GLIBS

22-07-2019
सावन का पहला सोमवार, भक्तों की लगी कतार

रायपुर। सावन माह का आज पहला सोमवार है राजधानी रायपुर सहित प्रदेशभर के शिवालयों में भक्तों की खासी भीड़ देखी जा रही है। वहीं राजधानी रायपुर के आकाशवाणी चौक स्थित शिव मंदिर में सुबह से ही लंबी कतार देखने को मिल रही है। शिव मंदिर के पुजारी ने जानकारी देते हुए कहा कि शिवजी को रोजाना श्रृंगार कराया जा रहा है। दूध, घी से स्नान कराने के बाद भक्त अभिषेक करते हैं। ये प्रक्रिया सुबह से रात नौ बजे तक चलते रहता है। रोजाना भंडारा से असहाय लोगों को भोजन भी कराया जा रहा है।

22-07-2019
नरवा, गरवा, घुरवा, बारी योजना से राज्य के ग्रामीण अर्थव्यवस्था में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा : छाया वर्मा

रायपुर। राज्यसभा में कृषि संबंधी एक गैर सरकारी विधेयक पर चर्चा करते हुये राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा ने राज्य की महत्वकांक्षी परियोजना नरवा, गरवा, घुरवा, बारी का उल्लेख करते हुये कहा कि यह योजना राज्य के ग्रामीण अर्थव्यवस्था में क्रांतिकारी परिवर्तन लाएगा। देश की सभी राज्य सरकारों को इस योजना को लागू करना चाहिए। केन्द्र सरकार भी इस योजना को अंगीकार करें। राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा के उद्बोधन के बाद कृषि राज्यमंत्री पुरूषोत्तम रूपाला ने भी नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी योजना की तारीफ करते हुए कहा कि ऐसी योजनाओं को केन्द्र सरकार पूरा प्रश्रय देगी। देश में किसान और कृषि की बदहाली की चर्चा करते हुये राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा ने कहा कि सभी राज्यों में देश में अंधाधुंध औद्योगीकरण हुआ है, जिससे खेती योग्य भूमि कम होती गई और जो बड़े-बड़े उद्योगपति थे, वे कृषि भूमि पर कब्जा करते गए और हमारी कृषि योग्य भूमि सभी राज्यों में कम होती गई, यह बहुत चिंता का विषय है और इसमें सरकार को नियम बनाना चाहिये कि कृषि भूमि उद्योगपतियों को न दें, तभी हमारे किसान सिंचित होंगे, तभी हमारे किसान खुशहाल होंगे। सरकार कहती है कि फसल की कीमत दुगुनी करेंगे और यह बजट में भी आया है।

कैसे दुगुनी करेंगेड़ उसके बारे में कहीं कोई उल्लेख नहीं है। आप तो आए-दिन पेट्रोल की कीमत, डीजल की कीमत बड़ा देते है। कृषि में जो औजार उपयोग में आते है, उनकी कीमत आपने दुगुनी कर दी है, रासायनिक खाद की कीमत महंगी कर दी है। जिस समय किसानों को रासायनिक खाद की आवश्यकता होती है, उस समय वह मिलती नहीं है। उस समय खाद की कालाबाजारी होती है। मैं सरकार से जानना चाहती हूं कि क्या सरकार राशन कार्ड पर कम कीमत पर डीजल और पेट्रोल उपलब्ध कराएगी क्योंकि तभी किसान खुशहाल होंगे, नहीं तो महंगी कीमत पर किसान की फसल दुगुनी करने की बात कर रहे है। क्या भूमिहीन किसान की मंझोले किसान की या बड़े किसान की? किस किसान की फसल दुगुनी होगी, मुझे उसकी जानकारी चाहिये। किसानों की फसल बीमा योजना के बारे में मैं कहना चाहूंगी कि आपकी जो फसल बीमा योजना है, वह राफेल घोटाले से भी बड़ा घोटाला है।

