GLIBS

दोपहर में भी गिरावट पर शेयर बाजार : सेंसेक्स 295 तो निफ्टी सौ अंक लुढके

आर पी सिंह  | 15 Feb , 2019 01:15 PM
दोपहर में भी गिरावट पर शेयर बाजार : सेंसेक्स 295 तो निफ्टी सौ अंक लुढके

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए विस्फोट का असर भी शेयर बाजार पर देखने को मिल रहा है। 109 अंकों की कमजोरी के साथ खुला सेंसेक्स दोपहर के वक्त 295 अंकों की गिरावट के साथ 35,581 पर तो निफ्टी सौ अंकों की गिरावट के साथ 10,645 पर  कारोबार कर रहे हैं। सोना इस वक्त 32,254 रुपए प्रति दस ग्राम तो एक अमेरिकी डॉलर की कीमत 71.35 रुपए बताई जा रही है।  क्रूड ऑयल में तेजी जारी है। कच्चे तेल की कीमतों में तेजी घरेलू अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा नहीं है। 

सुबह भी दिखी थी कमजोरी:

सुबह में बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स करीब 109 अंक की कमजोरी के साथ 35,986 पर खुला. एनएसई का 50 शेयरों वाला निफ्टी50 भी 34 अंक की कमजोरी के साथ 10,780 पर था। सभी सेक्टर की कंपनियों पर दबाव देखने को मिला। शुरुआती कारोबार में एनएसई के करीब सभी सूचकांक लाल निशान में दिखे। सिर्फ रियल्टी सूचकांक हरे निशान में दिखा। सबसे ज्यादा कमजोरी फार्मा, ऑटो और मीडिया सूचकांकों में दिखी। फार्मा सूचकांक तो 2.35 फीसदी की तेजी दिखा रहा था। बाजार पर दबाव का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांक भी लाल निशान में कारोबार कर रहे थे। 

इन शेयर्स में दिखी कमजोरी:

सबसे ज्यादा 3 फीसदी की कमजोरी जेएसडब्लू स्टील के शेयरों में दिखी। इसके अलावा सन फार्मा, हीरो मोटोकार्प, एमएंडएम, जी एंटरटेनमेंट, सिप्ला, टाइटन और टाटा मोटर्स के शेयरों में कमजोरी दिखी। 

बढत वाले शेयर:

बढ़त दिखाने वाले शेयरों में ओएनजीसी सबसे ऊपर रहा। इसमें 5 फीसदी से ज्यादा की तेजी दिखी। इसके अलावा एनटीपीसी, पावरग्रिड, बीपीसीएल, गेल, कोल इंडिया और अदानी पोर्ट्स के शेयर अच्छी बढ़त दिखा रहे थे।

अमेरिकी बाजार का हाल:

अमेरिकी बाजारों में गुरुवार को मिलाजुला कारोबार देखा गया। डाओ जोंस और एसएंडपी 500 सूचकांक गिरकर बंद हुए। नेस्डेक में तेजी दिखी। अमेरिकी बाजार में गिरावट की वजह रिटेल सेल्स के कमजोर आंकड़े हैं।  बिक्री के आंकड़े कमजोर रहने से अमेरिकी अर्थव्यवस्था में तेजी के संकेतों पर सवालिया निशान लग गए हैं। 

चीन के उत्पादों पर शुल्क वृध्दि आगे भी: ट्रंप

ट्रेड वॉर को लेकर अमेरिका और चीन के बीच बातचीत जारी है। यह बातचीत चीन में चल रही है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कह चुके हैं कि अगर बातचीत के नतीजे सकारात्मक रहते हैं तो वे चीन के उत्पादों पर शुल्क में वृद्धि की 1 मार्च की समयसीमा को आगे बढ़ा सकते हैं। इस बातचीत के सफल रहने पर दुनिया भर के बाजारों पर अच्छा असर पड़ेगा। क्रूड ऑयल की कीमतों में उछाल देखने को मिला है। यूएस डब्लूटीआई क्रूड का भाव 55 डॉलर प्रति बैरल के करीब पहुंच गया है।  दुनिया में क्रूड ऑयल के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक सऊदी अरब ने उत्पादन घटाने का संकेत दिया है। उसने निर्यात में भी कमी करने को कहा है। इससे क्रूड की कीमतों में तेजी का रुख है।