GLIBS

23-03-2019
भाजपा ने जारी की 11 प्रत्याशियों की एक और सूची

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार को आम चुनाव को लिए 11 प्रत्याशियों की एक और सूची जारी की है। इसमें तेलंगाना के सबसे ज्यादा 6 प्रत्याशियों के नाम हैं, जबकि केरल और पश्चिम बंगाल के एक-एक प्रत्याशी की घोषणा की गई है। साथ ही उत्तर प्रदेश के 3 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया गया है। बता दें कि भाजपा अपने प्रत्याशियों के नामों की सूची एक-एक कर जारी कर रही है ताकि अगर किसी का टिकट कटे तो एक साथ टिकट कटने को लेकर विवाद की स्थिति न बने।

 

23-03-2019
भाजपा शर्मनाक स्थिति से बचने विक्रम उसेंडी को नहीं लड़ा रही चुनाव : कांग्रेस

रायपुर । प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि अभी चुनाव हुआ नहीं है और हार के डर से भारतीय जनता पार्टी घबरा रही है। भारतीय जनता पार्टी बिना चुनाव लड़े ही हार मान बैठी है। यही कारण है कि भाजपा ने अपने वर्तमान सांसदों को हारा हुआ मान लिया है। भाजपा को अपने प्रदेश अध्यक्ष के भी चुनाव जीतने में संशय दिख रहा है इसीलिए भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी को चुनाव नहीं लड़वा रही है। छत्तीसगढ़ में भाजपा की पतली हालत का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि जिस व्यक्ति के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी राज्य में चुनावी मैदान में जा रही है पार्टी उसे ही चुनाव लड़ाने में डर रही है। सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि भाजपा यह भलीभांति समझ रही है कि लोकसभा चुनाव में जनता उसेंडी से उनकी निष्क्रियता का हिसाब लेने वाली है। राज्य के 11 लोकसभा क्षेत्रो के समान कांकेर के मतदाता भी मोदी सरकार और भाजपा सांसदों की निष्क्रियता का जवाब मांगेंगे। भाजपा डर रही है कि प्रदेश अध्यक्ष भी चुनाव हार जाएंगे तो आने वाले पांच साल तक विपक्ष के रूप में भाजपा की सक्रियता पूरी तरह शून्य हो जाएगी। जनता द्वारा नकारे गए नेता के नेतृत्व में पांच साल तक रहने की शर्मनाक स्थिति से बचने के लिए भाजपा अपने प्रदेश अध्यक्ष को चुनाव नही लड़वा रही है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी छत्तीसगढ़ में विश्वसनीयता के संकट के दौर से गुजर रही है। उसके प्रदेश सरकार पर जनता ने विधानसभा चुनाव में अविश्वास व्यक्त किया था। राज्य में भाजपा बुरी तरह पराजित हुई। अब केन्द्रीय नेतृत्व ने राज्य के भाजपा सांसदों पर अविश्वास व्यक्त करते हुए टिकिट काट दिया। राज्य के मतदाता केन्द्र की मोदी सरकार के 60 माह के कार्यकाल को वायदा खिलाफी और जुमलों का युग मान रहे हैं। इसके विपरीत कांग्रेस सरकार के तीन महीने के अंदर किए गए कार्यों और निर्णयों की तुलना कर छत्तीसगढ़ की सभी 11 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवार को जिताने का मन बना चुके हैं। 

