GLIBS

लोकसभा निर्वाचन के पूर्व रायपुर में दो दिनों के लिए जुटेंगे सभी 11 लोकसभा के जिला निर्वाचन अधिकारी

रोहित बन्छोर  | 11 Feb , 2019 09:16 PM
लोकसभा निर्वाचन के पूर्व रायपुर में दो दिनों के लिए जुटेंगे सभी 11 लोकसभा के जिला निर्वाचन अधिकारी

रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य में लोकसभा निर्वाचन-2019 की तैयारियाँ जोरों पर है। इस बीच प्रदेश के सभी 27 जिलोें के कलेक्टर्स एवं जिला निर्वाचन अधिकारियों को दो दिवसीय सर्टिफिकेशन कोर्स आज से रायपुर में शुरू हो रहा है। इन दो दिनों में प्रदेश के सभी 11 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के रिटर्निंग अधिकारियों सहित सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को सुगम, निष्पक्ष और स्वतंत्र निर्वाचन के लिए आवश्यक जानकारियाँ दी जाएंगी। इस दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी और रिटर्रिंग अधिकारी के दायित्वों, मतदाता सूची का पुनरीक्षण, आदर्श आचरण संहिता और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर जानकारी दी जाएगी।  

राजधानी रायपुर स्थित न्यू सर्किट हाउस के ऑडिटोरियम में 12 फरवरी को प्रातः 09 बजे से आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में पहले दिन 7 सत्र होंगे तथा दूसरे दिन 13 फरवरी को प्रातः 09 बजे से ही 6 सत्र होंगे। इन दो दिनों में अलग-अलग विषयों में विशेषज्ञों एवं मास्टर ट्रेनरों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा। पहले दिन जिला निर्वाचन अधिकारियों एवं रिटर्निंग अधिकारियों को उनके दायित्वों, मतदाता परिचय पत्र पुनरीक्षण, प्रत्याशी के नामांकन, उनकी योग्यता तथा अयोग्यता, नामांकन पत्रों की जाँच, नामांकन पत्रों की वापसी तथा चुनाव चिन्ह आबंटन, आदर्श आचरण संहिता, निर्वाचन व्यय निगरानी, मतदान सहित अन्य विषय पर प्रशिक्षण दिया जाएगा।  
वहीं दूसरे दिन इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईव्हीएम) तथा व्हीव्हीपेट का उपयोग, मतदान दल एवं दिव्यांग मतदाता की सहूलियतों, पेड न्यूज़, मीडिया तथा मीडिया मॉनिटरिंग कमेटी, मतगणना तथा परिणाम की घोषणा के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग जैसे सुविधा, सुगम, समाधान, सी-विजिल तथा मतगणना एप्लिकेशन पर जानकारी दी जाएगी।   
इधर लोकसभा निर्वाचन को लेकर जिला स्तर पर भी प्रशिक्षण का कार्य शुरू हो चुका है, जो मतदान के एक दिन पूर्व तक जारी रहेंगे। इसी प्रकार मतदान पश्चात मतगणना के 10 दिन पूर्व से लेकर 05 दिन पूर्व तक मतगणना के प्रशिक्षण चलेंगे। सेक्टर अधिकारियों को 15 से 20 फरवरी, एमसीसी एवं ईईएम दलों को 14 से 15 फरवरी, एमसीएमसी दलों को 16 से 17 फरवरी, वीडियोग्राफरों को 19 फरवरी, पीठासीन एवं प्रथम मतदान अधिकारी को 11 से 25 फरवरी और ईव्हीएम जागरूकता दलों को 28 फरवरी तक प्रशिक्षण दिए जाएंगे। माइक्रो-आब्जर्वरों को 27 और 28 फरवरी को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसी प्रकार मतदान दल का प्रथम प्रशिक्षण फरवरी के अंतिम सप्ताह तक, द्वितीय प्रशिक्षण मार्च के द्वितीय सप्ताह तक तथा तृतीय प्रशिक्षण मतदान से एक दिन पूर्व तक आयोजित किया जाएगा।