GLIBS

23-03-2019
निर्दलीय का वादा : चुनाव जीते तो हर महीने देंगे 10 लीटर मुफ्त में शराब 

तिरुपुर। तमिलनाडु के तिरुपुर लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लडऩे वाले एएम शेख दाऊद ने वादा किया है कि चुनाव जीतने के बाद वे अपने इलाके के लोगों को हर महीने दस लीटर मुफ्त शराब देंगे। यही नहीं, उन्होंने हर लड़की को शादी के समय 10 सोने के सिक्के और 10 लाख रुपए कैश देने का वादा किया है। पेशे से दर्जी 55 वर्षीय एएम शेख दाऊद मूल रूप से इरोड जिले के अंथीयुर इलाके के निवासी हैं। उन्होंने शुक्रवार को नामांकन पत्र भरा है। नामांकन पत्र भरने के बाद अपने वादों को लेकर शेख ने कहा है कि उनके चुनावी घोषणापत्र में 15 प्रमुख बातें हैं जो जनता को सीधे तौर पर लाभ पहुंचाएंगी। उन्होंने बताया कि मैं हर घर की महिला मुखिया को सरकार की तरफ  से हर महीने 25,000 रुपए की व्यवस्था करवाऊंगा। मुफ्त शराब देने की बात पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि मैं ऐसा इसलिए नहीं कह रहा हूं कि लोग गलतियां करें। लेकिन मैं पुडुचेरी से शुद्ध ब्रांडी हर परिवार के लिए उपलब्ध कराऊंगा जिनका इस्तेमाल दवा की तरह हो सके। यह हर महीने दिया जाएगा। इसके अलावा शेख दाऊद ने अपने घोषणापत्र में कहा है कि हर परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। सांसद निधि से हर लड़की को शादी के समय 10 सोने के सिक्के और 10 लाख रुपए कैश दिया जाएगा। शेख दाऊद ने अपने घोषणापत्र में किसानों का भी ध्यान रखा है। उनका कहना है कि तिरुपुर में किसानों के सामने सबसे बड़ी समस्या जल संसाधनों की कमी की है। इसलिए वह पानी की व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए सलेम जिले में स्थित मेट्टूर बांध से नहर के जरिये तिरुपुर के खेतों तक पानी पहुंचाने का काम करेंगे।

23-03-2019
अपग्रेडेशन कार्योंं के चलते दो गाडिय़ों का परिचालन प्रभावित

रायपुर। पश्चिम मध्य रेलवे में आवश्यक रखरखाव, निर्माण कार्य एवं अपग्रेडेशन कार्योंं के फलस्वरूप 23 से 26 मार्च तक 18236 बिलासपुर-भोपाल एक्सप्रेस कटनी मुड़वारा में समाप्त होगी। यह गाड़ी कटनी मुड़वारा-भोपाल के मध्य रद्द रहेगी। 24 से 27 मार्च तक 18235 भोपाल-बिलासपुर एक्सप्रेस कटनी मुरवाड़ा से बिलासपुर तक चलेगी। यह गाड़ी भोपाल-कटनी मुरवाड़ा के मध्य रद्द रहेगी। उपरोक्त अवधि में चिरमिरी-भोपाल-चिरमिरी स्लीप कोच की सुविधा भी रद्द रहेगी। यात्रियों को होने वाली असुविधाओं के रेल प्रशासन ने खेद व्यक्त करते हुए सहयोग की आशा की है।