23-03-2019
बरकरार रहेगा जनता कांग्रेस और बसपा का गठबंधन

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बहुजन समाज पार्टी और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे)के बीच गठबंधन बरकरार रहेगा। लिहाजा लोकसभा चुनाव के लिए अब छत्तीसगढ़ के बाकी 5 प्रत्याशियों की घोषणा भी जल्द हो सकती है। बता दें कि इसके लिए शनिवार दोपहर को जोगी बंगले में जारी बैठक अब खत्म हो चुकी है। विधायक देवव्रत सिंह ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि जेसीसीजे पूरी 11 सीटों पर चुनाव लडऩे तैयार है, लेकिन अभी बसपा से बातचीत के बाद ही बाकी 5 सीटों पर निर्णय होगा।  बता दें कि 6 सीटों पर बसपा अपना प्रत्याशी उतार चुकी है। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) की पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक खत्म होने के बाद देवव्रत सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव के विषयों पर चर्चा की गई है। इसमें कोर कमेटी ने निर्णय लिया है कि बसपा सुप्रीमो और जनता कांग्रेस सुप्रीमो मिलकर छत्तीसगढ़ की पांच सीटों पर प्रत्याशी चयन करेंगे।  आज की बैठक में जनता कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी, अमित जोगी, रेणु जोगी, धर्मजीत सिंह समेत अन्य संसदीय बोर्ड कमेटी लोग शामिल थे।

23-03-2019
क्षेत्र में लोगों से मिलने पहुंचे डॉ. महंत, हुआ गर्मजोशी से स्वागत

रायपुर। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत अपने क्षेत्र में दौरे पर हैं। इस दौरान डॉ. महंत कोरबा जाने से पूर्व अपनी विधानसभा क्षेत्र सक्ती में भी लोगों से मिलने पहुंचे। होली के अवसर पर क्षेत्र के लोगों ने उनसे मुलाकात की। तो वहीं डॉ. महंत ने क्षेत्र में चले रहे विकास कार्यों की जानकारी भी ली। इस दौरान क्षेत्र के लोगों ने उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। डॉ. महंत के साथ उनकी पत्नी ज्योत्सना महंत ने भी लोगों से हालचाल जाना। इस अवसर पर उनके साथ समर्थक पप्पू अग्रवाल, सुदेश शर्मा, राजेश शर्मा, घनश्याम प्रसाद पाण्डेय, प्रेमनारायण अग्रवाल सहित कांग्रेस के कई कार्यकर्ता मौजूद थे।
 

23-03-2019
सागौन बंगले में जोगी कांग्रेस की बैठक शुरू, लोकसभा उम्मीदवारों की घोषणा जल्द
रायपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) सुप्रीमो अजीत जोगी के निवास में  अभी संसदीय बोर्ड की बैठक जारी है। बैठक में अजीत जोगी, अमित जोगी, रेणु जोगी, धर्मजीत सिंह समेत अन्य संसदीय बोर्ड कमेटी के लोग शामिल हैं। बैठक मायावती के साथ गठबंधन से लोकसभा चुनाव लडऩे को लेकर की जा रही है। चुनाव में गठबंधन होगा या नहीं, इसका फैसला बैठक के बाद  अजीत जोगी करेंगे। बता दें कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) से जिन कार्यकर्ताओं  ने इस्तीफा दिया है उनका मुख्य कारण पार्टी का बसपा से गठबंधन है। इसी वजह से पार्टी में लगातार विवाद बढ़ता जा रहा है। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) पार्टी बनी उस समय कांग्रेस के आधे कार्यकर्ता जोगी को समर्थन देकर पार्टी में शामिल हुए थे, लेकिन जैसे ही पार्टी ने बसपा से गठबंधन किया, कार्यकर्ता पार्टी से इस्तीफा देने लगे हैं। शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से जनता कांग्रेस के पदाधिकारियों ने इस्तीफा दिया है। आज जोगी बंगले में पार्लियामेंट्री कमेटी के लोग मिलकर मंथन कर रहे हैं। इस मंथन के बाद तय होगा कि लोकसभा चुनाव कैसे लड़ेंगे। हालांकि जनता कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी ने ग्लिब्स डॉट इन से चर्चा करते हुए कहा कि कोरबा से मैं चुनाव लड़ूंगा, क्योंकि कोरबा के रहवासियों ने चुनाव लडऩे के लिए आग्रह किया है।
 
 
23-03-2019
मैं कहां से लडूंगा तय नहीं है, पार्टी तय करेगी कहां से लड़ना है : डॉ. रमन सिंह