एक पत्रकार है-साईंनाथ, जिनका कहना है कि किसानों की फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों ने जो पैसा जमा किया, वह 66 हजार करोड़ रहा। आपने हर जिले को 173 करोड़ रूपए किसानों को देने के लिये उपलब्ध कराए, जबकि बीमा कंपनियों से केवल 30 करोड़ रूपए ही किसानों को मिल पाए तो 143 करोड़ रूपए फसल बीमा करने वाले बीमा एजेंटों के पास, बैंकों के पास, अडानी के पास जमा रहे- जो किसानों का पैसा था। तो आपकी फसल बीमा योजना पूरी तरह से फैलर योजना है, यह किसानों के लिये बहुत घातक योजना है। किसान जब बीमा कराने जाते हैं तो वे इस बात को सही तरीके  से समझ नहीं पाए। ''प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधिझ्झ् के अंतर्गत आपने 6,000 रूपए देने का वायदा किया, जिसके अंतर्गत 2,000 रूपएकी पहली किश्त 3 करोड़,36 लाख किसानों को मिली, लेकिन आपने दूसरी किश्त में उसे कम करके 2 करोड़ 96 लाख कर दिया और 2,70,000 हजार किसानों को बैंक ब्यौरे और जमीन ब्यौरे में विसंगति के कारण न तो पहली किश्त मिल पायी और न ही दूसरी किश्त मिल पायी। किसानों की दशा और दिशा सुधारने का कोई नामो-निशान आपकी योजना में दिखायी नहीं देता। किसान हताश है, निराश है, उन्हें इस योजना का लाभ सही तरीके से नहीं मिल पा रहा है। 

छत्तीसगढ़ कांग्रेस की सरकार में हमारे मुख्यमंत्री जी एक योजना लाए हैं जिसका नाम हैं-नरवा, घुरवा, गरवा, बारी, एला बचाना हे संगवारी। नरवा मतलब नाला, नाले में छोटे-छोटे स्टॉप डेम बनाने पानी संचित होगा और उस पानी को किसानों को देंगे। घुरवा मतलब गोबर और घर के दूसरे कचरे को एक जगह संचित करके उससे कम्पोस्ट खाद बनाकर उसे खेती में उपयोग किया जाएगा-यह घुरवा हुआ। गरवा मतलब गोठान। अभी कल ही हमारे सांसद गाय के बारे में बता रहे थे कि गाय पूरी फसल को चर जाती है। इसके लिये हमारी सरकार ने गोठान उपलब्ध कराए हैं और वह हर ग्राम पंचायत में गोठान बना रही है। होता क्या है कि हम फसल बचाने के लिये खेत को कांटों की तार से घेरते हैं, लेकिन अगर हम गांव में गोठान बनाकर गाय को एक जगह संरक्षित करें तो उससे फायदा होगा। धान की हारवेस्टिंग से कटिंग होती है, मनरेगा के माध्यम से उस पैरा को जो पैरा हम खेत में छोड़ देते है, उस पेरा का गाय के चरने के लिए, गाय के खाने के लिए वहां पर रखे और उस गौठान में पानी की व्यवस्था कराएॅ जिससे गाय की एक जगह रखकर बहुत अच्छी कामपोस्ट खाद बन सकती है, ऐसा करके हम गाय को संरक्षित कर सकते है, उसकी सेवा कर सकते है। जब मनरेगा के माध्यम से यह काम होगा तो हर ग्राम पंचायत के चार-पांच से लेकर आठ-दस लड़को को मजदूरी मिलेगी काम मिलेगा यह 'गरवाझ् हुआ।

चौथा है 'बाड़ीझ्-'बाड़ीझ् का मतलब किचन गार्डन नहीं है। आज हम देख रहे है कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था में अंधाधुंध पेड़ों की कटाई हो रही है। चाहे वह सड़क चौड़ीकरण के नाम से हो चाहे उद्योग लगाने के नाम से हो या अन्य कारण से हो आज हमारे पेड़ कट रहे है जंगल कट रहे है पिछले 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ में इतने अधिक जंगलों की कटाई हुई कि अब जंगली जानवर हमारे घरों में आ रहे है हाथी आ रहे है, बंदर आ रहे है- हमने जंगल काटकर उनका घर उजाड़ दिया तो अब वे हमारे घरों में आ रहे है। जो भी गांव की खाली जगह है, छोटी-छोटी जगह है, उसमें हमारी सरकार सब्जी-भाजी के बीज और दूसरे खाद्य पदार्थो के बीज छिड़क रही है।

