GLIBS

विदेश संबंधी मामलों में कांग्रेस का शर्मनाक आचरण :  श्रीवास्तव  

श्रवण यदु  | 15 Mar , 2019 07:42 PM
विदेश संबंधी मामलों में कांग्रेस का शर्मनाक आचरण :  श्रीवास्तव  

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने चीन द्वारा मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर अड़ंगा डालने पर कांग्रेस की टिप्पणियों पर निशाना साधा है। उन्होंने कांग्रेस नेताओं के बयान पर सवाल किया कि आखिर चीन की इस कार्रवाई पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व दीगर कांग्रेस नेता खुश क्यों हैं?

भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को डरपोक कहने और विदेश नीति को विफल बताने पर कड़ा एतराज जताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को यह याद रखना चाहिए कि यूएन सुरक्षा परिषद में चीन को वीटो का विशेषाधिकार मिलने के लिए भारत के पहले प्रधानमंत्री पं. नेहरू ही जिम्मेदार थे। अगर पं. नेहरू ने उस वक्त साहस दिखाया होता तो चीन आज यूं भारत को आंखें दिखाने का दुस्साहस नहीं कर पाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को डरपोक बताने से पहले राहुल गांधी यह तो बताएं कि सन् 2009 में कांग्रेस-यूपीए की सरकार के समय जब मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने वीटो इस्तेमाल किया तब उनकी सरकार क्यों नहीं साहस का परिचय दे पाई? पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से मुकाबला करने की बजाय सिर्फ घडिय़ाली आंसू बहाने वाले कांग्रेसियों के मुंह से राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों में साहस दिखाने की नसीहत और विदेश नीति पर तंज कसना शोभा नहीं देता। 

  श्रीवास्तव ने कहा कि जो लोग चीनी दूतावास जाकर उच्चायुक्त से मिलते है, मानसरोवर यात्रा की आड़ लेकर चीनी नेताओं से गुपचुप मिलते हैं, वे चीन के प्रति साहस का परिचय देने की सीख देने के हास्यास्पद और शर्मनाक राजनीतिक चरित्र का परिचय दे रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ सख्ती दिखाई। पहले उरी सर्जिकल स्ट्राइक और फिर पुलवामा आतंकी हमले के बाद बालाकोट एयर स्ट्राइक करके जो जवाब दिया, उससे विश्व-समुदाय में भारत की धाक-धमक बढ़ी है। विदेश नीति पर तंज कस रहे राहुल गांधी यह समझें कि मोदी-सरकार की विदेश नीति की सफलता यही है कि आज पाकिस्तान विश्व में अलग-थलग पड़ गया है। भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति जैसे विषयों पर राजनीति और अशोभनीय टिप्पणियां करके कांग्रेस अपने मानसिक असंतुलन का परिचय ही दे रही है।