GLIBS

Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ के परंपरागत खेल भौंरा में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा

शुभांकर रॉय  | 10 Jan , 2019 10:49 PM
Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ के परंपरागत खेल भौंरा में बच्चों ने दिखाई प्रतिभा

दुर्ग। शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला लिटिया विकासखंड धमधा में गुरुवार को छत्तीसगढ़ के परंपरागत खेल भौंरा का आयोजन किया गया। इसमें पूर्व माध्यमिक शाला के कक्षा छठवीं, सातवीं एवं आठवीं के विद्यार्थियों ने भाग लिया। कक्षा छठवीं के मैच में हरिशंकर ने 6 अंक प्राप्त कर फाइनल में प्रवेश किया। सातवीं से संघर्षपूर्ण मुकाबले में कुलदीप एवं कुलेश्वर ने समान अंक प्राप्त कर फाइनल में प्रवेश किया। कक्षा आठवीं से भूषण ने केवल 1 अंक की बढ़त लेकर फाइनल में प्रवेश किया। फाइनल मुकाबले में भूषण ने कुलेश्वर को निर्धारित समय में 1 अंक के मामूली अंतर से हराकर रोमांचक जीत दर्ज की।  प्रतियोगिता में हरिशंकर तीसरे स्थान पर रहे। यह पहला मौका था जब छत्तीसगढ़ के परंपरागत खेलों का आयोजन, संरक्षण एवं संवर्धन के उद्देश्य से विद्यालय स्तर पर स्थानीय नियमों के आधार पर किया गया। प्रतियोगिता में विजयी खिलाडिय़ों को विद्यालय की प्राचार्य आई. लक्ष्मी तुलसी, पूर्व माध्यमिक विद्यालय लिटिया की  प्रधान पाठिका वर्षा तैलंग, अध्यापिका पिंकी श्रीवास्तव, नीतू टिकरिया, नीतू हरमुख, हेमलता शर्मा, संगीता बैस व  प्राथमिक शाला के प्रधानपाठक धनेश कुमार श्याम ने शुभकामनाएं दीं। प्रतियोगिता के निर्णायक अर्जुन लाल सेन, भूषण कुमार व आयोजक विद्यालय के व्यायाम शिक्षक पवन यादव थे।