उससे जंगली जानवर चाहे व भालू हो, चाहे वह बंदर हो, चाहे वह हाथी हो, वे उस स्थान में ही रहेंगे। वे हमारे गांव में घुसकर हमारी फसलों को नुकसान नही पहुंचाएंगे। तो यह नरवा, घुरवा, गरवा, और बाड़ी एक योजना है और आप चाहे तो इसको मैं और विस्तार से लिखित रूप में भी दे सकती हूं। हमारी सरकार में एक क्विंटल धान का सर्मथन मूल्य 2500 रुपए रखा है, जो भारत के किसी भी राज्य में नहीं है। सही मायने मे अगर आप किसानों का हित चाहते है और किसानों के साथ न्याय करना चाहते है, तो आपको धान के सर्मथन मूल्य को ब?ाना होगा। किसानों के लिए कृषि ही उनकी शक्ति है, कृषि ही उनकी भक्ति है, कृषि ही निंद्रा है और कृषि ही उनका जागरण है। किसान पूरे दिन, पूरे समय, पूरी उम्र खेती में ही अपना जीवन व्यतीत करता है। अगर उसके साथ अन्याय होगा, उसके साथ न्याय नही करेंगे तो यह पूरी बेईमानी होगी। जब देश का किसान खुशहाल होगा, ते सब चीजे समृद्ध होगी, देश समृद्ध होगा, व्यापार फलेगा-फूलेगा, उद्योग फलेगा-फूलेगा क्योकि वहीं से तो हमे पैसा मिलता है। अगर किसान को आप दुखी रखेंगे, तो हमारा देश कभी खुशहाल नहीं हो सकता हैं।

22-07-2019
आज सावन का पहला सोमवार, शिवालयों में विशेष तैयारी

नई दिल्ली। पवित्र श्रावण मास का आज प्रथम सोमवार है। पूरा देश शिवमय हो चला है। शिव आस्था के प्रमुख केंद्रों पर रविवार को ही देश-दुनिया से भक्तों का जुटना प्रारंभ हो गया था। अमरनाथ, केदारनाथ, नीलकंठ महादेव, काशी विश्वनाथ, बाबा बैद्यनाथ, महाकाल और ओंकारेश्वर सहित देशभर मेंशिवालयों की रौनक देखते बन रही है।

बाबा बैद्यनाथ : सवा लाख भक्त करेंगे जलाभिषेक
देश-विदेश के कोने-कोने से देवघर, झारखंड में बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक करने के लिए लाखों शिवभक्त जुट गए हैं। शिवभक्तों के स्वागत में बाबा नगरी पूरी तरह से तैयार है। उम्मीद है कि आज सवा लाख से अधिक भक्तों कोबाबा की पूजा-अर्चना करने का सौभाग्य मिलेगा। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए देवघर ही नहीं देश के कई हिस्सों से यहां आकर सेवा देने वाले शिवभक्त भी पुख्ता तैयारी कर उनके स्वागत के लिए पलकें बिछाए हैं। बिहार के सुल्तानगंज से उत्तरवाहिनी गंगा से जल लेकर आने वाले कांवड़ियों को 150 किमी यात्रापथ में हर सुविधा दी गई है।

ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर, उज्जैन : आज पहली सवारी
परंपरानुसार श्रावण के हर सोमवार और भादौ मास के दो सोमवार को राजाधिराज भगवान शिव पालकी में सवार होकर प्रजाजनों का हाल जानने निकलते हैं। इस साल श्रावण मास की पहली सवारी आज शाम चार बजे निकलेगी। हजारों आस्थावान अपने राजा की एक झलक पाने के लिए लालायित रहेंगे। महाकालपुरी में श्रावण के उल्लास के बीच देवाधिदेव भगवान भोलेनाथ के आंगन में भक्तों का रेला लगना शुरू हो गया है। पवित्र मास के पहले रविवार को तड़के भगवान महाकाल को भस्मी चढ़ते देखने के लिए सैकड़ों श्रद्धालु पहुंचे। सुबह 11 बजे तक करीब 9 हजार श्रद्धालुओं ने अवंतिकानाथ के दर्शन कर लिए थे। सुबह अभिषेक-पूजन के बाद विशेष श्रृंगार हुआ। फिर भगवान को भस्मी अर्पित की गई। यह अद्भुत दृश्य को देखते ही मंदिर परिसर जय श्री महाकाल.. के जयघोष से गूंज उठा। 26 अगस्त को शाही सवारी का विशेष आयोजन होगा।