23-03-2019
भगत सिंह और डॉ अंबेडकर के विचारों को आजमाने की है जरूरत : उर्मिलेश

रायपुर। गांधी ग्लोबल फैमिली द्वारा शनिवार को रायपुर प्रेस क्लब में आयोजित 'भगत सिंह का भारत विषय पर अपने विचार व्यक्त करते हुए वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश ने कहा कि इस देश में सारी विचारधाराओं को आजमाया जा चुका है। अब समय भगत सिंह और डॉ अंबेडकर के विचारों को आजमाने का है। उन्होंने कहा कि आजादी की लड़ाई के दौर में भी एक वर्ग ऐसा था, जो भारत को अतीत में ले जाने का पक्षधर था। उर्मिलेश ने कहा कि भगत सिंह के बारे में यह आम धारणा थी कि वे एक बहादुर और लड़ाका जननायक थे लेकिन बाद में जब उनके भांजे जगमोहन सिंह और चमनलाल ने उनके वैचारिक पक्ष को सामने लाया तो भगत सिंह का वास्तविक चेहरा सामने आया। भगत सिंह के सपनों के भारत की तस्वीर पहली बार सामने आई। उर्मिलेश ने भगत सिंह के लेखों को उद्धृत करते हुए कहा कि भगत सिंह की सांप्रदायिकता को लेकर एक साप दृष्टि थी और वे राजनीति को धर्म से अलग रखने के पक्षधर थे। उन्होंने कहा कि आजादी की लडाई में अंबेडकर के अलावा अगर दलित मुद्दों पर कोई और भी सोच रहा था तो वे भगत सिंह ही थे। पंजाबी की कीर्ति पत्रिका में प्रकाशित उनके एक लेख का हवाला देते हुये उर्मिलेश ने कहा कि भगत सिंह ने दलित समस्या को बजबजाता हुआ नाला मानते हुये उस पर कई गंभीर सवाल उठाए। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये आलोचक प्रोफेसर सियाराम शर्मा ने कहा कि भगत सिंह के सपनों का भारत किसानों और मजदूरों का भारत था। आजादी के दौर में किसान फांसी पर लटकाए जा रहे थे लेकिन वे आत्महत्या नहीं करते थे, लेकिन पिछले तीस सालों में देश में चार लाख किसानों ने आत्महत्या कर ली। इस अवसर पर उपस्थित श्रोताओं के साथ सवाल जवाब का दौर भी चला। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन डॉ. राकेश गुप्ता ने किया।

23-03-2019
CH / NEWS
06:45pm

रायपुर। विश्व टीबी दिवस के मौके पर रायपुर के जिला अस्पताल में एक कार्यशाला की गई। इसमें टीबी बीमारी पर चर्चा कर और इसकी रोकथाम के उपाय तलाश किए गए। कार्यशाला में रायपुर सीएमएचओ डॉ. केआर सोनवानी ने कहा कि प्रदेश में 30 हजार मरीजों की पहचान की गई है। टीबी मरीजों का बेहतर इलाज किया जा रहा है। 

23-03-2019
विजय माल्या की बेंगलुरू की संपत्ति होगी जब्त 

नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने करोड़ों रुपए का घोटाला कर विदेश भागे विजय माल्या की बेंगलुरू में मौजूद संपत्ति को जब्त करने का आदेश दिया है। अदालत ने फेरा उल्लंघन से जुड़े एक मामले में यह आदेश दिया है। कोर्ट के इस आदेश से किंगफिशर के मालिक माल्या की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। बेंगलुरू पुलिस ने प्रवर्तन निदेशालय के विशेष लोक अभियोजक एनके मत्ता और वकील संवेदना वर्मा के जरिए इस मामले में कोर्ट के पहले के आदेश को लागू करने के लिए और समय मांगा था। इसके बाद मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट दीपक शेरावत ने निर्देश जारी किए हैं। सूत्रों के मुताबिक अदालत ने बेंगलुरू पुलिस को 10 जुलाई तक संपत्ति जब्त करने के निर्देश दिए हैं। उसी दिन मामले में अगली सुनवाई भी होगी। इससे पहले बेंगलुरू पुलिस ने अदालत को बताया था कि उसने माल्या की 159 संपत्तियों की पहचान की है, लेकिन वह इनमें से किसी को भी जब्त नहीं कर पाई है। बता दें कि विजय माल्या को 4 जनवरी को विशेष प्रिवेंशन मनी लॉन्ड्र एक्ट कोर्ट ने भगोड़ा अपराधी घोषित कर दिया था। कोर्ट ने पिछले साल 8 मई को बेंगलुरू पुलिस आयुक्त के जरिए मामले माल्या की संपत्तियों को जब्त करने का निर्देश दिया था और इस पर रिपोर्ट मांगी थी। ज्ञात हो कि विजय माल्या पहला कारोबारी है जिसे भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया है।  इसके लिए प्रवर्तन निदेशालय ने कोर्ट में याचिका लगाई थी। माल्या बैंकों के करीब 9000 करोड़ रुपए लेकर फरार है।  