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह दिल्ली जाने से पहले स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट में पत्रकारों से कहा कि लोकसभा चुनाव में मैं कहां से लडूंगा यह तय नहीं है। पार्टी तय करेगी कि कहां से चुनाव लड़ना है। दिल्ली में भाजपा की आज बड़ी बैठक आयोजित है। इसमें आज शाम तक लोकसभा के प्रत्याशियों के नामों का ऐलान किया जाना है। इस बैठक में शामिल होने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी, नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक, राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम डॉ. रमन सिंह समेत भाजपा के दिग्गज नेताओं की टीम दिल्ली रवाना हो चुकी है।

23-03-2019
कांग्रेस का बड़ा फैसला, भोपाल से चुनाव लड़ेंगे दिग्विजय सिंह, कमलनाथ ने की घोषणा

भोपाल। कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को भोपाल से लोकसभा चुनाव में उतारने का निर्णय लिया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज पत्रकारों के सामने दिग्विजय सिंह के चुनाव में उतरने की घोषणा की है। दिग्विजय सिंह 16 साल बाद सक्रिय राजनीति में लौट रहे हैं। दिग्विजय 2003 में 10 साल तक मुख्यमंत्री रहने के बाद वे सक्रिय राजनीति से दूर चले गए थे। यह उनका पहला लोकसभा चुनाव होगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को हुई चुनाव समिति की बैठक में दिग्विजय सिंह का नाम फाइनल किया गया।
बता दें कि भोपाल बीजेपी का पुराना गढ़ रहा है। यहां से बीजेपी पिछले 8 चुनावों में जीत दर्ज कर चुकी है। 2014 के लोकसभा चुनावों में यहां से बीजेपी के आलोक संजर विजयी रहे थे। वहीं 1999 में यहां से उमा भारती और 2004 और 2009 में कैलाश जोशी ने जीत दर्ज की थी। ऐसे में साफ है कि कांग्रेस किसी भी सीट पर बीजेपी को वॉकओवर देने के मूड में नहीं है। इससे पहले कमल नाथ ने कहा था कि दिग्विजय सिंह को किसी मुश्किल सीट से चुनाव लड़ना चाहिए। वहीं आज कमलनाथ ने इसकी घोषणा कर दी। इससे पहले माना जा रहा था कि दिग्विजय को कांग्रेस भोपाल, इंदौर या विदिशा से उतार सकती है।

 

23-03-2019
सैम पित्रोदा के बयान पर भड़के शाह, कहा- शहीदों के खून पर राजनीति करती है कांग्रेस, राहुल देश से माफी मांगें

दिल्ली। इंडियन ओवरसीज कांग्रेस प्रमुख सैम पित्रोदा की ओर से एयर स्ट्राइक पर उठाए गए सवालों पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने निशाना साधा है। शनिवार को शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- सैम पित्रोदा का बयान दुखद है। कांग्रेस शहीदों के खून पर राजनीति करती है। पित्रोदा के बयान पर उसे देश से माफी मांगनी चाहिए। शाह ने कहा, ''जब देश की जनता आतंकवाद के हताहत होती है तो क्या हम बातचीत करें, क्या कांग्रेस अध्यक्ष इससे सहमत हैं। कांग्रेस हर बार चुनाव आते ही तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति करती है। यह उनकी परंपरा है। कई सालों से कांग्रेस ने इसका बीज बोया है। क्या वोट बैंक की राजनीति शहीदों से ऊपर हो सकती है। कांग्रेस नेता के इस बयान से शहीदों का अपमान हुआ। सुरक्षा पर सवाल खड़ा हुआ और आतंकियों का मनोबल बढ़ा है।''