अमरनाथ : आज 70 हजार भक्त करेंगे बाबा बफार्नी के दर्शन
समुद्र तल से 3,888 मीटर ऊंचाई पर स्थित बाबा बफार्नी की पवित्र गुफा में हिमलिंग के दर्शनों के लिए हर कोई लालायित रहता है। अमरनाथ यात्रा हो और सावन का पहला सोमवार तो बहुत कम श्रद्धालुओं को दर्शनों का सौभाग्य मिलता है। इस दिन अमरनाथ की पवित्र गुफा में भी विशेष पूजा होती है। श्रद्धालुओं का प्रयास रहता है कि सावन के पहले सोमवार को ही बाबा बफार्नी के दर्शन हों। इस बार अच्छी बात यह है कि यात्रा के बीस दिन बाद भी बाबा बफार्नी पवित्र गुफा में विराजमान होकर श्रद्धालुओं को दर्शन दे रहे हैं। मौसम अनुकूल होने के कारण श्रद्धालुओं को भी कोई परेशानी नहीं हो रही है। सोमवार को भी मौसम ठीक रहने की संभावना जताई गई है। श्रीनगर के शंकराचार्य मंदिर में भी विशेष तैयारियां की जा रही हैं। यह कश्मीर घाटी का सबसे पुराना शिव मंदिर है। इस मंदिर में भी सावन के महीने में दर्शन करने वालों की भीड़ होती है। इन सभी मंदिरों में तैयारियां चल रही हैं।

केदारनाथ धाम : ब्रहमकमल करेंगे अर्पित
केदारनाथ मंदिर में सावन के पहले सोमवार पर विशेष दर्शनों को भक्तों का जुटना पहले ही शुरू हो चुका था। श्रावण मास में भोले के भक्त उच्च हिमालय क्षेत्र में पाए जाने वाले ब्रह्मकमल फूल लाकर चढ़ाते हैं। इस पुष्प को भक्त करीब पंद्रह हजार फीट की ऊंचाई पर हिमालयी क्षेत्र से लेकर आते हैं। पौराणिक काल से यह परंपरा चली आ रही है। मंदिर समिति के कार्याधिकारी एमपी जमलोकी बताते हैं कि श्रावण मास में केदारनाथ मंदिर में विशेष पूजाएं होती हैं। समिति यहां शिव कथा का आयोजन भी कर रही है।

ओंकारेश्र्वर : ओंकार के दर्शन के लिए उमड़ रही आस्था
मप्र के खंडवा में ओंकार पर्वत पर नर्मदा किनारे स्थित ओंकारेश्र्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शनों को देशभर से श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। ज्योतिर्लिंग भगवान ओंकारेश्र्वर और ममलेश्र्वर के दर्शन के साथ ही नर्मदा स्नान कर भक्तधन्य हो रहे हैं। रविवार सुबह से ही ओंकारेश्र्वर मंदिर में भक्तों की कतार लग गई थी। करीब एक घंटे में ओंकारेश्र्वर मंदिर में भक्तों को दर्शन हुए। भक्तों को ज्योतिर्लिंग पर सीधे जल, फूल, बिल्व पत्र नहीं चढ़ाने दिया जा रहा है। पंडितों द्वारा इसे अर्पित कराए जाने की व्यवस्था है।

श्रीनीलकंठ महादेव : आज जुटेंगे एक लाख श्रद्धालु
पौड़ी जिले के यमकेश्र्वर प्रखंड में मणिकूट पर्वत की तलहटी पर स्थित नीलकंठ महादेव मंदिर स्थित है। श्रावण मास की कावड़ यात्रा में यहां प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। इस वर्ष भी कावड़ यात्रा को लेकर विशेष तैयारियां की गई हैं। मंदिर समिति को सोमवार के जलाभिषेक के लिए यहां करीब एक लाख से अधिक कांवड़ियों के पहुंचने की उम्मीद है। जिसके लिए सुरक्षा प्रबंधन भी किए गए हैं। आसपास के स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया है।

हरिद्वार : सज गई धर्मनगरी
चहुंओर बम-बम भोले के जयकारे गूंज रहे हैं। शिवालयों की साज सज्जा देखते ही बन रही है। दक्षनगरी में भी तैयारियों जोरों पर है। धार्मिक मान्यता के अनुसार भोले शंकर श्रावण मास में अपनी ससुराल दक्षनगरी कनखल में विराजते हैं। इसलिए हरिद्वार में सावन का महत्व और बढ़ जाता है। दक्षेश्र्वर महादेव मंदिर में भी श्रावण के पहले सोमवार पर जलाभिषेक को विशेष तैयारियां की गई हैं। इधर, हरकी पैड़ी स्थित ब्रह्मकुंड से कांवड़ यात्री जल भरकर अपने घरों को लौट रहे हैं। अब तक 25 लाख कांवड़ यात्री जल लेकर जा चुके हैं।

