GLIBS

Crime : स्पा सेंटर में चल रहा था देहव्यापार, 4 युवती सहित 6 गिरफ्तार

रोहित बंछोर  | 11 Jan , 2019 11:18 AM
Crime : स्पा सेंटर में चल रहा था देहव्यापार, 4 युवती सहित 6 गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी के श्यामप्लाजा स्थित जारा स्पा सेंटर में बीती रात पुलिस ने दबिश देकर देह व्यापार का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने स्पा सेंटर से चार युवतियों, एक ग्राहक और स्पा सेंटर का मैनेजर सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सभी के खिलाफ पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की है। 

बता दे कि कुछ दिनों से पुलिस को श्याम प्लाजा स्थित जारा स्पा सेंटर में जिस्मफरोशी की शिकायते मिल रही थी। जिससे पुलिस ने गुरूवार की रात करीब 8 बजे जारा स्पा सेंटर में दबिश दी। जिससे पुलिस को मौके से अनिल गुप्ता और चार युवतियां संदिग्ध अवस्था में मिली। सभी को सिविल लाइन थाने लाकर पूछताछ की तो युवतियां पिछले 10 दिनों से रायपुर में रह रही थी। युवतियां अरुणाचल प्रदेश, दिल्ली, असम और गुहावटी की हैं। बताया जाता है कि स्पा सेंटर के संचालक ने सभी युवतियों को अमलीडीह में किराए के मकान में ठहराया था। गिरफ्तार युवतियों की उम्र करीब 20 से 25 साल के आसपास है।

मसाज के बहाने ग्राहकों को बुलाते थे स्पा सेंटर-

पुलिस ने बताया कि युवतियों को स्पा सेंटर में मसाज करने के नाम पर रखा गया था लेकिन उनसे देह व्यापार कराया जा रहा था। ग्राहकों को मसाज कराने के बहाने स्पा सेंटर में बुलाया जाता था। इसके बाद सौदा करते थे। स्पा सेंटर में अलग-अलग कमरा है, जहां देह व्यापार होता था। संचालक कई बार युवतियों को ग्राहकों के साथ बाहर भी भेजते थे। मौके से ग्राहक अनिल और चार युवतियों को संदिग्ध अवस्था में पकड़ा गया। इसके अलावा बड़ी संख्या में कंडोम, मोबाइल, लैपटॉप बरामद हुआ है।

स्पा सेंटर के संचालक फरार-

स्पा सेंटर के संचालक सुनील सुखरामनी कई सालों से देह व्यापार का धंधा चला रहा है। छापे की खबर मिलते ही वह फरार हो गया। पुलिस ने स्पा सेंटर के मैनेजर अंकन कुमार सिंह को भी आरोपी बनाया है। अनिल, अंकन और चारों युवतियों के खिलाफ  पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। बताया गया कि स्पा सेंटर के संचालक लड़कियों का सौदा 2 से 5 हजार रुपए तक में करते थे। धंधा चलाने के लिए कुछ दलाल भी तय थे। जिनके जरिए ग्राहक स्पा सेंटर तक आते थे। व्हाट्सऐप के जरिए भी डील होती थी। इसके बाद तयशुदा जगह पर लड़कियां भिजवाई जाती थी।