23-03-2019
टीबी मरीजों का हो रहा बेहतर इलाज : डॉ. सोनवानी 

रायपुर। विश्व टीबी दिवस के मौके पर रायपुर के जिला अस्पताल में एक कार्यशाला की गई। इसमें टीबी बीमारी पर चर्चा कर और इसकी रोकथाम के उपाय तलाश किए गए। कार्यशाला में रायपुर सीएमएचओ डॉ. केआर सोनवानी ने कहा कि प्रदेश में 30 हजार मरीजों की पहचान की गई है। टीबी मरीजों का बेहतर इलाज किया जा रहा है। प्रदेश में टीबी मरीजों का बेहतर इलाज करने के लिए जिले और ब्लाक स्तर पर अधिकारी नियुक्त कर नोडल ऑफिसर भी बनाए गए हंै। नोडल ऑफिसर हर महीने बैठक कर जिलेवार टीबी मरीजों की रिपोर्ट तैयार करते हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अभी 30 हजार मरीज हैं, जो नियमित दवाइयां ले रहे हैं। डॉ. केआर सोनवानी ने कहा कि टीबी मरीजों का बेहतर इलाज कर सरकारी दवाइयां खाने की सलाह दी जा रही है। प्राइवेट मेडिकल स्टोर से दवाइयां बेचने वालों पर भी कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे। क्योंकि सरकार खुद डॉट्स की दवाइयां मुफ्त में दे रही है और कोर्स पूरा होने पर टीबी जड़ से खत्म होने लगा है। टीबी मरीजों की दवाइयां काफी महंगी होती हैं, इसी वजह से सरकार मरीजों को नि:शुल्क दवाइयां दे रही है।

23-03-2019
नेशनल किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता के लिए टीम पुणे रवाना

रायपुर। वाको इंडिया किक बॉक्सिंग फेडरेशन के मार्गदर्शन में महाराष्ट्र किक बॉक्सिंग एसोसिएशन द्वारा 24 से 28 मार्च तक पुणे महाराष्ट्र में आयोजित वाको इंडिया नेशनल फेडरेशन कप किक बॉक्सिंग प्रतियोगिता के लिए राज्य की टीम रवाना हुई। उक्त प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ मार्शल आर्ट एवं किक बॉक्सिंग एकेडमी कोरबा, बिलासपुर, रायगढ़ एवं कांकेर के किक बाक्सर्स शामिल हो रहे हैं। वाको इंडिया किक बॉक्सिंग फेडरेशन के महासचिव तारकेश मिश्रा ने बताया कि उक्त प्रतियोगिता में वाको किक बॉक्सिंग रूल्स के अनुसार महिला पुरुष  एवं बालक बालिका के कैडेट, जूनियर एवं सीनियर वर्ग में पाइंट फाइटिंग, किकलाइट, लाइट कांटेक्ट, फुल कांटेक्ट, के वन एवं लो किक के साथ साथ म्यूजिकल फाम्र्स एवं क्रिएटिव फार्म की स्पर्धाएं कराई जाएंगी। इस आयोजन में देशभर के वाको इंडिया फेडरेशन से सम्बद्ध विभिन्न राज्य एसोसिएशन के लगभग 1100 खिलाड़ी एवं 200 ऑफिसियल हिस्सा लेंगे। राज्य से  कोरबा जिले से सृष्टि मिश्रा, राघव विश्वकर्मा, मनु शर्मा, जीतिका शर्मा, नियति, वसु कश्यप, अर्णव झा, रूपेश कौशिक, हिमांशु यादव, सोमेश साहू, राजवैभव, राजगौरव, मो. जुम्मा, अपूर्व शर्मा, प्रभात साहू,  रितेश  साहा, आलोक साहू, जया कुंडु, रंजना तिर्की, रिचा, जायसवाल, अंजलि कुर्रे, वैभव कुमार राजवाड़े, देवेंद्नाथ गोपालन, नकुल साहू, कपिल पटेल, विवेकानन्द पटेल, सानू मेहराज एवं बिलासपुर से आशुतोष पाठक, कांकेर से आभा सेन तथा रायगढ़ से ममता सिंह, प्रणय शंकर शुक्ला, हर्षा देवांगन, आशीष कुमार कुशल, सुरेंद्र देवांगन, कोच देव सागर साहू के साथ हिस्सा लेंगे। वहीं प्रदेश के अन्तरराष्ट्रीय खिलाड़ी एवं नेशनल रेफरी गौरव कोशले, अन्तरराष्ट्रीय रेफरी पूजा पांडेय तथा नेशनल रेफरी महेश देवांगन तकनीकी अधिकारी के रूप में शामिल होंगे। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ किक बॉक्सिंग एसोसिएशन के समस्त पदाधिकारी एवं खिलाडिय़ों ने टीम को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।