21-07-2019
दही-हांडी प्रतियोगिता के लिए रथ पर बैठाकर भगवान को लाएंगे भक्तजन 

रायपुर। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी उत्सव एवं विकास समिति के संयोजक माधव लाल यादव एवं सचिव धनु लाल देवांगन ने  बताया कि संस्था की एक बैठक कार्यालय बाल समाज बूढ़ापारा में रविवार को हुई। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 4 अगस्त को प्रात: 10  से 12 बजे तक रंगोली प्रतियोगिता दानी गल्र्स स्कूल में लड़कियों के लिए आयोजित की जाएगी  जिसमें प्रथम ,द्वितीय ,तृतीय और सांत्वना पुरस्कार दिए जाएंगे। 
जन्माष्टमी पखवाड़े के अंतर्गत फैंसी ड्रेस एवं डांस प्रतियोगिता का आयोजन 17 अगस्त को शनिवार को शाम 6 बजे से वृंदावन हाल सिविल लाइन रायपुर में रखा गया है जिसमें लड़की और लड़कों की उम्र 12 वर्ष आयु सीमा निर्धारित की गई है। 24 अगस्त के दिन दही हांडी प्रतियोगिता के दौरान श्रीकृष्ण बनो प्रतियोगिता का आयोजन रखा गया है जिसमें बच्चों की आयु सीमा 12 वर्ष तक निर्धारित की गई है। उक्त प्रतियोगिता सप्रे शाला मैदान में दोपहर 100 बजे होगी। इससे पहले शोभायात्रा निकाली जाएगी। स्कूल से भक्तों के साथ बाजे-गाजे के साथ नाचते-गाते सदर बाजार के गोपाल मंदिर से भगवान को रथ पर विराजमान कराने के बाद लाएंगे। रथ को खींचते हुए सदर बाजार, सदानी चौक, श्याम टॉकीज रोड होते हुए वापस सप्रे स्कूल मैदान पहुंचेंगे वहां भगवान की मूर्ति को स्थापित करने के बाद दही हंडी प्रतियोगिता प्रारंभ होगी । भगवान की रथ यात्रा में अन्य झांकियां भी सम्मिलित रहेंगी। साथ ही यादव नृत्य दल, शौर्य प्रदर्शन अखाड़ा दल और विभिन्न नृत्य दल नृत्य करते चलेंगे। समिति में दमयंती देशपांडे, हेमलता यादव, कविता आहूजा, विशाखा तोप खानेवाले, माधुरी गाडगिल, अर्पणा देशमुख, आशा काले,  सुषमा कर,  सीमा वर्मा,  मीना यादव, संगीता यादव,  शुभांगी आप्टे, अंजलि शितूत को रंगोली प्रतियोगिता और फैंसी डांस प्रतियोगिता का प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई। बता दें कि प्रदेश स्तरीय दही हांडी लूट प्रतियोगिता के आयोजन का यह 11 वर्ष है। मुंबई और छत्तीसगढ़ी तर्ज पर क्रेन मोटर की सहायता से दही से भरे मटके को 30 फीट की ऊंचाई पर लटकाया जाता है जिससे फोडऩे के लिए दिनभर लड़कियों और लड़कों की गोविंदा मंडली प्रयास करती है। संस्था द्वारा उक्त अवसर पर गौरत्न कृष्णमित्र छत्तीसगढ़ गौरव, कृष्ण बलराम शौर्य सम्मान प्रतिभावान छात्र छात्रा पुरस्कार एवं सम्मान आदि दिए जाएंगे। सभी प्रतियोगिताओं में भाग लेने संस्था ने पंजीयन प्रारंभ कर दिया है इस हेतु संस्था के कार्यालय द्वारिकाधीश भवन, केसरी गली, उमंग कॉलोनी, टिकरापारा रायपुर के मोबाइल नंबर 877 084 8900 ,95750 03333 पर संपर्क किया जा सकता है । बैठक में विजयपाल डॉक्टर मनोज ठाकुर, बिहारी लाल शर्मा, भीम गावड़े, लोकेश यादव, दीपक यदु, राधेश्याम बुंदेला, सुभाष बुंदेला, रामानंद जादू, नरेश यादव, भगत सिंह यादव, डॉक्टर कामता प्रसाद साहू, पीयूष परिहार सहित बड़ी संख्या में सदस्य उपस्थित थे।

 

21-07-2019
सेरीखेड़ी में बैठ कर जल संवर्धन पर चर्चा की और रैली निकालकर दिया जल संरक्षण का संदेश