23-03-2019
सीटों के फेरबदल से बिहार में बढ़ सकती हैं राजग की परेशानी

पटना। बिहार में सतरहवें लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के घटक दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), जनता दल यूनाईटेड (जदयू) और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के बीच तालमेल के तहत सीटों के फेरबदल के बाद शुरू हुए अंतर्विरोध से राजग की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बिहार राजग में वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए घटक भाजपा के 17 सीट, जदयू के 17 सीट और लोजपा के छह सीटों पर चुनाव लड़ने की सहमति बनी। इसके बाद पिछले सप्ताह सीटों की हुई घोषणा में एक बड़ा फेरबदल देखने को मिला। भाजपा ने अपनी मजबूत सीटें गया (सुरक्षित), सीवान, भागलपुर और बांका जदयू को तथा नवादा लोजपा को दे दी। इसके बाद भाजपा में नेता, कार्यकर्ता एवं उसके कट्टर समर्थकों के स्तर पर विरोध दिखने लगे हैं। नवादा सीट से 2014 में निवर्तमान सांसद एवं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने जीत दर्ज की। लेकिन, वर्ष 2019 के चुनाव में यह सीट केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की पार्टी लोजपा के खाते में चली गई। अब सिंह के बेगूसराय संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने की अटकले हैं। हालांकि राजग के इस निर्णय से सिंह खासे नाराज चल रहे हैं। उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि यदि उन्हें नवादा से लड़ने का मौका नहीं दिया गया तो इस बार चुनाव ही नहीं लड़ेंगे। उन्होंने सीटों के फेरबदल को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय पर आपत्ति जताते हुए कहा था, मैंने उनके सामने पहले कई बार नवादा से चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी और उन्होंने मुझे आश्वस्त भी किया था लेकिन अब के परिदृश्य में मुझे उनसे पूछना है कि उनके आश्वासनों का क्या हुआ। इतना ही नहीं शीर्ष नेतृत्व के फैसले से नवादा में भाजपा के नेता, कार्यकर्ता एवं कट्टर समर्थकों में भी खासी नाराजगी है। सूत्रों की मानें तो भाजपा चिकित्सा मंच के प्रदेश सहसंयोजक डॉ. शत्रुघ्न प्रसाद सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष केदार सिंह एवं जिला महामंत्री अरविंद गुप्ता ने पार्टी के इस फैसले को आत्मघाती कदम बताया है। इसके अलावा प्रखंड स्तर के कार्यकतार्ओं में काफी रोष है।

23-03-2019
पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा का कटा टिकट, उनकी जगह केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद लड़ेंगे

नई दिल्ली। एनडीए ने बिहार की लोकसभा सीटों पर गठबंधन के 39 उम्मीदवारों का शनिवार को ऐलान कर दिया। खगड़िया सीट से एलजीपी उम्मीदवार का ऐलान बाद में किया जाएगा। पटना साहिब सीट से मौजूदा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कट गया है। उनकी जगह केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद चुनाव लड़ेंगे। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को उनकी सीट नवादा की बजाय बेगूसराय से टिकट दिया गया है।