23-03-2019
अजय त्रिपाठी का इस्तीफा, प्रशांत मिश्रा होंगे कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्य न्यायाधीश अजय कुमार त्रिपाठी ने इस्तीफा दे दिया है। भारत सरकार ने जस्टिस त्रिपाठी को लोकपाल का सदस्य बनाया है। भारत सरकार की तरफ से आदेश मिलते ही अजय कुमार त्रिपाठी ने अपना इस्तीफा चीफ जस्टिस के पद से दे दिया। जस्टिस त्रिपाठी इसी साल नवंबर में रिटायर होने वाले थे, लेकिन अपने रिटायरमेंट के 8 महीने पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया और लोकपाल के मेंबर बनने की अपनी रजामंदी दे दी। अजय कुमार त्रिपाठी बुधवार को बतौर मेंबर शपथ लेंगे। इधर जस्टिस त्रिपाठी के चीफ जस्टिस के पद से इस्तीफा देने के बाद जस्टिस प्रशांत मिश्रा को छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट का कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। आज केंद्र सरकार की तरफ से इस बाबत आदेश जारी कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक जस्टिस प्रशांत मिश्रा छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के स्थायी चीफ जस्टिस भी हो सकते हैं, क्योंकि हाईकोर्ट के जस्टिस के तौर उनकी 10 साल की सेवा पूरी हो गयी है। वो अभी मौजूदा वक्त में छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के सबसे सीनियर जज हैं।

23-03-2019
वाइस एडमिरल करमबीर सिंह अगले नौसेना प्रमुख होंगे

नई दिल्ली। मार्च (वार्ता) वाइस एडमिरल करमबीर सिंह अगले नौसेना प्रमुख होंगे। वर्तमान नौसेना प्रमुख सुनील लांबा 31 मई को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। वाइस एडमिरल करमबीर सिंह उनका स्थान लेंगे। रक्षा मंत्रालय की तरफ से शनिवार को दी गयी जानकारी के अनुसार पूर्वी नौसेना कमान के प्रभारी वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को अगला नौसेना प्रमुख नियुक्त गया है।

23-03-2019
मोदी ने भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को किया नमन

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के वीर सपूतों भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को शहीद दिवस पर नमन किया है। मोदी ने शनिवार को ट्विटर पर अपने संदेश में कहा, आजादी के अमर सेनानी वीर भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को शहीद दिवस पर शत-शत नमन। भारत माता के इन पराक्रमी सपूतों के त्याग, संघर्ष और आदर्श की कहानी इस देश को हमेशा प्रेरित करती रहेगी। जय हिंद! गौरतलब है कि 23 मार्च, 1931 की मध्यरात्रि को अंग्रजों ने भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को फाँसी दे दी थी। उनकी शहादत को श्रद्धांजलि देने के लिए इस दिन को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है।

22-03-2019
कन्हैया कुमार को बेगुसराय से नहीं मिला टिकट

पटना। लोकसभा चुनाव लडऩे का इरादा रखने वाले छात्र नेता रहे कन्हैया कुमार को बेगूसराय से टिकट नहीं दिया गया है। महागठबंधन ने कन्हैया कुमार से किनारा कर लिया है। बताया जा रहा है कि कन्हैया का टिकट काटने में तेजस्वी यादव का हाथ है। बहुत पहले से ऐसी खबर आ रही थी कि कन्हैया कुमार बिहार के बेगूसराय से महागठबंधन के उम्मीदवार हो सकते हैं। कन्हैया ने खुद कहा था कि वह बेगूसराय से चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि युवा वामपंथी नेता कन्हैया उस समय खबरों में आए थे जब उन्हें एक रैली में भारत विरोधी नारे लगाने के आरोप में राजद्रोह के तहत गिरफ्तार किया गया था। कन्हैया को उनके उग्र भाषणों के कारण भी जाना जाता है और इसके चलते वे काफी मशहूर भी हुए हैं। बिहार में महागठबंधन ने शुक्रवार को सीट बंटवारे का ऐलान कर दिया। लोकसभा की 40 सीटों में से 20 पर आरजेडी लड़ेगी और कांग्रेस को 9 सीटें मिली हंै। सीटों के बंटवारे से साफ हो गया है कि कन्हैया कुमार को महागठबंधन का साथ नहीं मिला। बेगूसराय सीट आरजेडी के हिस्से में आई है और आरजेडी अपने कोटे से एक सीट पहले ही सीपीआई(एम) को दे चुकी है। सीपीआई ने पहले जहां ऐलान किया था कि उसे बिहार में 3 से 4 सीट चाहिए पर सीटों के बंटवारे के वक्त सीपीआई को पूरी तरह नजरअंदाज कर दिया गया। सीपीआई के राज्य सचिव नारायण सिंह ने कहा कि महागठबंधन ने हमारे साथ धोखा किया है। उन्होंने कहा कि एक साल पहले गठबंधन का वादा हुआ था। मैं लालू यादव से तीन बार मिला था, उनसे फोन पर भी बात हुई थी और तेजस्वी से भी बात हुई थी। उन्होंने गठबंधन का आश्वासन दिया था। 25 अक्टूबर की रैली में राजद के राज्य अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे और नेता तनवीर हसन ने कहा था कि हमें साथ मिलना लडऩा चाहिए। अब वे अलग हो गए हैं।

Please Wait... News Loading