GLIBS

आउट सोर्सिंग का सीटू ने किया विरोध

शुभांकर रॉय  | 11 Jan , 2019 07:26 PM
आउट सोर्सिंग का सीटू ने किया विरोध

भिलाईनगर। हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन सीटू ने शुक्रवार को एसएमएस 3 के उपमहाप्रबंधक(प्रभारी) एवं अधिशासी निदेशक संकार्य को पत्र देकर एसएमएस- 3 के कास्टर-3 ऑपरेशन कार्य को निजी हाथों में देने का विरोध करते हुए कहा कि संयंत्र के कार्यों को आउट सोर्स करना संयंत्र के हित में नहीं है। आज सीटू का प्रतिनिधिमंडल एसएमएस-3 के उपमहाप्रबंधक(प्रभारी)से मिलकर चर्चा कर कहा कि भिलाई इस्पात संयंत्र जैसे सार्वजनिक उद्योग में ऑपरेशन कार्य को आउटसोर्स करना संयंत्र के लिए खतरनाक स्थिति है। क्योंकि ऑपरेशन कार्य को आउटसोर्स करने का मतलब संयंत्र के संचालन को धीरे धीरे निजी हाथों में देना है।  उपाध्यक्ष रुस्तक सिंह तारम ने कहा कि एक बार यह सिलसिला शुरू हो गया तो देखते ही देखते पूरा प्लांट का अधिकांश हिस्सा का ऑपरेशन या तो किसी कंपनी के हवाले होता चला जाएगा या फिर ठेकेदारों के हवाले करके ठेका मजदूरों से यह काम लेना प्रारंभ कर दिया जाएगा जो कि संयंत्र के हित में नहीं हैे।

एसएमएस-3 के उपमहाप्रबंधक (प्रभारी)ने कहा कि एसएमएस-3 का ब्लूम कास्टर चलाने की ट्रेनिंग हमारे कर्मियों के पास नहीं है। इसीलिए मात्र 3 महीनों के लिए  बाहर की एजेंसी को लाया जा रहा है, जिनसे हमारे कर्मी ट्रेनिंग प्राप्त करेंगे। उसके बाद भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारी ही ब्लूम कास्टर को चलाएंगे। यदि बहुत आवश्यकता हुई तो ट्रेनिंग और 3 माह के लिए बढ़ सकता है । अर्थात ब्लूम कास्टर को आउटसोर्स नहीं किया जाएगा।