रायपुर। उजाला ग्राम संगठन बिहान समूह  सेरीखेड़ी में बैठकर उजाला ग्राम संगठन के अध्यक्ष मोहनी डहरिया व सचिव सीमा साहू ने बैठक में जल संरक्षण के लिए सोख्ता निर्माण, वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की , साथ ही स्वच्छता अभियान के लिए चर्चा हुई। वही वर्तमान में गावों में पेड़ो की अंधाधुंध कटाई पर चिंता जाहिर की। सभी महिलाओं ने आवश्यक रूप 2-2 पौधे लगाकर संरक्षण का संकल्प लिया।

जल शक्ति को जन आंदोलन का रूप देने के लिए बिहान समूह के महिलाओं ने रैली निकाल कर जल है तो , कल है, जल शक्ति बढ़ाना है। जल संकट से मुक्ति पाना है इत्यादि नारे से जन जागरूकता का संदेश दिया। इस अवसर पर ग्राम सेरीखेड़ी के सरपंच कुमारी ढ़ीढ़ी, सक्रिय महिला सबनम शेख, कोषाध्यक्ष स्वेता जांगड़े, वीवो सहायिका मोमिन धीवर, योगिता जांगड़े, लीना साहू, बसंती साहू, सुमन कार्की, अर्चना बछाड, लिपिक दास। सीता धीवर, नंदनी धीवर, सरस्वती धीवर, नीता धीवर, सन्तोषी धीवर, एगेश्वरी धीवर, कीर्ति टण्डन, पुष्पा साहू, महेश्वरी रात्रे, कुमारी बाई यादव, शुशीला पटेल, रूखमणी साहू, पूर्णिमा साहू, दया ध्रुव, गंगा साहू, आशा धीवर, लीला ध्रुव  सहित ग्राम की महिलाए उपस्थित थी 

 

 

21-07-2019
दोंदेखुर्द में युवाओं ने दूसरे सप्ताह श्रमदान से किया वृक्षारोपण

रायपुर। एक प्रयास हमर सुग्घर गांव दोंदेखुर्द के नाम से पूरे छत्तीसगढ़ में स्वच्छता श्रमदान से अपना अलग पहचान बना चुके ग्राम पंचायत दोंदेखुर्द के युवाओं ने दूसरे सप्ताह श्रमदान के माध्यम से गांव के सतनाम गेट से बस्ती पहुंच मार्ग पर फलदार व छायादार पौधे लगाकर तथा प्राथमिक शाला  बस्ती में गुलमोहर व अन्य फूलों के पौधे लगाकर एक मिसाल प्रस्तुत की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर पूरे देश में जल संरक्षण एवं संवर्धन कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में वृक्षों का महत्व समझते हुए युवाओं ने वृक्षारोपण कर गांव को हरा-भरा बनाने यह प्रयास किया है। कार्यक्रम का शुभारंभ गांव के बुजुर्ग भूतपूर्व सरपंच सियाराम बंजारे, शिक्षाविद घसियादास टंडन, संतोष लहरे, बिसेलाल रात्रे ने किया तथा इन बुजुर्गों के नेतृत्व में युवाओं ने सैकड़ों पौधे रोपे। गांव के युवा उपसरपंच सूरज टंडन ने बताया कि अगर हमें जल बचाना है तो वृक्षों की कटाई पर रोक लगानी होगी तथा अधिक संख्या में वृक्षारोपण करना होगा। अल्प वृष्टि, खण्ड वृष्टि का मुख्य कारण अधिक संख्या में पेड़ों की कटाई ही है जिससे मानसून में विशेष रूप से परिवर्तन आया है, जिसे क्लाइमेट चेंज कहा जाता है। गांव के गंगाधर सोनवानी व उनकी धर्मपत्नी ने जागरूक दंपती का फर्ज निभाते हुए एक साथ आम के पेड़ लगाए तथा गांव के अन्य लोगों से निवेदन किया कि वे भी इस पुनीत कार्य में अपनी सहभागिता प्रदान करें। कार्यक्रम में मुख्य रूप से छात्र नेता सूर्यप्रताप बंजारे, भरत तिवारी, प्रकाश मानिकपुरी, लेखराम कुर्रे , पंकज देवहरे,  विक्की, मौसमी टंडन,  उषा टंडन, मुकेश टंडन, शानू तिवारी, अनिकेत रात्रे,  हिरवानी पटेल, विवेक कुर्रे, युवराज वर्मा, जयेश रात्रे, चंदन मार्कण्डेय, हर्ष बंजारे, लखन जोशी तथा बड़ी संख्या में युवा एवं बच्चे शामिल हुए।

