GLIBS

बर्खास्तगी के विरोध में शिक्षकों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू

शुभांकर रॉय  | 11 Jan , 2019 07:14 PM
बर्खास्तगी के विरोध में शिक्षकों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू

भिलाईनगर। जीआरडी एजुकेशनल सोसायटी के अंतर्गत संतोष रुंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन द्वारा संचालित आरसीईटी एवं आरईसी भिलाई में रेगुलर शिक्षकों को पिछले 11 महीने से नियमित वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा है। साथ ही कुछ शिक्षकों को कॉलेज प्रबंधन ने बर्खास्त कर दिया है। इसके विरोध में शिक्षक अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। शिक्षकों ने इसकी शिकायत विश्वविद्यालय सीएसवीटीयू, डीटीई, सेक्रेटरी टेक्निकल एजुकेशन एआईसीटीई आदि संस्थाओं में दर्ज कराई है। बताया जा रहा है कि विश्वविद्यालय सीएसवीटीयू द्वारा आदेश देने के बाद भी नियमित वेतन का भुगतान नहीं किया गया और 3 जनवरी को कॉलेज प्रशासन द्वारा बीएल महाराणा, सुयश अग्रवाल, मेघा सेठ, सुमित अग्रवाल व दुष्यंत सिंह को  बर्खास्त कर दिया गया। इसकी शिकायत सीएसवीटीयू से की गई। विश्वविद्यालय ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जीडीआर सोसायटी को आदेश दिया कि सभी बर्खास्त शिक्षकों को बहाल किया जाए और दुबारा ऐसा किसी शिक्षक के साथ न किया जाए। विश्वविद्यालय के आदेश को कॉलेज प्रबंधन मानने को तैयार नहीं है और अनिश्चितकाल के लिए कॉलेज को बंद कर दिया गया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि कॉलेज प्रशासन द्वारा सकारात्मक जवाब नहीं मिलने तक धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा। सीजू एंथोनी प्रदेश महामंत्री छग प्रदेश कांगे्रस कमेटी, तुलसी साहू जिला अध्यक्ष दुर्ग ग्रामीण कांगे्रस कमेटी, लीलेश चौबे जिला महामंत्री जिला कांगे्रस कमेटी एवं सुनील चौधरी महामंत्री कौमी एकता प्रकोष्ठ ने शिक्षकों की मांग को जायज बताते हुए समर्थन किया है।