक्षा मशीन का आविष्कार करने वाले गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल बिलासपुर के तीन बाल वैज्ञानिकों यमन कुमार,स्वासतिक प्रजापति व गौरव महतो तथा एटीएल इंचार्ज डॉ.पांडेय को प्रधानमंत्री मोदी सम्मानित करेंगे ।

जहां लगाया वहीं टॉप रहा मोक्ष:

देश और दुनिया में अपने आविष्कार से तहलका मचाने वाले मोक्ष मशीन का सफर भी कम रोचक नहीं है। राज्य स्तरीय प्रतियोगिता से दुबई में आयोजित इंटरनेशनल रोबोटिक चैम्पियनशिप में मोक्ष हमेशा टॉप पर रहा है। एक बार जब इसने अपनी सफलता का सफर शुरू किया तो पीछे मुड़कर नहीं देखा है। नीति आयोग के बैनर तले कोलकाता,गोवा व दिल्ली में आयोजित चैम्पियनशिप में भी टॉप किया।

चिता की राख से बनाती है खाद:

गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल के तीन बाल वैज्ञानिकों ने चिता की राख को परिष्कृत करने के लिए मोक्ष मशीन बनाई है। एक बार यह मशीन चिता की 8 से 10 किलो राख को परिष्कृत करती है। परिष्कृत करने के बाद वह इसे जैविक खाद के रूप में तब्दील कर देता है। जैविक खाद का परीक्षण करके देखा भी गया है। यह रासायनिक खाद से तीन गुना ज्यादा प्रभावी है।

क्या कहते हैं प्राचार्य:

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सीनियर साइंटिस्ट डॉ. कपिल आर्या का ईमेल आया है। इसमें मंत्रालय ने मोक्ष को देश का नंबर वन आविष्कार में शामिल करते हुए टॉप रेटिंग जारी की है। 26 सितंबर को मोक्षा बनाने वाले तीनों बाल वैज्ञानिकों व एटीएल इंचार्ज को प्रधानमंत्री सम्मानित करेंगे। यह हमारे स्कूल और प्रदेश के लिए गौरव की बात है।

- डॉ. राघवेंद्र गौराहा-प्राचार्य, गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल, बिलासपुर

08-09-2018
CH / NEWS
02:34pm

Vivo ने चीन में अपने नए स्मार्टफोन Vivo X23 को लॉन्च कर दिया है. इस स्मार्टफोन में वॉटरड्रॉप नॉच, इन डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर और 3D ग्लास बॉडी और Jovi AI और फेस अनलॉक फीचर दिया गया है. कंपनी ने इस स्मार्टफोन की कीमत CNY 3,498 (लगभग 36,700 रुपये) रखी है.

07-09-2018
CH / NEWS
02:10pm

YouTube ओरिजिनल की शुरुआत भारत में कर दी गई है. फिलहाल ये सर्विस फ्री है और इसमें ये एड सपोर्टेड है. गूगल के स्वामित्व वाली कंपनी ने जानकारी दी है कि YouTube (YT) ओरिजिनल के लिए सब्सक्रिप्शन ऑप्शन के लिए घोषणा की जानी अभी बाकी है. अभी तक इसके लिए किसी तारीख की घोषणा नहीं की गई है.

Please Wait... News Loading