 

21-07-2019
मोदी सरकार की नीतियों को मिल रहा जन-जन का समर्थन : बृजमोहन

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्र के गौरव को बढ़ाया है। भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बाद  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिन नीतियों के साथ देश को आगे लेकर जा रहे हैं उस नीति को देशवासियों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। यही वजह है कि लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रचंड मतों से जीती है। यह बात रायपुर दक्षिण विधायक एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश के पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने भाजपा सदस्यता अभियान के दौरान कही। यह आयोजन सुंदर नगर क्षेत्र में हुआ। इस अवसर पर सैकड़ों नागरिकों ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली। इस दौरान उपस्थित भाजपा कार्यकर्ता एवं गणमान्य नागरिकों को संबोधित करते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक संवेदनशील पार्टी है जो सेवा की राजनीति करती है। उसके लिए देश पहले है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का नारा सबके साथ सबका विकास है। कार्यक्रम को नगर निगम के उपनेता प्रतिपक्ष रमेश सिंह ठाकुर व भाजपा महिला मोर्चा की महामंत्री मीनल चौबे ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में सुशील शर्मा, शशांक रजक, महेश शर्मा, कमलेश शर्मा, नरेंद्र देवांगन, संतोष देवांगन, अशोक साहू, शैलेन्द्र गोस्वामी, मनीष, मनीषा चंद्राकर, रंभा चौधरी, उमा देवांगन, धनेंद्र बिसेन आदि उपस्थित थे।

 

21-07-2019
माही लेंगे पैराशूट रेजिमेंट बटालियन के साथ प्रशिक्षण,  जनरल रावत ने हामी भरी

नई दिल्ली। भारतीय सेना के साथ प्रशिक्षण के लिए क्रिकेटर एमएस धोनी के अनुरोध को जनरल बिपिन रावत ने मंजूरी दे दी है। वह पैराशूट रेजिमेंट बटालियन के साथ प्रशिक्षण लेंगे। प्रशिक्षण का कुछ हिस्सा जम्मू और कश्मीर में भी होने की उम्मीद है। बता दें कि सेना धोनी को किसी भी सक्रिय ऑपरेशन का हिस्सा नहीं बनाएगी। बता दें कि पैरामिलिट्री फोर्स की पैराशूट रेजिमेंट में धोनी एक मानद लेफ्टिनेंट कर्नल हैं। बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी के मुताबिक यह पता चला है कि धोनी अपनी रेजिमेंट के साथ अगले दो महीने रहेंगे और अपनी सेवा सेना को देंगे। इससे पहले बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया था कि धोनी ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए खुद को अनुपलब्ध बताया था, क्योंकि वह अपने अर्धसैनिक रेजिमेंट के साथ दो महीना बिताना चाहते हैं। अधिकारी ने यह भी स्पष्ट किया कि धोनी इस समय क्रिकेट से संन्यास नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम ये साफ  शब्दों में कह रहे हैं कि धोनी अभी क्रिकेट से संन्यास नहीं ले रहे हैं। वह अपने अर्धसैनिक रेजिमेंट की सेवा के लिए दो महीने का विश्राम ले रहे हैं, जो वह पहले भी करते रहे हैं।

 