सीट उम्मीदवार

2014 में कौन जीता

वाल्मीकि नगर वैधनाथ प्रसाद महतो (जदयू) भाजपा
पश्चिम चंपारण संजय जयसवाल (भाजपा) भाजपा
पूर्वी चंपारण राधामोहन सिंह (भाजपा) भाजपा
शिवहर रामदेवी सिंह (भाजपा) भाजपा
सीतामढ़ी डॉ वरुण कुमार (जदयू) रालोसपा
मधुबनी अशोक कुमार यादव (भाजपा) भाजपा
झंझारपुर रामप्रीत मंडल (जदयू) भाजपा
सुपौल दिलेश्वर कामले (जदयू) कांग्रेस
अररिया प्रदीप सिंह (भाजपा) राजद
किशनगंज महमूद अशरफ (जदयू) कांग्रेस
कटिहार दुलालचंद (जदयू) राकांपा
पूर्णिया संतोष कुमार कुशवाहा (जदयू) जदयू
मधेपुरा दिनेश (जदयू) राजद
दरभंगा गोपालजी ठाकुर (भाजपा) भाजपा
मुजफ्फरपुर अजय निषाद (भाजपा) भाजपा
वैशाली वीणा देवी (लोजपा) लोजपा
गोपालगंज आलोक कुमार सुमन (जदयू) भाजपा
सिवान कविता सिंह (जदयू) भाजपा
महाराजगंज जनार्दन सिंह (भाजपा) भाजपा
सारन राजीव प्रताप रुडी (भाजपा) भाजपा
हाजीपुर पशुपति कुमार पारस (लोजपा) लोजपा
उजियारपुर नित्यानंद राय (भाजपा) भाजपा
समस्तीपुर (एसटी) रामचंद्र पासवान (लोजपा) लोजपा
बेगुसराय गिरिराज सिंह (भाजपा) भाजपा
खगड़िया बाद में होगी लोजपा
भागलपुर अजय मंडल (जदयू) राजद
बांका गिरधारी यादव (जदयू) राजद
मुंगेर राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह (जदयू) लोजपा
नालंदा कौशलेंद्र कुमार (जदयू) जदयू
पटना साहिब रविशंकर प्रसाद (भाजपा) भाजपा
पाटलीपुत्र रामकृपाल यादव (भाजपा) भाजपा
आरा राजकुमार सिंह (भाजपा) भाजपा
बक्सर अश्वनी चौबे (भाजपा) भाजपा
सासाराम (एससी) छेंदी पासवान (भाजपा) भाजपा
काराकाट महाबली सिंह(जदयू) रालोसपा
जहानाबाद चंद्रेश्वर सिंह चंद्रवंशी(जदयू) रालोसपा
औरंगाबाद सुशील कुमार सिंह(भाजपा) भाजपा
गया (एससी) विजय कुमार मांझी(जदयू) भाजपा
नवादा चंदन कुमार (लोजपा) भाजपा
जमुई (एससी) चिराग पासवान (लोजपा) लोजपा

 

23-03-2019
न्यायमूर्ति पिनाकी चंद्र घोष ने लोकपाल पद की शपथ ली

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश पिनाकी चंद्र घोष को शनिवार को देश के पहले लोकपाल के रूप में शपथ दिलायी गई। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने यहां राष्ट्रपति भवन में एक समारोह में उन्हें लोकपाल पद की शपथ दिलाई। इस अवसर पर उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई मौजूद थे। न्यायमूर्ति घोष को 19 मार्च को देश का पहला लोकपाल नियुक्त किया गया था।

23-03-2019
भड़के केजरीवाल, बीजेपी को कहा- लुच्चे, लफंगे, गुंडों की फौज

दिल्ली। दिल्ली से सटे गुरुग्राम में होली के दिन एक परिवार की बदमाशों द्वारा पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस घटना पर ट्वीट किया है और अपना गुस्सा जताया है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि ये लोग हिंदू नहीं हैं, हिंदुओं के वेश में गुंडे हैं, इनकी पार्टी लुच्चे, लफंगे, गुंडों की फौज है, इनसे देश और हिंदू धर्म दोनों को बचाना हर भारतवासी का फर्ज है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस घटना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है और कहा है कि जिस तरह सत्ता के लिए हिटलर के गुंडे लोगों को पीटते थे, उसका खून करते थे, उसी तरह मोदी जी भी सत्ता के लिए ये करवा रहे हैं, हिटलर के रास्ते चल रहे हैं। पर मोदी समर्थकों को दिखाई नहीं देता कि हमारा भारत किधर जा रहा है? बता दें कि गुरुग्राम के भोंडसी के भूपसिंह नगर इलाके में मुस्लिम परिवार के कुछ बच्चे शाम को तकरीबन साढ़े 5 बजे घर के बाहर क्रिकेट खेल रहे थे। इस मामले को लेकर वहां कुछ विवाद हुआ इसके बाद 30 से 35 बदमाशों ने शाहिद नाम के शख्स को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया. इस दौरान घर की लड़कियां, बच्चे और महिलाएं लगातार मदद की गुहार लगाती रही, लेकिन बदमाश रुके नहीं। बदमाशों की पिटाई से ये शख्स बेहोश गया है. हरियाणा पुलिस ने पीड़ित परिवार की ओर से शिकायत दर्ज कर लिया है और लगभग 12 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Please Wait... News Loading