21-07-2019
7 साल के बच्चे का लिवर ट्रांसप्लांट करने डॉक्टरों ने जुटाए इतने लाख 

नई दिल्ली। आम तौर पर देखा जाता है कि ऑर्गन ट्रांसप्लांट की जरूरत केवल बड़ों को पड़ती है लेकिन कुछ ऐसी बीमारियां बच्चों को भी हो सकती हैं, जब उन्हें अंग प्रत्यारोपण की जरूरत पड़ जाती है। लखनऊ के 7 वर्षीय बच्चे अली हम्जा का मामला भी कुछ ऐसा ही है, जिसका दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स हॉस्पिटल में लिवर ट्रांसप्लांट किया गया। अली हम्जा को बीमारी की एडवांस स्टेज में अस्पताल ले जाया गया था। जहां डॉक्टरों ने अली हम्जा के पिता मोहम्मद रेहान को बताया कि लिवर ट्रांसप्लांट में 15 लाख रुपए का खर्चा आएगा। सामान्य आय वर्ग के अली हम्जा के माता-पिता 15 लाख रुपए के खर्चे से लिवर ट्रांसप्लांट ऑपरेशन कराने में असमर्थ थे। इस पर डॉक्टरों ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया। मैक्स हॉस्पिटल के डॉक्टर शरत शर्मा ने बताया कि सात वर्षीय अली हम्जा के लिवर ने पूरी तरह से काम करना बंद कर दिया था। उसे पीलिया हुआ था जिसकी वजह से वह कोमा में चला गया था। बच्चे की हालत देखते हुए हमने उसके माता-पिता को बच्चे के लिवर ट्रांसप्लाट का सुझाव दिया, लेकिन परिवार वालों ने कहा कि उनके पास लिवर ट्रांसप्लांट कराने के लिए पैसा नहीं है। ऐसे में हमने उनकी मदद का बीड़ा उठाया। डॉक्टरों की टीम ने 7 वर्षीय अली हम्जा के ऑपरेशन के लिए चंदे से 11 लाख रुपये जुटा लिए, जबकि अली हम्जा के पिता मोहम्मद रेहान सिर्फ तीन लाख रुपये का इंतजाम ही कर सके। इसके बाद मैक्स सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल में बाल चिकित्सा और गैस्ट्रोइंटरोलॉजी में वरिष्ठ डॉक्टर शरत वर्मा की टीम ने 7 वर्षीय अली हम्जा का सफल ऑपरेशन किया। अली हम्जा के पिता मोहम्मद रेहान ने कहा कि उनके बेटे के इलाज के लिए पैसा जमा करने में अस्पताल के डॉक्टरों ने उनकी बहुत मदद की। उन्होंने कहा कि हम डॉक्टरों द्वारा की गई इस मदद के आभारी हैं।

21-07-2019
बीजापुर पुलिस की मानवता : सात वर्षों से बिछड़े सोनाराम को मिलाया परिजनों से

बीजापुर। बीजापुर पुलिस ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए विगत 7 वर्षों से बिछड़े सोनाराम को परिजनों से मिलाया। बीजापुर थाना प्रभारी चंद्रशेखर बारीक ने बताया कि 20 जुलाई को रात्रि गश्त के दौरान एक एक व्यक्ति मिला जो डरा-सहमा सा था और उसकी मानसिक स्थिति भी कमजोर थी। जवानों द्वारा उस व्यक्ति को थाना लाकर पूछताछ करने पर अपना नाम सुनाराम बघेल तुंगापाल ठोठापारा बकावंड जिला बस्तर होना बताया। बीजापुर पुलिस द्वारा आज थाना प्रभारी बकावंड से संपर्क कर सुनाराम के परिजनों से पूछताछ करने कहा। सुनाराम के परिजनों ने कहा कि विगत 07 वर्षों से सुनाराम घर से बाहर  था। आज सुनाराम के पिता ललित बघेल व माता सेमवती बघेल को बीजापुर थाना में स्टाफ  के समक्ष परिजनों सौंप दिया। विगत 07 वर्षों से बिछड़े अपने पुत्र से मिलकर बहुत खुश हुए और बीजापुर पुलिस के इस प्रयास के लिए धन्यवाद भी दिया।

21-07-2019
स्कूली बसों और उसके चालकों-परिचालकों की जांच 

रायपुर। आए दिन स्कूल बस दुर्घटनाग्रस्त होने के मामले सामने आते रहते हैं। इसलिए ऐसे मामलों को रोकने यातायात पुलिस सभी स्कूल बस का परीक्षण और चालक व परिचालकों का भी परीक्षण कर रही है। इसी सिलसिले में आज करीब 150 बसें परीक्षण के लिए रायपुर पुलिस लाइन पहुंचीं, जहां परीक्षण कर बसों को प्रमाण पत्र दिया गया।  यातायात निरीक्षक ईश्वर सिंह ने बताया कि बस स्कूली बच्चों के परिवहन के योग्य हैं या नहीं इसकी जांच की गई। इसके साथ ही बस के चालक और परिचालकों के स्वास्थ्य का भी परीक्षण किया गया। वाहनों के दस्तावेजों की जांच के लिए रायपुर आरटीओ की टीम, पुलिस वर्कशॉप के कुशल तकनीशियन्स की टीम ने बस का परीक्षण किया। इसके साथ ही वाहन चालक और परिचालक के स्वास्थ्य का परीक्षण पुलिस अस्पताल में किया गया। इस दौरान 42 स्कूलों के करीब 146 वाहनों का परीक्षण किया गया।

Please Wait... News Loading